हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 परीक्षा

अपने चयन के अवसरों को बढ़ाने के लिए अभी से Embibe के साथ अपनी
तैयारी शुरू करें
  • Embibe कक्षाओं तक असीमित पहुंच
  • मॉक टेस्ट के नवीनतम पैटर्न के साथ प्रयास करें
  • विषय विशेषज्ञों के साथ 24/7 चैट करें

6,000आपके आसपास ऑनलाइन विद्यार्थी

  • द्वारा लिखित Aishwarya Lakshmi
  • अंतिम संशोधित दिनांक 22-04-2022
  • द्वारा लिखित Aishwarya Lakshmi
  • अंतिम संशोधित दिनांक 22-04-2022

परीक्षा के बारे में

About Exam

परीक्षा का संक्षिप्त विवरण

HPBoSE परीक्षा आयोजित करने वाला बोर्ड है और वे कक्षा 8 के पाठ्यक्रम को भी निर्धारित करते हैं। बोर्ड ने विभिन्न विषयों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए कुशल विषय विशेषज्ञों की एक समिति बनाई है। समिति कक्षा 8 के छात्रों के लिए भी पाठ्यपुस्तक बनाती है। वे कक्षा 8 के पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकों को संशोधित करने या अद्यतन करने के लिए एकमात्र प्राधिकरण हैं।

कक्षा 8वीं HPBoSE के लिए, संबंधित स्कूलों को बोर्ड के मानदंडों और दिशानिर्देशों का पालन करते हुए प्रश्न पत्रों को डिजाइन करने का अधिकार है।

दिशानिर्देशों के अनुसार, सतत् व्यापक मूल्यांकन (CCE) रचनात्मक आकलन (फोर्मटिव अस्सेस्मेंट) और सारांशित आकलन (समेटिव अस्सेस्मेंट) के माध्यम से प्रदर्शन और विकास का मूल्यांकन करता है। मूल्यांकन तीन मुख्य विषयों पर आधारित है: गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान और दो भाषाएँ। भाषाओं में से एक अंग्रेजी है और दूसरी भाषा हिंदी, संस्कृत या कोई भी क्षेत्रीय भाषा हो सकती है। परीक्षा को दो पदों में विभाजित किया गया है, जिसका वेटेज नीचे दिया गया है:

टर्म मूल्यांकन (%) कुल (%)
रचनात्मक मूल्यांकन (FA) योगात्मक मूल्यांकन (SA)
टर्म I 10% 40% 50%
टर्म II 10% 40% 50%
कुल 20% 80% 100%


HPBoSE के बारे में नवीनतम जानकारी और नोटिफिकेशन के लिए बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

परीक्षा सारांश

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड, धर्मशाला की स्थापना 1969 में हिमाचल प्रदेश 1968 की अधिनियम संख्या 14 अनुसार की गई थी, जिसका मुख्यालय प्रारंभ में शिमला में था और बाद में जनवरी 1983 में धर्मशाला में स्थानांतरित हो गया। बोर्ड वर्तमान में निम्नलिखित कक्षाओं और पाठ्यक्रमों के लिए परीक्षाओं का संचालन करता है: 10वीं, 10+2, J.B.T. और T.T.C. शिक्षा बोर्ड पूरे हिमाचल प्रदेश राज्य में स्कूली शिक्षा के लिए पाठ्यक्रम, निर्देश के पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकों को निर्धारित करता है।

कक्षा 8 एक लक्ष्य-उन्मुख चरण है जिसमें छात्रों को यह तय करना होगा कि वे किस कैरियर पथ पर आगे बढ़ना चाहते हैं। जबकि उन्होंने कक्षा 7 में अधिकांश बुनियादी बातों को सीखा, यह कक्षा 8 में है कि छात्र कई टॉपिक के विस्तार को समझने लगते हैं। उन्हें उनके पहले बोर्ड स्तरों के लिए जटिल समस्याओं से निपटने के लिए आवश्यक उपकरण दिए गए हैं।

आधिकारिक वेबसाइट लिंक

https://hpbose.org/Home.aspx

परीक्षा पाठ्यक्रम

Exam Syllabus

परीक्षा पाठ्यक्रम

हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड (HPBoSE) कक्षा 8 का सिलेबस बनाता है, जिसमें वे सभी विषय शामिल होते हैं जिन्हें उस शैक्षणिक सत्र के दौरान कवर किया जाना चाहिए।

कक्षा 8वीं HPBoSE पाठ्यक्रम में विज्ञान, सामाजिक विज्ञान और गणित के अधिकांश महत्वपूर्ण विषयों को शामिल किया गया है। इन मुख्य विषयों के अलावा, पाठ्यक्रम में पहली और दूसरी (क्षेत्रीय) भाषाएँ शामिल हैं, जिन्हें छात्र द्वारा चुना जाता है। एक छात्र को अब अगले वर्ष से वैकल्पिक विषय के रूप में कोडिंग का अध्ययन करना होगा। प्रत्येक विषय के सभी टॉपिक को आकर्षक तरीके से कवर किया जाता है ताकि छात्र बिना बोर हुए उन्हें सीख सकें।

कक्षा 8वीं HPBoSE विषय का पाठ्यक्रम नीचे दिया गया है-

कक्षा 8 वीं HPBoSE गणित का पाठ्यक्रम

कई बच्चों के लिए गणित एक कठिन या जटिल विषय हो सकता है। इसलिए गणित के विषय में अधिक से अधिक अभ्यास करना इस विषय में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए आवश्यक है। इसलिए अगर गणित का पाठ्यक्रम बच्चों को पहले से ही पता रहे तो वे इसे न सिर्फ सही वक्त पर पूरा कर सके हैं, बल्कि रिवीजन भी कर सकते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम यहां कक्षा 8 के लिए गणित का सिलबस शेयर कर रहे हैं। तो  कक्षा 8 के लिए गणित की HPBOSE पाठ्यपुस्तक के अनुसार, निम्नलिखित अध्याय कक्षा 8 के गणित के पाठ्यक्रम में शामिल हैं:

गणित
अध्याय अध्याय का नाम
अध्याय 1 परिमेय संख्याएँ
अध्याय 2 एक चर वाले रैखिक समीकरण
अध्याय 3 चतुर्भुजों को समझना
अध्याय 4 प्रायोगिक ज्यामिति
अध्याय 5 आँकड़ों का प्रबंधन
अध्याय 6 वर्ग और वर्गमूल
अध्याय 7 घन और घनमूल
अध्याय 8 राशियों की तुलना
अध्याय 9 बीजीय व्यंजक एवं सर्वसमिकाएँ
अध्याय 10 ठोस आकारों का चित्रण
अध्याय 11 क्षेत्रमिति
अध्याय 12 घातांक और घात
अध्याय 13 सीधा और प्रतिलोम समानुपात
अध्याय 14 गुणनखंडन
अध्याय 15 आलेखों से परिचय
अध्याय 16 संख्याओं के साथ खेलना

कक्षा 8वीं HPBoSE विज्ञान पुस्तक पाठ्यक्रम

गणित की तरह ही विज्ञान भी एक महत्वपूर्ण विषय है और इस सब्जेक्ट में भी अधिक से अधिक अभ्यास व समझने की आवश्यकता है।तो बच्चे विज्ञान विषय के लिए सही तरीके से तैयारी कर सकें इसके लिए हम यहां विज्ञान विषय का सिलेबस शेयर कर रहे हैं।  यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि कक्षा 8 विज्ञान के पाठ्यक्रम में सभी तीन खंड शामिल हैं - भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान। कक्षा 8 के छात्रों के लिए HPBoSE द्वारा सुझाए गए विज्ञान के अध्याय निम्नलिखित हैं।

विज्ञान
इकाई संख्या/नाम अध्याय अध्याय का नाम
इकाई 1- भोजन  अध्याय 1 फसल उत्पादन
अध्याय 2 सूक्ष्मजीव
इकाई 2- पदार्थ    अध्याय 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक
अध्याय 4 पदार्थ: धातु और अधातु
अध्याय 5 कोयला और पेट्रोलियम
अध्याय 6 दहन और ज्वाला
इकाई 3- जीव जगत    अध्याय 7 पौधे एवं जंतुओं का संरक्षण
अध्याय 8 कोशिका – संरचना एवं प्रकार्य
अध्याय 9 जंतुओं में जनन
अध्याय 10 किशोरावस्था की ओर
इकाई 4- गतिमान वस्तुएँ, मानव एवं विचार   अध्याय 11 बल तथा दाब
अध्याय 12 घर्षण
अध्याय 13 ध्वनि
इकाई 5- वस्तुएँ कैसे कार्य करती हैं  अध्याय 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव
अध्याय 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ
इकाई 6- प्राकृतिक परिघटनाएँ  अध्याय 16 प्रकाश
अध्याय 17 तारे एवं सौर परिवार
इकाई 7- प्राकृतिक संसाधन अध्याय 18 वायु तथा जल का प्रदूषण


