जेईई मेन 2023

अपने चयन के अवसरों को बढ़ाने के लिए अभी से Embibe के साथ अपनी
तैयारी शुरू करें
  • Embibe कक्षाओं तक असीमित पहुंच
  • मॉक टेस्ट के नवीनतम पैटर्न के साथ प्रयास करें
  • विषय विशेषज्ञों के साथ 24/7 चैट करें

6,000आपके आसपास ऑनलाइन विद्यार्थी

  • द्वारा लिखित Aishwarya Lakshmi
  • अंतिम संशोधित दिनांक 30-08-2022
  • द्वारा लिखित Aishwarya Lakshmi
  • अंतिम संशोधित दिनांक 30-08-2022

जेईई मेन 2023 परीक्षा के बारे में

About Exam

जेईई मेन 2023 (JEE Main 2023) - जेईई एपेक्स बोर्ड (जेएबी) द्वारा जेईई मेन 2023 परीक्षा दो बार आयोजित की जाने उम्मीद है। अधिकारी जेईई मेन 2023 आवेदन फॉर्म (JEE Main Application Form 2023) को आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर नवंबर 2022 में संभावित रूप से जारी करेंगे। आवेदन करने से पहले उम्मीदवारों को पहले जेईई मेन पात्रता मानदंड 2023 की जांच करनी चाहिए। जेईई मेन 2023 के बारे में अधिक जानने के लिए पूरा लेख पढ़ें। संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2023 जनवरी और अप्रैल 2023 में आयोजित होने की संभावना है।

एनटीए एनआईटी (NIT), आईआईआईटी (IIT), अन्य केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों (CFTI), भाग लेने वाली राज्य सरकारों द्वारा वित्त पोषित / मान्यता प्राप्त संस्थानों / विश्वविद्यालयों में बीई/ बीटेक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मेन पेपर 1) आयोजित करता है। जेईई मेन पेपर 2 बी.आर्क/बी.प्लान पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित किया जाता है। जेईई मेन परीक्षा भी जेईई एडवांस के लिए पात्रता परीक्षा के रूप में कार्य करता है, जो आईआईटी में प्रवेश के लिए आयोजित किया जाता है।

जेईई मेन 2023 विवरणिका

एनटीए हर साल अपनी वेबसाइट पर जेईई मेन आधिकारिक ब्रोशर (JEE Main Brochure) जारी करता है। जो छात्र जेईई मेन आवेदन पत्र भरने में रुचि रखते हैं और जेईई एग्जाम से जुड़ी कोई अन्य जानकारी भी जानना चाहते हैं, उन्हें जेईई मेन ब्रोशर डाउनलोड करना चाहिए और आवेदन प्रक्रिया शुरू करने से पहले एक बार अवश्य पढ़ना चाहिए। जेईई मेन इन्फॉर्मेशन बुलेटिन में जेईई मेन एप्लीकेशन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन, एग्जाम सेंटर और सिटी, जेईई मेन एग्जाम डेट्स, एडमिट कार्ड, जेईई मेन गाइडलाइन्स आदि की जानकारी दी हुई होती है। जेईई मेन 2023 के लिए अभी आधिकारिक रूप से विवरणिका (ब्रोशर) जारी नहीं की गई है। अतः जेईई मेन 2023 के लिए विवरणिका जारी होने तक उम्मीदवारों को सलाह दी जाती हैं कि वे नीचे दी गई जेईई मेन 2022 विवरणिका को पढ़ कर एक  अनुमान प्राप्त करें।

जेईई मेन 2023 आधिकारिक वेबसाइट लिंक

jeemain.nta.nic.in

जेईई मेन 2023 नोटिस बोर्ड

Test

जेईई मेन में हुए बदलाव

जेईई मेन 2023 ऑनलाइन आवेदन करने वाले सभी इच्छुक आवेदकों को परीक्षा के लिए पंजीकरण (JEE Main registration) करने से पहले एनटीए द्वारा शुरू किए गए नए परिवर्तनों से परिचित होना चाहिए।