कक्षा 8वीं HPBoSE सामाजिक विज्ञान पुस्तक पाठ्यक्रम

विज्ञान की तरह ही सामाजिक विज्ञान भी एक इंटरेस्टिंग विषय है। हालांकि, इसमें याद करने की आवश्यकता अधिक है क्योंकि इस विषय में इतिहास, नागरिक शास्त्र व भूगोल जैसे विषय शामिल हैं। ऐसे में अगर सही वक्त पर बच्चे इस विषय को पूरा करेंगे तो उनके पास बार-बार रिवीजन करने का समय रहेगा। कक्षा 8 के लिए सामाजिक विज्ञान की HPBoSE पाठ्यपुस्तक के अनुसार, कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान के HPBoSE पाठ्यक्रम में निम्नलिखित अध्याय शामिल हैं:

सामाजिक विज्ञान
इतिहास भूगोल राजनितिक विज्ञान
कैसे, कब और कहाँ संसाधन भारतीय संविधान
व्यापार से साम्राज्य तक कंपनी की सत्ता स्थापित होती है भूमि, मृदा, जल, प्राकृतिक वनस्पति और वन्य जीवन संसाधन धर्मनिरपेक्षता की समझ
ग्रामीण क्षेत्र पर शासन चलाना खनिज और शक्ति संसाधन हमें संसद क्यों चाहिए
आदिवासी, दीकु और एक स्वर्ण युग की कल्पना कृषि कानूनों के समझ
जब जनता बगावत करती है उद्योग न्यायपालिका
उपनिवेशवाद और शहर मानव संसाधन हमारी आपराधिक न्याय प्रणाली
बुनकर, लोहा बनाने वाले और फैक्ट्री मालिक   हाशियाकरण की समझ
"देशी जनता" को सभ्य बनाना राष्ट्र को शिक्षित करना   हाशियाकरण से निपटना
महिलाएँ, जाति एवं सुधार   जनसुविधाएँ
दृश्य कलाओं की बदलती दुनिया   कानून और सामाजिक न्याय
राष्ट्रीय आंदोलन का संघटन: 1870 के दशक से 1947 तक    
स्वतंत्रता के बाद    


HPBoSE कक्षा 8 अंग्रेजी के लिए पाठ्यक्रम

अब हम कक्षा 8 के लिए अंग्रेजी विषय का पाठ्यक्रम शेयर कर रहे हैं। इंग्लिश एक महत्वपूर्ण विषय है, जो कि आगे चलकर लगभग हर क्षेत्र में काम आता है। इसलिए बच्चों को शुरुआत से ही इस विषय पर ध्यान देना चाहिए ताकि उनका बेसिक क्लियर रहे। तो कक्षा 8 HPBoSE के लिए अंग्रेजी को दो भागों में बांटा गया है: 

  • English Literature और
  • English Grammar & Composition

HPBoSE कक्षा 8 का अंग्रेजी साहित्य खंड अंग्रेजी की एक मुख्य पाठ्यपुस्तक और अंग्रेजी में एक पूरक पाठक पर आधारित है। आइए देखें कि दोनों पुस्तकों में से प्रत्येक में क्या शामिल है।

HPBoSE कक्षा 8 अंग्रेजी के लिए पाठ्यक्रम (Honeydew – English Textbook for Class VIII)

HPBoSE कक्षा 8 अंग्रेजी के लिए पाठ्यक्रम (Honeydew)
Chapters Name of the Chapters
Chapter 1 The Best Christmas Present in the World
Poem The Ant and the Cricket
Chapter 2 The Tsunami
Poem Geography Lesson
Chapter 3 Glimpses of the Past
Poem Macavity: The Mystery Cat
Chapter 4 Bepin Choudhury's Lapse of Memory
Poem The Last Bargain
Chapter 5 The Summit Within
Poem The School Boy
Chapter 6 This is Jody’s Fawn
Poem The Duck and the Kangaroos
Chapter 7 A Visit to Cambridge
Poem When I set out for Lyonnesse
Chapter 8 A Short Monsoon Diary
Poem On the Grasshopper and Cricket
Chapter 9 The Great Stone Face - I
Chapter 10 The Great Stone Face - II


HPBoSE कक्षा 8 अंग्रेजी के लिए पाठ्यक्रम (It So Happened – Supplementary Reader in English for Class VIII)

HPBoSE कक्षा 8 अंग्रेजी के लिए पाठ्यक्रम (It So Happened)
Chapters Name of the chapters
Chapter 1 How the Camel got his Hump
Chapter 2 Children at work
Chapter 3 The Selfish Giant
Chapter 4 The Treasure within
Chapter 5 Princess September
Chapter 6 The Fight
Chapter 7 The Open Window
Chapter 8 Jalebis
Chapter 9 The Comet - I
Chapter 10 The Comet - II

HPBOSE कक्षा 8 English Grammar और Composition के लिए पाठ्यक्रम

यह खंड भी दो भागों में विभाजित है:

  • English Grammar और
  • English Composition (Writing) 

कक्षा 8 के इन दो खंडों का विस्तृत पाठ्यक्रम निम्न प्रकार है। कक्षा 8 English grammar पाठ्यक्रम 2021 में निम्नलिखित टॉपिक हैं:

Unit Name of the unit
a Order of Words and Clauses
b Direct and Indirect Speech
c Active and Passive Voice
d Tenses
e Noun
f Pronoun
g Verb
h Adverb
i Prepositions
j Conjunction
k Phrases and Idioms
l Vocabulary
m Comprehension Readin

HPBoSE कक्षा 8 English Composition (Writing) के लिए पाठ्यक्रम

यह खंड अंग्रेजी में आपके लेखन कौशल का परीक्षण करता है। English Composition के पाठ्यक्रम में निम्नलिखित टॉपिक हैं:

Unit Name of the unit
a Notice
b Story
c Formal and Informal Letters
d Diary Entry
e Essay

HPBoSE कक्षा 8 हिंदी के लिए पाठ्यक्रम

अंग्रेजी की तरह ही हिंदी भी आगे काफी काम आने वाला विषय है और इसमें भी बच्चों के व्याकरण का कॉन्सेप्ट क्लियर रहना चाहिए। बता दें HPBoSE कक्षा 8 हिंदी के पाठ्यक्रम को मोटे तौर पर दो भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है:

  1. हिंदी साहित्य, और
  2. हिंदी व्याकरण और रचना


HPBoSE कक्षा 8 हिंदी साहित्य का पाठ्यक्रम निम्नलिखित तीन पुस्तकों पर आधारित है:

  1. दूर्वा - भाग 3 (द्वितीय भाषा)
  2. हिंदी में पाठ्य पुस्तक वसंत - भाग 3
  3. भारत की खोज (पूरक)

HPBoSE कक्षा 8 हिंदी साहित्य के लिए पाठ्यक्रम: वसंत
अध्याय अध्याय का नाम
1 ध्वनि (कविता)
2 लाख की चूड़िया (कहानी)
3 बस की यात्रा
4 दीवानों की हस्ती (कविता)
5 चिट्ठियों की अनूठी दुनिया (निबंध)
6 भगवान के डाकिए (कविता)
7 क्या निराश हुआ जाए (निबंध)
8 यह सब से कठिन समय नहीं (कविता)
9 कबीर की साखियाँ
10 कामचोर (कहानी)
11 जब सिनेमा ने बोलना सीखा
12 सुदामा चरित (कविता)
13 जहाँ पहिया है
14 अकबरी लोटा (कहानी)
15 सूर के पद (कविता)
16 पानी की कहानी (निबंध)
17 बाज और साँप (कहानी)
18 टोपी (कहानी)

 

HPBoSE कक्षा 8 हिंदी साहित्य के लिए पाठ्यक्रम: दूर्वा
अध्याय अध्याय का नाम
1 गुड़िया
2 दो गोरैया
3 चिट्ठियों में यूरोप
4 ओस
5 नाटक में नाटक
6 सागर यात्रा
7 उठ किसान ओ
8 सस्ते का चक्कर
9 एक खिलाडी की कुछ यादें
10 बस की सैर
11 हिंदी ने जिनकी जिंदगी बदल दी
12 आषाढ़ का पहला दिन
13 अन्याय के खिलाफ
14 बच्चो के प्रिय श्री केशव शंकर पिल्लई
15 फर्श पर
16 बड़ी अम्मा की बात
17 वह सुबह कभी तो आएगी
18 आओ पत्रिका निकालें
19 आहवान


HPBoSE कक्षा 8 हिंदी साहित्य के लिए पाठ्यक्रम: भारत की खोज

अध्याय अध्याय का नाम
1 अहमदनगर का किला
2 तलाश
3 सिंधु घाटी सभ्यता
4 युगों का दौर
5 नयी समस्याएँ
6 अंतिम दौर -एक
7 अंतिम दौर -दो
8 तनाव
9 दो पृष्ठभूमियाँ – भारतीय और अंग्रेज़ी

 

HPBoSE कक्षा 8 हिंदी व्याकरण और रचना के लिए पाठ्यक्रम
अध्याय अध्याय का नाम
1 पुनरुक्ति शब्द
2 वाक्यनिर्माण
3 संज्ञा
4 विशेषण
5 कारक
6 अनेकार्थीशब्द
7 विभक्ति
8 प्रत्यय
9 शब्द परिवार
10 संधि
11 समास
12 द्वंद्व
13 उपसर्ग
14 अनेक शब्दों के लिए एक शब्द
15 मुहावरे
16 समानार्थी


HPBoSE कक्षा 8 की हिंदी रचना के पाठ्यक्रम में शामिल हैं:

  1. Essay (निबंध)
  2. Letter Writing (पत्र लेखन)


नोट- जारी COVID-19 महामारी के कारण पाठ्यक्रम में बदलाव हो सकता है।

परीक्षा ब्लूप्रिंट

HPBoSE कक्षा 8 गणित का ब्लूप्रिंट

HPBoSE कक्षा 8 गणित के लिए अध्याय स्तर के अंकों का वेटेज
अध्याय अध्याय का नाम वेटेज (अंक)
अध्याय 1 परिमेय संख्याएँ 8 (5)
अध्याय 2 एक चर वाले रैखिक समीकरण 6 (3)
अध्याय 3 चतुर्भुजों को समझना  
अध्याय 4 प्रायोगिक ज्यामिति 4 (1)
अध्याय 5 आँकड़ों का प्रबंधन 1 (1)
अध्याय 6 वर्ग और वर्गमूल 5 (3)
अध्याय 7 घन और घनमूल  
अध्याय 8 राशियों की तुलना  
अध्याय 9 बीजीय व्यंजक एवं सर्वसमिकाएँ 6 (3)
अध्याय 10 ठोस आकारों का चित्रण 6 (4)
अध्याय 11 क्षेत्रमिति 9 (4)
अध्याय 12 घातांक और घात 8 (4)
अध्याय 13 सीधा और प्रतिलोम समानुपात 8 (3)
अध्याय 14 गुणनखंडन 6 (2)
अध्याय 15 आलेखों से परिचय 9 (4)
अध्याय 16 संख्याओं के साथ खेलना 4 (3)
  कुल 80 (40)

HPBoSE कक्षा 8 विज्ञान का ब्लूप्रिंट:

HPBoSE कक्षा 8 विज्ञान के लिए अध्याय स्तर के अंकों का वेटेज
अध्याय अध्याय का नाम वेटेज (अंक)
अध्याय 1 फसल उत्पादन और प्रबंध 3 (1)
अध्याय 2 सूक्ष्मजीव: मित्र या शत्रु 4 (2)
अध्याय 3 संश्लेषित रेशे और प्लास्टिक  
अध्याय 4 पदार्थ: धातु और अधातु 5 (1)
अध्याय 5 कोयला और पेट्रोलियम 3 (1)
अध्याय 6 दहन और ज्वाला  
अध्याय 7 पौधे एवं जंतुओं का संरक्षण  
अध्याय 8 कोशिका – संरचना एवं प्रकार्य 6 (2)
अध्याय 9 जंतुओं में जनन 7 (3)
अध्याय 10 किशोरावस्था की ओर 6 (4)
अध्याय 11 बल तथा दाब 3 (1)
अध्याय 12 घर्षण  
अध्याय 13 ध्वनि 7(3)
अध्याय 14 विद्युत धारा के रासायनिक प्रभाव 7 (3)
अध्याय 15 कुछ प्राकृतिक परिघटनाएँ 8 (4)
अध्याय 16 प्रकाश 7 (3)
अध्याय 17 तारे एवं सौर परिवार 6 (4)
अध्याय 18 वायु तथा जल का प्रदूषण 8 (4)
  कुल 80 (36)

HPBoSE कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान का ब्लूप्रिंट

HPBoSE कक्षा 8 सामाजिक विज्ञान के लिए अध्याय स्तर के अंकों का वेटेज





इतिहास
व्यापार से साम्राज्य तक




27 अंक
जब जनता बगावत करती है
बुनकर, लोहा बनाने वाले और फैक्ट्री मालिक
"देशी जनता" को सभ्य बनाना राष्ट्र को शिक्षित करना
महिलाएँ, जाति एवं सुधार
राष्ट्रीय आंदोलन का संघटन
स्वतंत्रता के बाद

भूगोल
संसाधन
26 अंक
उद्योग
मानव संसाधन





राजनितिक विज्ञान
भारतीय संविधान




27 अंक
हमें संसद क्यों चाहिए
हमारी आपराधिक न्याय प्रणाली
हाशियाकरण की समझ
हाशियाकरण से निपटना
जनसुविधाएँ
कानून और सामाजिक न्याय
  कुल 80 अंक

प्रैक्टिकल/प्रयोग सूची और मॉडल लेखन

विज्ञान के अध्यायों के लिए, छात्र निम्नलिखित व्यावहारिक/प्रयोग और मॉडल बना सकते हैं:

अध्याय प्रयोग
भोजन
  • यह देखने के लिए बीज अंकुरित कीजिए कि पौधे, बीज से कैसे बढ़ते हैं
  • खाद्य पदार्थों में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, वसा की उपस्थिति का परीक्षण कीजिए
  • पत्तियों में रंध्रों का निरीक्षण कीजिए
  • अध्ययन कीजिए कि पत्तियां प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया द्वारा स्टार्च तैयार करती हैं
  • अध्ययन कीजिए कि कीट कैसे अनाज को खराब करते हैं
  • सूक्ष्मजीवों की उपस्थिति के लिए तालाब के जल का अवलोकन
पदार्थ
  • आइए हम उन कपड़ों को जानें जो रेशों से प्राप्त होते हैं
  • दिए गए पदार्थों को गुणों के आधार पर वर्गीकृत कीजिए, जैसे कठोरता, पानी में घुलनशीलता, पानी में तैरना और पारदर्शिता
  • आपको लोहा, रेत और साधारण नमक का मिश्रण प्रदान किया जाता है। इस मिश्रण के तीन घटकों को अलग कर लें
  • आइए हम निम्नलिखित परिवर्तनों की प्रकृति का पता लगाएं कि क्या उन्हें उलटा किया जा सकता है या नहीं?
  • (a) जल में घुलने पर सामान्य नमक का गायब होना
  • (b) आलू काटना
  • अम्ल और क्षार के बीच प्रतिक्रिया उदासीनीकरण की प्रक्रिया को दिखाने के लिए
  • नमक के घोल के अम्लीय/मूल/तटस्थ प्रकृति की पहचान
  • कागज को मोड़ना, कागज को फाड़ना और कागज को जलाना जैसे परिवर्तनों में अंतर स्पष्ट कीजिए
  • पौधों, जंतुओं और संश्लेषित स्रोतों से प्राप्त रेशों की जल अवशोषण क्षमता की तुलना कीजिए
  • प्राकृतिक और मानव निर्मित रेशों में अंतर कीजिए
  • दर्शाइए कि धात्विक ऑक्साइड क्षारीय प्रकृति के होते हैं
  • दर्शाइए कि अधात्विक ऑक्साइड अम्लीय प्रकृति के होते हैं
  • दर्शाइए कि लोहा तांबे की तुलना में अधिक अभिक्रियाशील है
  • दर्शाइए कि कुछ धातुओं पर अम्लों की क्रिया से हाइड्रोजन गैस निकलती है
  • धातुओं और अधातुओं की विद्युत चालकता दर्शाइए
  • दर्शाइए कि किसी पदार्थ के दहन के लिए ऑक्सीजन आवश्यक है
  • दर्शाइए कि ईंधन/पदार्थ को जलाने के लिए उसके प्रज्वलन तापमान तक गर्म किया जाना चाहिए
  • जल को गर्म करते समय, उबालते समय और ठंडा करते समय उसका तापमान मापिए
  • ऊष्मा के सुचालक और कुचालक के बीच अंतर करना
जीव जगत
  • अध्ययन से पता चलता है कि वाष्पोत्सर्जन की प्रक्रिया के दौरान पत्तियाँ जलवाष्प छोड़ती हैं
  • एक फूल के भागों को पहचानें और एकलिंगी तथा उभयलिंगी फूलों के बीच अंतर करें
  • आइए हमारे शरीर में जोड़ों के बारे में जानें और वे कैसे चलते हैं
  • पता लगाएँ कि साँस छोड़ने वाली हवा में क्या है
  • सांस लेने के तंत्र को समझें
  • देखें कि पौधों में कोशिकाओं के बीच जल कैसे संचरण करता है
  • कवक/पौधों में विभिन्न प्रकार के प्रजनन का अध्ययन करें
  • यीस्ट में प्रजनन के तरीके का अध्ययन करें
  • पादप कोशिकाओं का निरीक्षण करने के लिए एक अस्थायी स्लाइड तैयार करें
  • हमारे समाज में मौजूद लिंग-आधारित भेदभाव के बारे में छात्रों में जागरूकता पैदा करें
गतिमान वस्तुएं, मानव एवं विचार
  • कदमों की संख्या गिनकर और लंबाई को cm/m में व्यक्त करने के लिए अपनी कक्षा की लंबाई मापें
  • एक पैर पर कूदने की गति ज्ञात करना
  • नेट बल की अवधारणा को समझना
  • यह दिखाने के लिए कि तरल दबाव केवल तरल स्तंभ की ऊंचाई पर निर्भर करता है न कि तरल के आयतन पर
  • रबर ड्रॉपर के कार्य सिद्धांत की व्याख्या करें
  • यह दर्शाने के लिए कि भार में वृद्धि से दो सतहों के बीच स्थैतिक घर्षण में वृद्धि होगी
वस्तुएँ कैसे कार्य करती हैं
  • कुछ सेलों और तार के कुछ टुकड़ों की सहायता से एक बल्ब को जलाने की कोशिश करें
  • दिए गए लोहे की कील से चुम्बक बनाना और उसके गुणों का निरीक्षण करना
  • यह पता लगाने के लिए कि क्या चुंबक के दोनों ध्रुव समान रूप से मजबूत हैं और क्या सभी चुंबक समान रूप से मजबूत हैं
  • विद्युत धारा के ऊष्मीय प्रभाव को देखना
  • यह देखना कि किसी विद्युत चुम्बक की शक्ति तार के फेरों की संख्या 136 46 पर कैसे निर्भर करती है। जल के अपघटन का अध्ययन करें
प्राकृतिक परिघटनाएं
  • अध्ययन करें कि छाया कैसे बनती है
  • दिखाएँ कि हवा दबाव डालती है
  • ध्यान दें कि गर्म करने पर हवा फैलती है
  • जब मोमबत्ती को दर्पण से अलग-अलग दूरी पर रखा जाता है, तो अवतल दर्पण द्वारा निर्मित मोमबत्ती की लौ के प्रतिबिम्ब का अवलोकन करना
  • जब मोमबत्ती को लेंस से अलग-अलग दूरी पर रखा जाता है तो उत्तल लेंस द्वारा बनाई गई मोमबत्ती की लौ की छवि का निरीक्षण करें
  • जल से भरे गिलास में मोमबत्ती जलाना (मजेदार खेल)
  • परावर्तन के नियमों को सत्यापित करना, यह देखने के लिए कि चंद्रमा का रूप हर रात बदलता है
प्राकृतिक संसाधन
  • दी गई गतिविधियों में वायु की भूमिका (यदि कोई हो)
  • रद्दी कागज़ पुनः चक्रित करना
  • मृदा के माध्यम से जल का अंतः संचरण
  • पंकिल जल की सफाई

स्कोर बढ़ाने के लिए अध्ययन योजना

Study Plan to Maximise Score

तैयारी के लिए सुझाव

बच्चों की बेहतर तैयारी के लिए हम हमारे लेख के इस खास भाग में कुछ आसान तैयारी टिप्स लाए हैं। उम्मीद है इन टिप्स को जानने के बाद बच्चे अपने पाठ्यक्रम को और बेहतर तरीके से और सही वक्त पर पूरा कर सकेंगे