  • प्रयासों की संख्या: जेईई एपेक्स बोर्ड (जेएबी) द्वारा जेईई मेन 2023 केवल दो बार आयोजित किए जाने की उम्मीद है। 
  • नेगेटिव मार्किंग : एनटीए ने जेईई मेन 2023 में सेक्शन A और B के लिए नेगेटिव मार्किंग शुरू की है।
  • आवेदन सुधार सुविधा: राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए), जेईई मेन 2023 आवेदन पत्र की सुधार विंडो jeemain.nta.nic पर जारी करेगा। 
  • प्रमाणीकरण: जेईई मेन पंजीकरण (JEE Main registration) करते समय, उम्मीदवारों को अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर और ईमेल पर प्राप्त ओटीपी का उपयोग करके सत्यापित करना होगा। पंजीकरण और शुल्क भुगतान प्रक्रिया के दौरान प्रमाणीकरण की आवश्यकता होगी।
  • शहरों का चुनाव: उम्मीदवारों के लिए शहरों का चुनाव उम्मीदवारों द्वारा अपने आवेदन पत्र में भरे गए वर्तमान और स्थायी पते पर आधारित होगा। 
  • माता-पिता/अभिभावक आय विवरण: जेईई मेन 2023 आवेदन पत्र जमा करते समय माता-पिता/अभिभावकों की आय विवरण भरना अनिवार्य होगा।
  • SANDES एप्लिकेशन: आवेदकों को अपने फोन पर 'SANDES' नामक एप्लिकेशन इंस्टॉल करने की भी आवश्यकता होगी। यह एप्लिकेशन उम्मीदवारों को ऐप पर महत्वपूर्ण सूचनाएं प्राप्त करने की अनुमति देगा, भले ही वे अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर या ईमेल पर इसे मिस कर जाएँ।
  • स्क्राइब का उपयोग : स्क्राइब का उपयोग करना एनटीए द्वारा जारी किए गए मानदंडों के अधीन होगा। स्क्राइब के उपयोग के बारे में अधिक जानने के लिए आप आधिकारिक सूचना बुलेटिन देख सकते हैं।
  • उमंग और डिजिलॉकर: एनटीए उमंग और डिजिलॉकर नामक अतिरिक्त प्लेटफॉर्म के साथ सभी उम्मीदवारों की सुविधा प्रदान करता है। इन प्लेटफार्मों का उपयोग करके, उम्मीदवार महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे जेईई मेन 2023 एडमिट कार्ड, पुष्टिकरण पृष्ठ, स्कोरकार्ड आदि डाउनलोड कर सकेंगे।

जेईई मेन 2023 परीक्षा पैटर्न

Exam Pattern

जेईई मेन की परीक्षा को तीन सेक्शन में विभाजित किया गया है और यह दो शिफ्ट सुबह और शाम को आयोजित की जाती है। बता दें  कि उम्मीदवारों के लिए जेईई मेन एग्जाम पैटर्न (JEE Main Exam Pattern in Hindi) समझना आवश्यक है, ताकि वे इस परीक्षा की तैयारी और बेहतर तरीके से कर सकें। जेईई मेन परीक्षा पैटर्न की एक सामान्य रूपरेखा निम्नलिखित है:

JEE Main परीक्षा पैटर्न विवरण - स्कोरिंग पैटर्न

जेईई मेन एग्जाम पैटर्न यह बताता है कि परीक्षा कैसे आयोजित की जाएगी और जेईई मेन प्रश्न पत्र किस प्रकार सेट किया जाएगा। JEE Main एग्जाम पैटर्न में परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या, कुल अंक, कठिनाई स्तर एवं मार्किंग स्कीम आदि की जानकारी दी हुई होती है। ऑफिशियल जेईई एग्जाम पैटर्न नीचे दी गई तालिका में दिया हुआ है: 

जेईई मेन परीक्षा पैटर्न - पेपर 1

जेईई मेन परीक्षा पैटर्न, पेपर 1 के लिए कुछ इस प्रकार है:

जेईई मेन पैटर्न पेपर 1: बी.ई/बी.टेक
विषय सेक्शन A
(मार्किंग स्कीम: सही +4 , गलत -1, अनुत्तरित : 0)
प्रश्न प्रकार: MCQs
सेक्शन B
(मार्किंग स्कीम: सही +4, गलत 0, अनुत्तरित : 0)
प्रश्न प्रकार : संख्यात्मक मान
अंक
पेपर में प्रश्नों की संख्या उन प्रश्नों की संख्या जिनका प्रयास किया जा सकता है पेपर में प्रश्नों की संख्या उन प्रश्नों की संख्या जिनका प्रयास किया जा सकता है  
भौतिकी 20 20 10 5 100
रसायन विज्ञान 20 20 10 5 100
गणित 20 20 10 5 100
कुल 90 प्रश्न | 75 प्रश्नों का प्रयास किया जा सकता है 300

जेईई मेन परीक्षा पैटर्न 2023 - पेपर 2ए और 2बी

निम्नलिखित तालिका जेईई मेन पेपर 2 के लिए परीक्षा पैटर्न के बारे में जानकारी प्रदान करती है।

जेईई मेन परीक्षा पैटर्न पेपर 2ए के लिए  - (बी आर्क)