  1. किसी भी परीक्षा में अच्छे ग्रेड प्राप्त करने के लिए, आपके पास अपनी पढ़ाई पूरी करने के लिए एक विस्तृत रणनीति और योजना होनी चाहिए।
  2. पाठ्यक्रम मिलने के बाद उसे अच्छे से पढ़ें और समझें।
  3. एक बार जब आप अच्छे से एक-एक विषय का सिलेबस पढ़ व समझ लें तो उसी अनुसार अपना स्टडी प्लान तैयार करें।
  4. ध्यान रहे बच्चे को अपना स्टडी प्लान तैयारी करते वक्त अपनी ताकत और कमजोरियों के बारे में पता होना चाहिए और उसी के अनुसार अपनी तैयारी की योजना बनानी चाहिए।
  5. स्टडी प्लान बनाते समय हर विषय पर ध्यान दें। कई बार बच्चे अपने कमजोर या कठिन विषय में अधिक ध्यान केन्द्रित करते हैं, जो कि गलत नहीं है लेकिन इस दौरान अपने हल्के विषय को अनदेखा न करें।
  6. सकारात्मक दृष्टिकोण बनाए रखें और जितनी जल्दी हो सके अपनी तैयारी की यात्रा शुरू करें।
  7. उन अध्यायों के लिए अधिक से अधिक समस्याओं का अभ्यास करने का प्रयास करें जिनमें संख्यात्मक और बहुत सारी गणनाएं शामिल हैं।
  8. यदि आपको HPBoSE कक्षा 8 के पाठ्यक्रम का अध्ययन करते समय कोई कठिनाई आती है, तो आप किसी भी समय EMBIBE से संपर्क कर सकते हैं। हम यहां आपके किसी भी प्रश्न की कठिनाई में आपकी सहायता करने के लिए उपलब्ध हैं। हमारे पास सीखने की सामग्री के साथ-साथ प्रश्नों की प्रैक्टिस करने के लिए एक बड़ा प्रश्न बैंक का समूह भी है।
  9. एक सुव्यवस्थित समय सारणी बनाए रखें ताकि आप हर दिन व्यवस्थित तरीके से अध्ययन कर सकें।
  10. पढ़ाई के दौरान अगर आपके मन में कोई सवाल है तो अपने शिक्षकों या बड़ों से पूछने से न डरें। छात्र EMBIBE से 24 घंटे, सप्ताह में 7 दिन सहायता प्राप्त कर सकते हैं।
  11. आप जिस भी विषय का अध्ययन करें उसमें आपकी रुचि होनी चाहिए ताकि आप आसानी से ऊब या थके हुए न हों।
  12. हमेशा ध्यान रखें कि "Nothing is impossible. The word itself suggests that I’m possible." अर्थात् कुछ भी असंभव नहीं है और सबकुछ संभव है।
  13. सुनिश्चित करें कि आपने अपना पूरा पाठ्यक्रम पहले से ही पूरा कर लिया है और अंतिम समय के लिए कुछ भी नहीं छोड़ा है।
  14. जो भी पढ़ें उसे समझकर पढ़ने की कोशिश करें क्योंकि समझकर पढ़ने से आपका कॉन्सेप्ट क्लियर होगा और आपकी पढ़ी गई बातें देर तक याद रहेगी। ध्यान रहे कॉन्सेप्ट क्लियर होना काफी महत्वपूर्ण है।
  15. खासकर गणित और विज्ञान जैसे विषयों में कॉन्सेप्ट क्लियर होना आवश्यक है।
  16. नोट्स बनाकर पढ़ने की कोशिश करें। नोट्स बनाने से न सिर्फ आपको पढ़े गए आवश्यक जानकारियों को याद रखने में मदद मिलेगी, बल्कि रिवीजन करना भी आसान हो जाएगा।
  17. ध्यान रहे विषयों के नोट्स बनाते वक्त अलग-अलग नोटबुक का उपयोग करने से बचें। बेहतर है एक या दो नोटबुक में ही सारे विषयों के लिए पेज विभाजन करके नोट्स बनाएं ताकि पढ़ते समय आपको हर विषय के लिए नोटबुक ढूंढने में वक्त न बर्बाद करना पड़े।
  18. रिवीजन को परीक्षा के ठीक पहले के दिनों के भरोसे न छोड़ें। पढ़ाई के साथ-साथ रिवीजन करने की आदत डालें।
  19. बेहतर है आप हर रोज रिवीजन के लिए एक समय निर्धारित करें और उस तय वक्त में रिवीजन करें।
  20. अगर आपको हर रोज रिवीजन करने का मन न हो तो बेहतर है हफ्ते में एक दिन रिवीजन के लिए रखें और उस दिन सिर्फ रिवीजन करें और कोई नया विषय या टॉपिक न पढ़ें।
  21. बेमन से बिल्कुल न पढ़ने बैठें। अगर किसी दिन पढ़ने का मन न हो तो बेहतर है उस दिन पढ़ने के बजाय रिवीजन कर लें, लेकिन बेमन से कोई नया टॉपिक न उठायें। कभी-कभी पढ़ाई में मन न लगना स्वाभाविक है और इसके लिए ज्यादा सोचने की आवश्यकता नहीं है। पेरेंट्स को भी हमारा यही सुझाव है कि बच्चे का जब पढ़ने में मन न लगे तो उसे जबरदस्ती न पढ़ाएं, बल्कि उनसे बातें करें और बेहतर महसूस कराएं।
  22. अपने स्टडी प्लान में बच्चों को ब्रेक के लिए भी वक्त निकालना आवश्यक है क्योंकि लगातार पढ़ने से बोरियत हो सकती है।
  23. पढ़ाई के साथ-साथ बच्चों को अपनी हैंड राइटिंग पर भी ध्यान देना चाहिए क्योंकि एग्जाम में साफ-सुथरी हैंड राइटिंग होने से भी कुछ मार्क्स मिल सकते हैं।
  24. बच्चों को  पिछले साल के प्रश्न पत्रों को भी हल करना चाहिए क्योंकि यह भी प्रैक्टिस का एक तरीका है। इसके साथ ही साथ उन्हें यह समझकर प्रश्नों को हल करना चाहिए कि वे सच में एग्जाम हॉल में बैठकर प्रश्नों को हल कर रहे हों। इससे उन्हें परीक्षा के माहौल को समझने में आसानी होगी और वे अपने स्पीड को बेहतर कर सकते हैं।
  25. हमेशा शांत माहौल में पढ़ने बैठें क्योंकि पढ़ाई का समय भी काफी मायने रखता है। बेहतर है सुबह उठकर पढ़ाई करें और अगर आपको रात में पढ़ने की आदत है तो आप अपनी सहूलियत के हिसाब से रात का वक्त भी चुन सकते हैं।  हालांकि, ध्यान रहे कि आप देर रात न जागें और अगर जागते भी हैं तो आप अपनी नींद जरुर पूरी करें।  
  26. पढ़ाई के दौरान अपनी सेहत का और खाने-पीने का भी पूरा ध्यान रखें। सही वक़्त पर सोएं व उठें और सही व पौष्टिक डाइट लें।
  27. पढ़ाई के बीच-बीच में ब्रेक लें ताकि आपको बोरियत न हो। ब्रेक के दौरान आप टहलने जाएं, म्यूजिक सुनें, टीवी देखें या अपनी पसंद की किताब पढ़ें।
  28. पढ़ाई के दौरान मोबाइल, टैब जैसे गैजेट न रखें क्योंकि इन सबसे ध्यान भटक सकता है।
  29. जितनी देर भी पढ़ें मन लगाकर पढ़ें। 
  30. पढ़ाई के दौरान अगर कोई सवाल या टॉपिक न समझ आए तो उसका नोट्स बना लें और अपने टीचर, माता-पिता या सीनियर से उस बारे में पूछें। याद रखें सवाल पूछने से झिझके नहीं। 

परीक्षा देने की रणनीति

सिर्फ तैयारी के लिए ही नहीं, बल्कि परीक्षा के लिए भी रणनीति बनाने की आवश्यकता होती है। ऐसे में लेख के इस विशेष भाग में हम एग्जाम देने की रणनीति से जुड़ी जानकारी व टिप्स शेयर कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  1. आगामी परीक्षा के लिए सभी अध्यायों और टॉपिक्स को परीक्षा से कुछ महीने पहले ही तैयार कर लें।
  2. रिवीजन को एग्जाम के कुछ दिन पहले तक के लिए न छोड़ें, बल्कि पढ़ाई के साथ-साथ ही अपने स्टडी प्लान में शामिल कर लें।
  3. किसी भी परीक्षा हॉल में परीक्षा देने के लिए अंतिम क्षणों की भागदौड़ से बचने के लिए समय से थोड़ा पहले पहुँचने की कोशिश करें।
  4. आवंटित समय का अधिकतम लाभ उठाने के लिए आपको एक रणनीति तैयार करनी चाहिए।
  5. घबराएं या तनावग्रस्त न हों; इसके बजाय, सकारात्मक दृष्टिकोण बनाए रखें और आत्मविश्वास के साथ परीक्षा में शामिल हों।
  6. प्रश्न पत्र मिलने के बाद जल्दबाजी न करें या हड़बड़ाएं नहीं। 
  7. प्रश्न पत्र को अच्छे से पढ़ें व समझें और इसी बीच मन में प्रश्न पत्र को सॉल्व करने की या परीक्षा देने की रणनीति तैयार कर लें।
  8. कौन सा प्रश्न पहले हल करना है कौन से सवाल को अंत में हल करना है, यह प्रश्न पत्र पढ़ते-पढ़ते ही तय कर लें।
  9. हमारा सुझाव यही है कि आसान सवालों को हल करने से परीक्षा की शुरुआत करें ताकि आपका कॉन्फिडेंस बढ़े और परीक्षा का डर भी कम हो जाए।
  10. उन प्रश्नों को पढ़ने और उत्तर देने में समय बर्बाद न करें जिनके बारे में आप सुनिश्चित नहीं हैं; परीक्षा के दूसरे भाग के लिए उन्हें बचाएं।
  11. आपको उसी क्रम में प्रश्नों के उत्तर देने के बारे में चिंतित नहीं होना चाहिए जिस क्रम में प्रश्न दिए गए हैं और आपको उन प्रश्नों के उत्तर से शुरू करना चाहिए जिनसे आप सबसे अधिक परिचित हैं, फिर शेष प्रश्नों को हल करें।
  12. यह सुनिश्चित करने के लिए कि प्रश्न सही संख्या में हैं, हमेशा उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच करें।
  13. किसी भी प्रश्न को अनुत्तरित न छोड़ने का प्रयास करें। उन प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयास करें जिनके बारे में आपको कुछ ज्ञान है; कुछ चरणों को लिखने से आपको कुछ अंक भी मिल सकते हैं। ध्यान रहे इस परीक्षा में किसी भी सवाल के लिए नेगेटिव मार्किंग नहीं है इसलिए बिना डरे प्रश्नों को सॉल्व करें। 
  14. परीक्षा देते समय निरीक्षक के सभी निर्देशों का ध्यानपूर्वक पालन करें।
  15. अपनी उत्तर पुस्तिकाओं को निरीक्षक को सौंपने से पहले जांच लें कि आपने सभी प्रश्नों को हल कर लिया है।
  16. आंसर शीट में ओवर राइट न करें क्योंकि ओवर राइट करने से हो सकता है कि चेक करने वाले को आपका जवाब समझ न आए और हो सकता है कि आपके सही जवाब के लिए भी आपको अंक न मिल पाए।

विस्तृत अध्ययन योजना

लेख के इस भाग में हम विस्तृत अध्ययन योजना से जुड़ी जानकारी दे रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  1. एक विस्तृत अध्ययन योजना अच्छी तरह से तैयार होनी चाहिए ताकि छात्र व छात्राएं अपने सीखने के उद्देश्यों और समय आवंटन को शामिल कर सकें।
  2. बेहतर होगा कि हर दिन पढ़ाई के लिए समय निकाला जाए। प्रतिदिन चार से पांच घंटे अकेले सुनियोजित अध्ययन में बिताएं।
  3. यदि आप गणित का अध्ययन कर रहे हैं, तो निस्संदेह आपको गणितीय समस्याओं को लिखने और अभ्यास करने के लिए एक कलम और कागज़ की आवश्यकता होगी।
  4. प्रत्येक विषय का अध्ययन करते समय उसे वास्तविक जीवन की स्थिति से जोड़ें। यह आपके लिए प्रत्येक अवधारणा को याद रखना आसान बना देगा।
  5. Embibe ने कक्षा 8 के सभी विषयों के लिए दिलचस्प वीडियो और अभ्यास सत्र बनाए हैं, और यदि आपको सभी अवधारणाओं की बेहतर समझ की आवश्यकता है, तो आप उनका उपयोग कर सकते हैं।

परीक्षा परामर्श

Exam counselling

छात्र परामर्श

परामर्श महत्वपूर्ण है क्योंकि यह छात्रों को उनकी अंतर्निहित शक्तियों और कमजोरियों का पता लगाने में सक्षम बनाता है। परीक्षा शिक्षा और सीखने का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। विद्यार्थी का मूल्यांकन करने के लिए शैक्षणिक और सह-पाठयक्रम क्षेत्रों का उपयोग किया जाता है।

  • एक परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए, आपको कक्षा में और व्याख्यान के दौरान पूरा ध्यान देना चाहिए तथा आपको पहले दिन से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।
  • अपनी कमजोरियों पर अधिक काम करें और नियमित रूप से उन विषयों की समालोचना करें जिनमें आप अच्छे हैं।
  • किसी भी परीक्षा की तैयारी करते समय रिवीजन महत्वपूर्ण है। पढ़ाई के अंत में रिवीजन करने के लिए में कुछ अतिरिक्त समय निकालें।
  • हमेशा शिक्षकों, माता-पिता या दोस्तों से अपने प्रश्नों का समाधान करने के लिए कहें। अपने सभी प्रश्नों की एक सूची बनाएं।
  • अगर किसी विषय या टॉपिक को लेकर मन में किसी प्रकार की दुविधा हो तो तुरंत अपने टीचर, सीनियर, माता-पिता या दोस्तों से उस बारे में सवाल पूछें। ध्यान रहे प्रश्न पूछने से घबराएं नहीं।
  • अपनी तुलना या अपनी पढ़ाई व तैयारी की तुलना अपने दोस्तों से न करें। याद रखें हर किसी की तैयारी की रणनीति अलग-अलग होती है इसलिए अपने आप की तुलना करके अपने आपको कम न आंकें या निराश न हों।

माता-पिता/अभिभावक परामर्श

प्रत्येक बच्चे की सीखने की एक अनूठी शैली और गति होती है। प्रत्येक बच्चें सीखने और सफल होने की उनकी क्षमता में अद्वितीय है। इसलिए, एक अभिभावक के रूप में, आपको समझदार होना चाहिए और यथार्थवादी अपेक्षाएँ रखनी चाहिए।

  • उन्हें बच्चे पर अधिक बोझ या अनुचित दबाव नहीं डालना चाहिए।
  • माता-पिता को अपने बच्चों और अन्य छात्रों के बीच तुलना नहीं करनी चाहिए। प्रत्येक बच्चे की रुचियों, सीखने की गति और क्षमताओं का एक अनूठा सेट होता है।
  • माता-पिता को अपने बच्चे की मानसिक स्थिति और लक्ष्यों के बारे में पता होना चाहिए। उन्हें अपने साथियों के समूह के बारे में भी पता होना चाहिए और बच्चे की प्रगति पर कड़ी नजर रखनी चाहिए।
  • अगर बच्चे अपनी पढ़ाई में कहीं अटकते हैं तो माता-पिता को उनको समझना चाहिए और उनकी मदद करनी चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Freaquently Asked Questions

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

कई बार एग्जाम और पढ़ाई को लेकर छात्र व छात्राओं के मन में सवाल या उलझन होते हैं, ऐसे में यहां हम HPBoSE कक्षा 8वीं के छात्र व छात्राओं द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्न व उनके जवाब शेयर कर रहे हैं। ये कुछ इस प्रकार हैं:

प्र 1: कक्षा 8 शिक्षा में एक महत्वपूर्ण प्राथमिक मानक क्यों है?
उ: कक्षा 8 प्रारंभिक शिक्षा में एक महत्वपूर्ण मानक है क्योंकि यहाँ पढ़ाई जाने वाली अवधारणाएँ उच्च कक्षाओं के लिए आधार का काम करती हैं। नतीजतन, यदि आप स्कूल में अच्छा करना चाहते हैं, तो आपको पहले एक ठोस नींव बनानी होगी। इसलिए यह जरुरी है कि छात्र व छात्राओं का बेसिक क्लियर होना आवश्यक है। 

प्र 2: कक्षा 8वीं HPBoSE का पाठ्यक्रम क्या है?
उ: 8वीं कक्षा के पाठ्यक्रम में विज्ञान (भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान), गणित, सामाजिक विज्ञान (इतिहास, भूगोल और राजनीति विज्ञान) और अंग्रेजी, हिंदी जैसी भाषाओं और छात्र द्वारा चुनी गई किसी भी अन्य क्षेत्रीय भाषा के विषय शामिल हैं। आप हमारे इस खास लेख में HPBoSE का विस्तृत पाठ्यक्रम देख सकते हैं।

प्र 3: मैं कक्षा 8वीं की परीक्षाओं की तैयारी कैसे कर सकता हूँ?
उ: अपनी कक्षा 8वीं की परीक्षा की तैयारी करने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप पाठ्यक्रम की पुस्तकों के अध्याय दर अध्याय को पढ़ें। एक बार जब आप पूरा पाठ्यक्रम पूरा कर लेते हैं, तो आप Embibe पर विषय-विशिष्ट मॉक टेस्ट दे सकते हैं। यह आपको उच्च अंक प्राप्त करने में सहायता करेगा। इसके साथ ही पिछले साल के प्रश्न पत्रों को हल करें, नियमित रिवीजन करते रहें।  

प्र 4: क्या कक्षा 8 के लिए बोर्ड परीक्षाएं हैं?
उ: नहीं, कक्षा 8 के लिए कोई बोर्ड परीक्षा नहीं है। एक छात्र कक्षा 9वीं में तभी प्रवेश करेगा जब वे कक्षा 8 की परीक्षा उत्तीर्ण करेंगे जो स्कूल द्वारा आयोजित की जाती है।

प्र 5: 2021-2022 शैक्षणिक वर्ष के लिए नवीनतम कक्षा 8 का पाठ्यक्रम कैसे डाउनलोड करें?
उ: संपूर्ण कक्षा 8 का HPBoSE पाठ्यक्रम Embibe वेबसाइट से मुफ्त डाउनलोड के लिए उपलब्ध है।

प्र 6: क्या 2021-22 के लिए कक्षा 8 के पाठ्यक्रम में कोई बदलाव किया गया है?
उ: हां, कक्षा 5 से कक्षा 8 (2021-2022 के लिए) सभी विषयों के पाठ्यक्रम में 30% की कमी है। कम हुए पाठ्यक्रम अधिसूचना बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड की जा सकती है। 

प्रश्न 7. क्या विद्यार्थियों के लिए हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षाएं कठिन हैं?

उत्तर. हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षाओं का स्तर मध्यम है और अगर विद्यार्थी सही रणनीति के साथ व सही स्टडी प्लान के साथ फोकस होकर तैयारी करते हैं तो हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षा को आसानी से उत्तीर्ण कर सकते हैं। 

प्रश्न 8 हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षा के लिए कितनी देर पढ़ाई करने की आवश्यकता है?