विषय कुल प्रश्न अंक
गणित– भाग 1 20 MCQs और 10 संख्यात्मक मान के प्रश्न (किसी भी 5 का उत्तर दिया जाना है) 100
एप्टीट्यूड टेस्ट– भाग 2 50 200
ड्राइंग टेस्ट– भाग 3 02 100
कुल 82 (77 का उत्तर दिया जाना है ) 400

जेईई मेन परीक्षा पैटर्न पेपर 2बी के लिए - (बी प्लानिंग)

विषय कुल प्रश्न अंक
गणित 20 MCQs और 10 संख्यात्मक मान के प्रश्न (किसी भी 5 का उत्तर दिया जाना है) 100
एप्टीट्यूड टेस्ट 50 200
योजना परीक्षण (एमसीक्यू) 25 100
कुल 105 (100 का उत्तर देना है ) 400

जेईई मेन 2023 एग्जाम कैलेंडर

जेईई मेन की बेहतर तैयारी के लिए उम्मीदवारों को जेईई मेन 2023 महत्वपूर्ण तिथियों के बारे में पता होना आवश्यक है। नीचे दी गई तालिका में पहले सत्र के लिए जेईई मेन 2023 एग्जाम डेट (JEE Main Exam Date 2023) से जुड़ी जानकारी मौजूद है:

आयोजन जेईई मेन तिथियां 2023 (संभावित)
आधिकारिक जेईई मेन अधिसूचना के जारी होने की तिथि नवंबर 2022
जेईई मेन 2023 विवरणिका की उपलब्धता नवंबर 2022
जेईई मेन पंजीकरण 2023 शरू होने की तिथि जनवरी सत्र - नवंबर 2022
अप्रैल सत्र - मार्च 2023 का अंतिम सप्ताह
जेईई मेन 2023 आवेदन पत्र भरने की अंतिम तिथि जनवरी सत्र - दिसंबर 2022
अप्रैल सत्र - अप्रैल 2023
जेईई मेन 2023 आवेदन पत्र सुधार जनवरी सत्र - दिसंबर 2022
अप्रैल सत्र - मार्च 2023
एडमिट कार्ड जारी होने की तिथि जनवरी सत्र - जनवरी 2023
अप्रैल सत्र - अप्रैल 2023
जेईई मेन 2023 परीक्षा तिथि जनवरी सत्र - जनवरी  2023
अप्रैल सत्र - अप्रैल  2023
जेईई मेन रिजल्ट तिथि जनवरी सत्र - जनवरी 2023
अप्रैल सत्र - अप्रैल 2023

जेईई मेन 2023 सिलेबस

Exam Syllabus

जेईई एपेक्स बोर्ड (जेएबी) या एनटीए, सूचना विवरणिका में पेपर 1 और पेपर 2 के लिए जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 जारी कर सकता है, जिसे jeemain.nta.nic.in से प्राप्त किया जा सकता है। सभी अभ्यर्थियों को JEE Main सिलेबस के बारे में अच्छे से जानना बेहद जरूरी है ताकि वो अपनी तैयारी सही ढंग से कर सकें। उम्मीदवार इस लेख में पेपर 1 (भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित) के साथ-साथ पेपर 2A (गणित, योग्यता परीक्षण और ड्राइंग) और पेपर 2B (गणित, योग्यता परीक्षण और योजना आधारित प्रश्न) के पाठ्यक्रम की जांच कर सकते हैं। पाठ्यक्रम का विश्लेषण करते समय आपको जेईई मेन महत्वपूर्ण टॉपिक (JEE Main Important Topics) की एक लिस्ट भी बना लेनी चाहिए यह लिस्ट परीक्षा की तैयारी में बहुत ज्यादा कारगर साबित होती है। हमने यहां पर जेईई मेन सिलेबस 2023 (JEE Main Syllabus in Hindi) प्रदान किया है।

नीचे जेईई मेन 2023 पेपर 1 में अध्यायों के वेटेज की जाँच करें। इसमें तीन विषय शामिल हैं:

  • भौतिक विज्ञान
  • रसायन विज्ञान
  • गणित

जेईई मेन पेपर 1 (बी.ई./बी.टेक) पाठ्यक्रम 2023 

सबसे पहले हम जेईई मेन पेपर 1 के लिए सिलेबस से जुड़ी जानकारी शेयर कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है: 

भौतिकी के लिए जेईई मेन 2023 पाठ्यक्रम   

पाठ्यक्रम में दो सेक्शन होते हैं- A और B, सेक्शन - A 80% वेटेज वाले थ्योरी पार्ट से संबंधित है, जबकि सेक्शन - B में 20% वेटेज वाले व्यावहारिक घटक (प्रायोगिक कौशल) शामिल हैं।