उत्तर. हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षा का स्तर मध्यम है। हालांकि, इसका मतलब यह नहीं कि इस परीक्षा को विद्यार्थी अनदेखा करें। अन्य एग्जाम की तरह हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षा के लिए भी विद्यार्थियों को ध्यान लगाकर पढ़ना चाहिए। छात्र व छात्राओं को हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 की परीक्षा के लिए 5-6 घंटे तक पढ़ाई करने की आवश्यकता होती है। इसके साथ ही साथ उन्हें ध्यान रखना चाहिए कि वे सिलेबस को पूरा करने का एक लक्ष्य निर्धारित करें और उस तय वक़्त के अन्दर ही अपने पाठ्यक्रम को पूरा करें, ताकि उन्हें आगे चलकर हड़बड़ी न हो। याद रखें कि बेमन से न पढ़ें, जब भी पढ़ाई करें ध्यान से एकाग्रता के साथ पढ़ें।

संबंधित पृष्ठ भी देखें

हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 10 हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 6
हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 11 हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 7
हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 12 हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 9

 

क्या करें, क्या ना करें

हिमाचल प्रदेश बोर्ड कक्षा 8 परीक्षा की तैयारी व एग्जाम के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, इस विषय में आपको लेख के इस विशेष भाग में जानकारी मिलेगी।

क्या करें

शरुआत करते हैं कि बच्चों को एग्जाम की तैयारी के दौरान क्या करना चाहिए, यह जानने से:

  1. छात्रों को परीक्षा तिथियों के साथ-साथ किसी भी संबंधित अधिसूचना के बारे में पता होना चाहिए।
  2. परीक्षा की तैयारी में सहायता और इसे तैयार करने के लिए पाठ्यक्रम की बेहतर समझ होनी चाहिए।
  3. हमेशा वैचारिक समझ और स्पष्टता पर जोर दिया जाना चाहिए।
  4. याद करने के बजाय समझने पर जोत्र देना चाहिए क्योंकि अगर कॉन्सेप्ट क्लियर होगा तो प्रश्नों के उत्तर को याद रखना और उन्हें सही तरीके से अपने शब्दों में लिखना आसान हो सकता है।
  5. प्रश्न पत्र पर दिए गए निर्देशों को पढ़ना और परीक्षा हॉल में निरीक्षक द्वारा दिए गए निर्देशों पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है।
  6. हमें हमेशा रिवीजन के लिए पर्याप्त समय अलग रखना चाहिए।
  7. भीड़भाड़ से बचने के लिए हमें परीक्षा केंद्र पर कम से कम 15 मिनट पहले पहुंचना चाहिए।
  8. परीक्षा से एक रात पहले, हमें अपने बैग में सभी उपकरणों, साथ ही साथ पेन और पेंसिल की एक अतिरिक्त जोड़ी की जांच करनी चाहिए।
  9. परीक्षा में एडमिट कार्ड ले जाना न भूलें क्योंकि एडमिट कार्ड किसी भी एग्जाम के लिए एक जरुरी दस्तावेज है।
  10. मन को शांत रखकर और अपने आप पर व अपनी तैयारी पर भरोसा करते हुए एग्जाम दें।

क्या ना करें

अब हम एग्जाम व एग्जाम की तैयारी के दौरान क्या नहीं करना चाहिए, इस विषयम में कुछ सुझाव साझा कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार हैं:

  1. हमें अवधारणाओं को रटना नहीं चाहिए।
  2. हमें पूर्वकल्पित विचारों या धारणाओं के साथ नई अवधारणाएं नहीं सीखनी चाहिए।
  3. परीक्षा में नकल करना कभी भी अच्छा विचार नहीं है। ऐसा करके आप अपने आप को व अपने माता-पिता को धोखा देंगे।
  4. परीक्षा से ठीक पहले एक नई अवधारणा सीखना एक अच्छा विचार नहीं है।
  5. हमें दूसरों से अपनी तुलना करके उदास या प्रेरित नहीं होना चाहिए।
  6. एग्जाम हॉल में किसी से बात न करें और अगर किसी चीज़ की जरुरत हो या मन में कोई दुविधा या सवाल हो तो दूसरों से पूछने के बजाय एग्जाम हॉल में मौजूद शिक्षक से इस विषय में बात करें।
  7. एग्जाम से एक दिन पहले अपने ऊपर किसी तरह का दबाव न लें।
  8. परीक्षा से पहले किसी तरह का तला-भूना या मसालेदार खाद्य पदार्थ न खाएं। बेहतर है हल्का खाना खाएं।
  9. देर रात तक न जागें, परीक्षा से पहले अपनी नींद पूरी करें ताकि आप एग्जाम हॉल में थका हुआ महसूस न करें।
  10. ध्यान रहे इस परीक्षा में किसी भी तरह नेगेटिव मार्किंग नहीं है इसलिए किसी भी सवाल का जवाब बिना दिए अनुतरित न छोड़ें, बल्कि हर प्रश्न को हल करें। खासकर गणित के विषय में क्योंकि मैथ्स में कई बार सही प्रोसेस के भी मार्क्स मिल सकते हैं इसलिए इस बात का ध्यान रखें।

शैक्षिक संस्थानों की सूची

About Exam

स्कूलों / कॉलेजों की सूची

HPBoSE बोर्ड के पास वर्तमान में इससे संबद्ध 8000 से अधिक स्कूल हैं। बोर्ड ने राज्य भर में 1846 से अधिक परीक्षा केंद्र स्थापित किए हैं।

HPBoSE से संबद्ध कुछ स्कूल निम्न प्रकार हैं-

क्रमांक स्कूल का नाम
1. राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, बड़ागांव, शिमला
2. गवर्नमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल
3. मुनीश बहली, रामपुर
4. केन्द्रीय विद्यालय, केलांग
5. केन्द्रीय विद्यालय जाखूहिल्स शिमला
6. केन्द्रीय विद्यालय जुतोग छावनी, शिमला
7. सैनिक स्कूल, सुजानपुर तिराग
8. कसौली इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल
9. शासकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, रजवारी
10. हैनॉल्ट पब्लिक स्कूल, शिमला
11. एमएस पब्लिक स्कूल, मालोटी
12. आधुनिक पब्लिक स्कूल, सिंधबारी
13. अब्दुल रहमान स्कूल, शिमला
14. गवर्नमेंट हाई स्कूल, शिमला
15. शिमला पब्लिक स्कूल, शिमला धामी पब्लिक स्कूल, धामिया
16. अल्पाइन पब्लिक स्कूल, नालागढ़
17. सेक्रेड हार्ट सीनियर सेकेंडरी स्कूल, सिद्धपुर
18. कसौली इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल, धरमपुर
19. गोविंद मेमोरियल मॉडल पब्लिक स्कूल चैल, कांगड़ कोठी
20. गांधीर पब्लिक स्कूल, गांधीरी


संपर्क सूत्रों के साथ स्कूलों की पूरी सूची के लिए।

स्कूलों की सूची: यहां क्लिक करें

अभिभावक काउंसिलिंग

About Exam

अभिभावक काउंसिलिंग

अभिभावक परामर्श का मुख्य उद्देश्य सकारात्मक व्यवहार को प्रोत्साहित करना, अवांछनीय व्यवहार का प्रबंधन करना और अपने बच्चों की भावनात्मक जरूरतों को समझना है। यह या तो एक या माता-पिता दोनों द्वारा पूरा किया जा सकता है। अभिभावक परामर्श अभिभावक को उचित मार्गदर्शन, उपकरण और ज्ञान प्रदान करके अपने बच्चों को प्रभावित करने वाली विभिन्न कठिनाइयों से निपटने में सहायता करता है। अभिभावक को निकट भविष्य में अपने बच्चों के लिए उपलब्ध करियर विकल्पों के बारे में अधिक जागरूक होना चाहिए।

समान परीक्षाएं

Similar Exam

समांतर परीक्षाओं की सूची

समान परीक्षाओं से हमारा तात्पर्य उन परीक्षाओं से है जो अलग-अलग राज्यों में-केंद्र और राज्य दोनों स्तरों पर समानांतर परीक्षा के रूप में आयोजित की जाती हैं- जिन्हें इस परीक्षा के समान माना जा सकता है।

नीचे सूचीबद्ध परीक्षाएं कक्षा 8वीं हिमाचल प्रदेश बोर्ड परीक्षा के समान हैं:

क्रमांक परीक्षा का नाम
1 कक्षा 8वीं CBSE परीक्षा, टर्म-1
2 कक्षा 8वीं CBSE परीक्षा, टर्म-2
3 कक्षा 8वीं ICSE परीक्षा
4 राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (NIOS) कक्षा 8वीं परीक्षा
5 माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, असम, कक्षा 8वीं परीक्षा (असम HSLC)
6 बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) कक्षा 8वीं परीक्षा
7 उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UPMSP) कक्षा 8वीं परीक्षा
8 पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (WBBSE) कक्षा 8वीं परीक्षा (माध्यमिक परीक्षा
9 महाराष्ट्र स्टेट बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एंड हायर सेकेंडरी एजुकेशन 8वीं परीक्षा
10 छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, रायपुर
11 गोवा माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, गोवा
12 मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, भोपाल
13 हरियाणा शिक्षा बोर्ड, हांसी रोड, भिवानी
14 हरियाणा ओपन स्कूल, भिवानी
15 हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड, धर्मशाला
16 जम्मू और कश्मीर राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड, जम्मू
17 जम्मू-कश्मीर स्टेट ओपन स्कूल, श्रीनगर
18 झारखंड एकेडमिक काउंसिल, रांची
19 कर्नाटक माध्यमिक शिक्षा परीक्षा बोर्ड, बैंगलोर
20 कर्नाटक ओपन स्कूल, जे.एस.एस. महा विद्या पीठ, मैसूर
21 केरल लोक परीक्षा बोर्ड, परीक्षा भवन, तिरुवनंतपुरम
22 केरल स्टेट ओपन स्कूल, तिरुवनंतपुरम
23 मणिपुर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड
24 मध्य प्रदेश राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड, भोपाल
25 मिजोरम बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन चल्त्लंग, आइजोल
26 नागालैंड बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन, कोहिमा
27 उड़ीसा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, कटक
28 पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड, मोहाली
29 राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर
30 राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल, जयपुर
31 तमिलनाडु माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, चेन्नई
32 त्रिपुरा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अगरतला, त्रिपुरा पश्चिम
33 यूपी हाई स्कूल और इंटरमीडिएट शिक्षा बोर्ड, इलाहाबाद
34 उत्‍तरांचल शिक्षा एवं परीक्षा परिषद, राम नगर, नैनीताल
35 रवीन्द्र मुक्ता विद्यालय (पश्चिम बंगाल राज्य मुक्त विद्यालय)
36 वेस्ट बंगाल बोर्ड ऑफ मदरसा एजुकेशन

आगामी परीक्षा

Similar

आगामी परीक्षाओं की सूची

कुछ प्रतियोगी परीक्षाएँ जिनमें कक्षा 8 के छात्र उपस्थित हो सकते हैं, वे हैं:

  • राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (NTSE): विज्ञान, गणित, सामाजिक विज्ञान, मानसिक क्षमता और सामान्य ज्ञान के छात्र के ज्ञान और समझ का मूल्यांकन किया जाता है। छात्रवृत्ति और नकद पुरस्कार योग्य छात्रों को अगले शैक्षणिक वर्ष में आगे बढ़ने में सहायता करते हैं।
  • राष्ट्रीय स्तर की विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा (NLSTSE): परीक्षा में गणित, भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान जैसे विषय होते हैं और अन्य सामान्य जागरूकता प्रश्न शामिल होते हैं।
  • इंडियन नेशनल ओलंपियाड (INO): पाठ्यक्रम में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, खगोल विज्ञान और जूनियर विज्ञान शामिल हैं। इस परीक्षा में पांच चरण की प्रक्रिया होती है। प्रारंभिक चरण एनएसई (राष्ट्रीय मानक परीक्षा) द्वारा आयोजित लिखित परीक्षा है।
  • जिओजीनियस: इस परीक्षा का उद्देश्य भूगोल में रुचि पैदा करना है। इस परीक्षा में, छात्रों को भारत के विभिन्न स्थानों को एक खाली मानचित्र पर चिह्नित करने के लिए कहा जाता है।
  • नेशनल इंटरएक्टिव मैथ्स ओलंपियाड (NIMO): यह परीक्षा मानसिक क्षमता और गणितीय कौशल का परीक्षण और विश्लेषण करती है।

ओलंपियाड:

  • अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान ओलंपियाड (ISO)
  • अंतर्राष्ट्रीय गणित ओलंपियाड (IMO)
  • अंतर्राष्ट्रीय अंग्रेजी ओलंपियाड (EIO)
  • सामान्य ज्ञान अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड (GKIO)
  • अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर ओलंपियाड (ICO)
  • अंतर्राष्ट्रीय ड्रॉइंग ओलंपियाड (IDO)
  • राष्ट्रीय निबंध ओलंपियाड (NESO)
  • राष्ट्रीय सामाजिक अध्ययन ओलंपियाड (NSSO)

प्रैक्टिकल नॉलेज /कैरियर लक्ष्य

Prediction

वास्तविक दुनिया से सीखना

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा वह है जो छात्र के कक्षा शिक्षण को वास्तविक जीवन के परिदृश्यों से जोड़ती है। जब छात्र वास्तविक जीवन के अनुभव के माध्यम से चीजों और विषय वस्तु की बेहतर समझ हासिल करते हैं, तो सीखना अधिक सुखद हो जाता है। हमें अपने छात्रों को गतिविधियों, प्रयोगों, क्षेत्र यात्राओं, समूह गतिविधियों आदि जैसे चलने वाले प्रामाणिक सीखने के अवसर प्रदान करना चाहिए।

भविष्य के कौशल

कोडिंग: आज की दुनिया में हमारे पास हर जगह कंप्यूटर है तथा कोडिंग और डेटा विश्लेषण जैसे कौशल बहुत अधिक मांग में हैं। दिल्ली बोर्ड कक्षा 8वीं में, कंप्यूटर एक महत्वपूर्ण विषय है जो कोडिंग की नींव रखता है, जो भविष्य में छात्रों के लिए बहुत उपयोगी होगा, और इससे दिल्ली बोर्ड के छात्रों को फायदा होगा।

इसे स्वयं करें (DIY): यह सीखने के लिए एक रचनात्मक दृष्टिकोण है जिसमें गतिविधियाँ और परियोजनाएँ शामिल हैं। नाटक का उपयोग अंग्रेजी और हिंदी जैसे विषयों को पढ़ाने के लिए किया जा सकता है, जबकि सामाजिक विज्ञान विषयों को पढ़ाने के लिए वाद-विवाद, सर्वेक्षण और फील्डवर्क का उपयोग किया जा सकता है। प्रयोग, क्षेत्र अध्ययन और विज्ञान के अन्य रूपों का अनुभव किया जा सकता है। कुछ गणित के टॉपिक, जैसे लाभ और हानि, क्षेत्रफल मापन, आदि, छात्रों को स्वयं करें गतिविधियों के माध्यम से पढ़ाए जाने चाहिए। Embibe ऐप सीखने को अधिक मनोरंजक और सार्थक बनाने के लिए प्रत्येक कक्षा, विषय और अध्याय के लिए DIY गतिविधियाँ प्रदान करता है।

कैरियर कौशल

सुनना कौशल, कार्यस्थल में विविधता को समझना, भाषा कौशल, अनुसंधान कौशल, योजना, नेतृत्व कौशल, भावनात्मक रूप से संतुलित होना, आत्म-सर्वेक्षण, ज्ञान की खोज, संचार कौशल, आदि सभी शिक्षा में एक ठोस नींव से मजबूत होते हैं। यह सभी छात्रों के लिए अवसर प्रदान करके और उनके विकास के सभी चरणों में उन्हें प्रोत्साहित करके पूरा किया जा सकता है। यह वास्तविक जीवन के अनुभवों के प्रावधान और इसे स्वयं करें गतिविधियों के माध्यम से पूरा किया जा सकता है।

कैरियर की संभावनाएं / कौन सा पेशा चुनें?

कक्षा 8 में, कोई प्रत्यक्ष कैरियर चयन नहीं है, लेकिन छात्रों को अपनी रुचियों को आगे बढ़ाने के लिए कैरियर के अवसरों के बारे में पता होना चाहिए। कक्षा 10 के बाद, छात्र अपनी रुचि के आधार पर विज्ञान, वाणिज्य, कला, ललित कला और अन्य विषयों का अध्ययन कर सकते हैं।

Embibe पर 3D लर्निंग, बुक प्रैक्टिस, टेस्ट और डाउट रिज़ॉल्यूशन के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ हासिल करें