सेक्शन- A

इकाई 1: भौतिकी और मापन

भौतिकी, प्रौद्योगिकी और समाज, S.I. इकाइयाँ, मौलिक और व्युत्पन्न इकाइयाँ, अल्पतमांक मापक उपकरणों की यथार्थता और परिशुद्धता, मापन में त्रुटियाँ, भौतिक राशियों की विमाएं , विमीय विश्लेषण और इसके अनुप्रयोग

इकाई 2: गतिकी 

निर्देश तंत्र, एक सरल रेखा में गति, स्थिति-समय ग्राफ, चाल और वेग, एकसमान और असमान गति, औसत चाल और तात्क्षणिक वेग, एकसमान रूप से त्वरित गति, वेग-समय, स्थिति-समय ग्राफ, समान रूप से त्वरित गति के लिए संबंध, अदिश और सदिश, सदिश, योग और व्यवकलन, शून्यक सदिश, अदिश और सदिश गुणन, एकांक सदिश, सदिश का वियोजन, सापेक्ष वेग, समतल में गति, प्रक्षेप्य गति, एकसमान वृत्तीय गति

इकाई 3: गति के नियम 

बल और जड़त्व, न्यूटन की गति का पहला नियम, संवेग, न्यूटन की गति का दूसरा नियम, आवेग, न्यूटन की गति का तीसरा नियम, रैखिक संवेग के संरक्षण का नियम और इसके अनुप्रयोग, संगामी बलों का संतुलन, स्थैतिक और गतिज घर्षण, घर्षण के नियम, लोटनिक घर्षण, एकसमान वृत्तीय गति की गतिकी: अभिकेन्द्र बल और उसके अनुप्रयोग

इकाई 4: कार्य, ऊर्जा और शक्ति

संपर्क बल और परिवर्ती बल द्वारा किया गया कार्य, गतिज और स्थितिज ऊर्जा, कार्य-ऊर्जा प्रमेय, शक्ति, स्प्रिंग की स्थितिज ऊर्जा, यांत्रिक ऊर्जा संरक्षण, संरक्षी और असंरक्षी बल, एक विमा और दो विमा में प्रत्यास्थ और अप्रत्यास्थ संघट्ट

इकाई 5: घूर्णी गति 

दो-कण निकाय का द्रव्यमान केंद्र, दृढ़ पिंड का द्रव्यमान केंद्र, घूर्णी गति की मूलभूत अवधारणाएं, बल का आघूर्ण, बलाघूर्ण, कोणीय गति, कोणीय गति का संरक्षण और इसके अनुप्रयोग, जड़त्व आघूर्ण, परिभ्रमण त्रिज्या, सरल ज्यामितीय वस्तुओं के लिए जड़त्व के आघूर्णों के मान, समानांतर और लंब अक्ष प्रमेय और उनके अनुप्रयोग, घूर्णी गति के दृढ़ पिंड घूर्णन समीकरण

इकाई 6: गुरुत्वाकर्षण 

गुरुत्वाकर्षण का सार्वभौमिक नियम, गुरुत्वाकर्षण के कारण त्वरण और ऊंचाई और गहराई के साथ इसकी भिन्नता, ग्रहीय गति का केप्लर का नियम, गुरुत्वाकर्षण स्थितिज ऊर्जा, गुरुत्वीय स्थितिज, पलायन वेग, उपग्रह का कक्षीय वेग, भूस्थिर उपग्रह

इकाई 7: ठोस और तरल पदार्थ के गुण

प्रत्यास्थ व्यवहार, प्रतिबल-विकृति संबंध, हुक का नियम, यंग गुणांक, आयतन गुणांक, दृढ़ता गुणांक, तरल स्तंभ के कारण दाब, पास्कल का नियम और इसके अनुप्रयोग, श्यानता, स्टोक्स का नियम, सीमांत वेग, धारारेखीय और विक्षोभ प्रवाह, रेनल्ड्स संख्या, बर्नूली का सिद्धांत और उसके अनुप्रयोग, पृष्ठीय ऊर्जा और पृष्ठ तनाव, संपर्क कोण, सतह तनाव का अनुप्रयोग - बूँदें, बुलबुले और केशिका वृद्धि, ऊष्मा, तापमान, तापीय प्रसार, विशिष्ट ऊष्मा धारिता , कैलोरीमिति, अवस्था का परिवर्तन, गुप्त ऊष्मा, ऊष्मा स्थानांतरण-चालन, संवहन और विकिरण, न्यूटन के शीतलन का नियम

इकाई 8: ऊष्मागतिकी

तापीय साम्यावस्था, ऊष्मागतिकी का शून्यक नियम, ताप का कॉन्सेप्ट, ऊष्मा, कार्य और आंतरिक ऊर्जा, ऊष्मागतिकी का पहला नियम, ऊष्मागतिकी का दूसरा नियम: उत्क्रमणीय और अनुत्क्रमणीय प्रक्रम, कार्नो इंजन और इसकी दक्षता

इकाई 9: गैसों का अणुगति सिद्धांत

एक आदर्श गैस की अवस्था का समीकरण, किसी गैस को संपीड़ित करने पर किया गया कार्य, गैसों का अणुगति सिद्धांत - अभिधारणाएं, दाब की अवधारणा, गतिज ऊर्जा और ताप: गैस अणुओं की RMS गति: स्वातंत्र्य कोटि, ऊर्जा के समविभाजन का नियम, गैसों की विशिष्ट ऊष्मा धारिताओं के अनुप्रयोग, माध्य मुक्त पथ, आवोगाद्रो की संख्या

इकाई 10: दोलन और तरंगें 

आवर्त गति - समय के फलन के रूप में आवर्तकाल, आवृत्ति, विस्थापन, आवर्ती फलन, सरल आवर्त गति (S.H.M.) और इसका समीकरण, कला: एक स्प्रिंग के दोलन-प्रत्यानयन बल और बल स्थिरांक का दोलन: S.H.M में ऊर्जा- गतिज और स्थितिज ऊर्जा, सरल लोलक - इसके आवर्तकाल के लिए व्यंजक की व्युत्पत्ति: मुक्त, प्रणोदित और अवमंदित दोलन, अनुनाद, तरंग गति, अनुदैर्ध्य और अनुप्रस्थ तरंगें, एक लहर की गति तरंग अध्यारोपण के सिद्धांत, तरंगों का परावर्तन, स्ट्रिंग और ऑर्गन पाइप में अप्रगामी तरंगें, मूल विधा और गुणावृत्ति, विस्पंद, ध्वनि में डॉपलर प्रभाव

इकाई 11: स्थिर वैद्युतिकी

विद्युत आवेश: आवेश का संरक्षण। कूलॉम के नियम में, दो बिंदु आवेशों के बीच बल, बहु आवेशों के बीच बलों का मान, अध्यारोपण सिद्धांत तथा सतत आवेश वितरण, विद्युत क्षेत्र: एक बिंदु आवेश के कारण विद्युत क्षेत्र, विद्युत क्षेत्रीय रेखाएँ, विद्युत् द्विध्रुव, द्विध्रुव के कारण विद्युत क्षेत्र, एक समान विद्युत क्षेत्र में द्विध्रुव पर बल आघूर्ण, विद्युत फ्लक्स, गाउस का नियम और एकसमान रूप से आवेशित सीधे तार, एकसमान रूप से आवेशित अनंत समतल चादर और एकसमान रूप से आवेशित पतले गोलीय कोश के कारण क्षेत्रों का पता लगाने के लिए इसके अनुप्रयोग, विद्युत विभव तथा इसकी गणना बिंदु आवेश के लिए, विद्युत द्विध्रुव तथा आवेशों के निकाय के लिए; समविभव पृष्ठ, स्थिरवैद्युत क्षेत्र में दो बिंदु आवेशों के निकाय की विद्युत स्थितिज ऊर्जा। चालक और विद्युत् - रोधी, परावैद्युत और विद्युत ध्रुवण, संधारित्र, श्रेणीक्रम और समांतर क्रम में संधारित्रों का संयोजन, प्लेटों के बीच परावैद्युत माध्यम के साथ और बिना एक समांतर प्लेट संधारित्र की धारिता, एक संधारित्र में संचित ऊर्जा

इकाई 12: विद्युत धारा

विद्युत धारा। अपवाह वेग, ओम का नियम, विद्युत प्रतिरोध, विभिन्न पदार्थों के प्रतिरोध, ओमी और गैर - ओमी चालकों के V - l लक्षण, विद्युत ऊर्जा और शक्ति, विद्युत प्रतिरोधकता, प्रतिरोधकों का रंग कोड; प्रतिरोधकों का श्रेणी और समांतर संयोजन; प्रतिरोध की तापमान पर निर्भरता, विद्युत सेल और इसका आंतरिक प्रतिरोध, विभवांतर और एक सेल का विद्युत वाहक बल, श्रेणी क्रम और समांतर क्रम में सेलों का एक संयोजन, किरचॉफ के नियम और उनके अनुप्रयोग, व्हीटस्टोन सेतु, मीटर सेतु, पोटेंशियोमीटर - सिद्धांत और इसके अनुप्रयोग

इकाई 13: विद्युत धारा और चुंबकत्व के चुंबकीय प्रभाव

बायो - सावर्ट नियम और एक धारावाही वृत्ताकार पाश के लिए इसका अनुप्रयोग, ऐम्पियर का नियम और अनंत लंबाई के विद्युत धारावाही सीधे तार और परिनालिका के लिए इसके अनुप्रयोग, एकसमान चुंबकीय और विद्युत क्षेत्रों में गतिमान आवेश पर बल, साइक्लोट्रॉन, एकसमान चुंबकीय क्षेत्र में, एक धारावाही चालक पर बल, दो समांतर धारावाही चालकों के बीच बल- ऐम्पियर की परिभाषा, एकसमान चुंबकीय क्षेत्र में एक विद्युत धारा पाश द्वारा अनुभव किया गया बल आघूर्ण: चल कुंडली गैल्वेनोमीटर, इसकी धारा सुग्राहिता और ऐमीटर और वोल्टमीटर में रूपांतरण, एक चुंबकीय द्विध्रुव के रूप में विद्युत धारा पाश और इसका चुंबकीय द्विध्रुव आघूर्ण, छड़ चुंबक एक तुल्य परिनालिका के रूप में, चुंबकीय क्षेत्र रेखाएँ, पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र और चुंबकीय तत्व: प्रतिचुंबकीय -, अनुचुंबकीय और लौह - चुंबकीय पदार्थ, चुंबकीय प्रवृत्ति और पारगम्यता, शैथिल्यता, विद्युत चुंबक और स्थायी चुंबक

इकाई 14: विद्युत चुम्बकीय प्रेरण और प्रत्यावर्ती धारा

विद्युत् - चुंबकीय प्रेरण: फैराडे का नियम, प्रेरित विद्युत वाहक बल और विद्युत धारा: लेन्ज का नियम, भँवर धाराएँ, स्व और अन्योन्य प्रेरकत्व, प्रत्यावर्ती धाराएँ, प्रत्यावर्ती धारा/वोल्टता का शिखर और वर्ग माध्य मूल मान: प्रतिघात और प्रतिबाधा: LCR श्रेणी परिपथ, अनुनाद: गुणता गुणांक, प्रत्यावर्ती धारा में शक्ति परिपथ, वाटल धारा, एसी (AC) जनित्र और ट्रांसफार्मर

इकाई 15: विद्युत चुम्बकीय तरंगें

विद्युत चुम्बकीय तरंगें और उनके अभिलक्षण, विद्युत चुम्बकीय तरंगों की अनुप्रस्थ प्रकृति, विद्युत चुम्बकीय स्पेक्ट्रम (रेडियो तरंगें, सूक्ष्म तरंगें, अवरक्त, दृश्य, पराबैंगनी, ऐक्स-किरणें, गामा किरणें), विद्युत चुंबकीय तरंगों के अनुप्रयोग

इकाई 16: प्रकाशिकी 

समतल और गोलीय पृष्ठों पर प्रकाश का परावर्तन और अपवर्तन, दर्पण का सूत्र, पूर्ण आंतरिक परावर्तन और इसके अनुप्रयोग, एक प्रिज़्म के द्वारा प्रकाश का विचलन और प्रकीर्णन; लेंस सूत्र, आवर्धन, एक लेन्स की क्षमता, संपर्क में पतले लेंसो का संयोजन, सूक्ष्मदर्शी और खगोलीय दूरदर्शी (परावर्तक और अपवर्तक) और उनकी आवर्धन क्षमता

तरंग-प्रकाशिकी: तरंगाग्र और हाइगेंस का सिद्धांत, हाइगेंस के सिद्धांत का उपयोग करके परावर्तन और अपवर्तन के नियम, व्यतिकरण, यंग का द्वि - झिरी प्रयोग और फ्रिंज चौड़ाई के लिए व्यंजक, कला संबद्ध स्रोतों और प्रकाश के निरंतर व्यतिकरण, एकल झिरी के कारण विवर्तन, केंद्रीय उच्चिष्ठ की चौड़ाई, सूक्ष्मदर्शी और खगोलीय दूरबीनों की विभेदन क्षमता, ध्रुवीकरण, समतल-ध्रुवित प्रकाश, ब्रूस्टर का नियम, समतल-ध्रुवित प्रकाश के उपयोग और पोलेरॉइड

इकाई 17: द्रव्य और विकिरण की द्वैत प्रकृति

विकिरण की द्वैत प्रकृति, प्रकाश - विद्युत प्रभाव, हर्ट्ज और लीनार्ड के प्रेक्षण; आइंस्टाइन का प्रकाश - विद्युत समीकरण: प्रकाश की कण प्रकृति, पदार्थ की तरंगें - कणों की तरंग प्रकृति, दे ब्रॉग्ली संबंध, डेविसन- जर्मर प्रयोग

इकाई 18: परमाणु और नाभिक

ऐल्फा - कण प्रकीर्णन प्रयोग; रदरफोर्ड का परमाणु मॉडल; बोर मॉडल, ऊर्जा स्तर, हाइड्रोजन स्पेक्ट्रम, नाभिक का संघटन और आकार, परमाणु द्रव्यमान, समस्थानिक, समभारिक: समन्यूट्रॉनी, रेडियोधर्मिता - अल्फा, बीटा और गामा कण/किरणें और उनके गुण; रेडियोधर्मी क्षय नियम, द्रव्यमान - ऊर्जा संबंध, द्रव्यमान क्षति; प्रति न्यूक्लिऑन बंधन ऊर्जा और द्रव्यमान संख्या के साथ इसका परिवर्तन, नाभिकीय विखंडन और संलयन

इकाई 19: इलेक्ट्रॉनिक उपकरण

अर्धचालक; अर्धचालक डायोड: अग्रदिशिक अभिनति और पश्चदिशिक अभिनति में 1 - V अभिलक्षण; डायोड एक परिशोधक के रूप में; एलईडी के I - V अभिलक्षण, फोटोडायोड, सौर सेल और जेनर डायोड; एक वोल्टता नियामक के रूप में जेनर डायोड, संधि ट्रांजिस्टर, ट्रांजिस्टर क्रिया, एक ट्रांजिस्टर की विशेषताएं: एक प्रवर्धक (उभयनिष्ठ उत्सर्जक विन्यास) और दोलित्र के रूप में ट्रांजिस्टर, लॉजिक गेट (OR. AND. NOT. NAND और NOR), एक स्विच के रूप में ट्रांजिस्टर

इकाई 20: संचार व्यवस्था

वायुमंडल में विद्युत चुम्बकीय तरंगों का संचरण; आकाश और अंतरिक्ष तरंग का संचरण, मॉडुलन की आवश्यकता, आयाम और आवृत्ति मॉडुलन, संकेतों की बैंड चौड़ाई, संचरण माध्यम की बैंड चौड़ाई, एक संचार प्रणाली के मूल अवयव (केवल ब्लॉक आरेख)

जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 पीडीएफ डाउनलोड

राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (एनटीए) ने पेपर 1 और 2 के लिए जेईई मेन 2023 पाठ्यक्रम (जेईई मेन pathyakram) पीडीएफ जारी करता है। NTA से अभी आधिकारिक रूप से जेईई मेन 2023 परीक्षा के लिए सिलेबस की घोषणा नहीं की हैं। अतः उम्मीदवार सिलेबस का अनुमान प्राप्त करने के लिए नीचे सारणीबद्ध जेईई मेन 2022 पाठ्यक्रम देख सकते हैं:

जेईई मेन के पेपर जेईई सिलेबस पीडीएफ डाउनलोड लिंक
बी.ई. या बी.टेक (पेपर-1) के लिए जेईई मेन का पाठ्यक्रम जेईई मेन पेपर 1 पाठ्यक्रम पीडीएफ
बी.आर्क/बी.प्लानिंग (पेपर-2) के लिए जेईई मेन का पाठ्यक्रम जेईई मेन पेपर 2 पाठ्यक्रम पीडीएफ

रसायन विज्ञान के लिए जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 

अब हम रसायन विज्ञान के लिए जेईई मेन का सिलेबस (JEE Main pathyakram) शेयर कर रहे हैं। यहाँ हमने बारी-बारी से रसायन विज्ञान के तीनों भाग - भौतिक रसायन, अकार्बनिक रसायन और कार्बनिक रसायन के पाठ्यक्रम शेयर किए हैं। तो केमिस्ट्री के ये सिलेबस कुछ इस प्रकार हैं:

भौतिक रसायन विज्ञान के लिए जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 (लगभग 35.6% वेटेज )

इकाई 1: रसायन विज्ञान की कुछ मूलभूत अवधारणाएं 

द्रव्य और उसकी प्रकृति, डाल्टन का परमाणु सिद्धांत: परमाणु, अणु, तत्व और यौगिक की अवधारणा: रसायन विज्ञान में भौतिक राशियाँ एवं उनका मापन, परिशुद्धता और यथार्थता, सार्थक अंक, S.I. इकाइयाँ, विमीय विश्लेषण: रासायनिक संयोजन के नियम, परमाणु और आणविक द्रव्यमान, मोल संकल्पना, मोलर द्रव्यमान, प्रतिशत संघटन, मूलानुपाती और आणविक सूत्र: रासायनिक समीकरण और स्टॉइकियोमीट्री

इकाई 2: द्रव्य की अवस्थाएँ

ठोस, द्रव्य और गैसीय अवस्थाओं में पदार्थ का वर्गीकरण। गैसीय अवस्था: गैसों के मापन योग्य गुणधर्म: गैस नियम - बॉयल का नियम, चार्ल्स का नियम, ग्राहम का विसरण का नियम, अवोगाद्रो का नियम, डाल्टन का आंशिक दाब का नियम, परम ताप के मापक्रम की अवधारणा, आदर्श गैस समीकरण, गैसों का अणुगति सिद्धांत (केवल अभिधारणा), औसत की अवधारणा, वर्ग माध्य मूल वेग और अति संभाव्य वेग, वास्तविक गैसें, आदर्श व्यवहार से विचलन, संपीड्यता कारक और वॉन्डरवाल्स समीकरण, द्रव्य अवस्था: द्रव्यों के गुण - वाष्प दाब, श्यानता एवं पृष्ठ तनाव तथा उन पर तापमान का प्रभाव (केवल गुणात्मक उपचार)

ठोस अवस्था: ठोस का वर्गीकरण: आणविक, आयनिक, सहसंयोजक और धात्विक ठोस, अक्रिस्टलीय और क्रिस्टलीय ठोस (प्राथमिक अवधारणा), ब्रैग का नियम और इसके अनुप्रयोग: एकक कोष्ठिका और जालक, ठोस में संकुलन (fcc, bcc और hcp जालक), रिक्तियाँ, एकक कोष्ठिका पैरामीटर से संबंधित गणना, ठोस में अपूर्णताएं, विद्युत और चुंबकीय गुण

इकाई 3: परमाणु संरचना 

थॉमसन तथा रदरफोर्ड परमाणु मॉडल और उनकी सीमाएं, विद्युत चुम्बकीय विकिरण की प्रकृति, प्रकाश विद्युत् प्रभाव, हाइड्रोजन परमाणु का स्पेक्ट्रम, हाइड्रोजन परमाणु का बोर मॉडल - इसकी अभिधारणाएं, इलेक्ट्रॉन की ऊर्जा और विभिन्न कक्षाओं की त्रिज्या के लिए संबंधों की व्युत्पत्ति, बोर के मॉडल की सीमाएं, द्रव्य की द्वैत प्रकृति, दे ब्रॉग्ली संबंध, हाइज़ेनबर्ग अनिश्चितता सिद्धांत, क्वांटम यांत्रिकी की प्रारंभिक अवधारणा, क्वांटम यांत्रिकी, परमाणु का क्वांटम यांत्रिकी मॉडल, इसकी महत्वपूर्ण विशेषताएं, एक-इलेक्ट्रॉन तरंग फलन के रूप में परमाणु कक्षक की अवधारणा: 1s और 2s कक्षकों के लिए r के साथ और 2 की भिन्नता, विभिन्न क्वांटम संख्याएं (मुख्य, कोणीय संवेग और चुंबकीय क्वांटम संख्या) और उनका महत्व, s, p और d - कक्षकों के आकार, इलेक्ट्रॉन प्रचक्रण और प्रचक्रण क्वांटम संख्या: कक्षकों में इलेक्ट्रॉनों को भरने के नियम - ऑफबाऊ सिद्धांत, पाउली का अपवर्जन सिद्धांत और हुंड का नियम, तत्वों का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, अर्ध भरित और पूर्ण भरित कक्षकों की अतिरिक्त स्थिरता

इकाई 4: रासायनिक आबंधन तथा आणविक संरचना

रासायनिक आबंधन की कॉसेल-लूइस अवधारणा, आयनिक और सहसंयोजक आबंधन की अवधारणा, आयनिक आबंधन: आयनिक आबंधों का निर्माण, आयनिक आबंधों के निर्माण को प्रभावित करने वाले कारक, जालक एन्थैल्पी की गणना, सहसंयोजक आबंधन: विद्युतऋणात्मकता की अवधारणा। फायान्स नियम, द्विध्रुवीय आघूर्ण: संयोजकता कोश इलेक्ट्रॉन युग्म प्रतिकर्षण (VSEPR) सिद्धांत और सरल अणुओं के आकार, सहसंयोजक आबंधन के लिए क्वांटम यांत्रिकी दृष्टिकोण: संयोजकता आबंध सिद्धांत, इसकी महत्वपूर्ण विशेषताएं, s, p और d कक्षकों के साथ संकरण की अवधारणा, अनुनाद, आणविक कक्षीय सिद्धांत - इसकी महत्वपूर्ण विशेषताएं, परमाणु कक्षकों का रैखिक संयोग (LCAOs), आणविक कक्षकों के प्रकार (आबंधन, प्रतिआबंधन), सिग्मा और पाई-आबंध, समनाभिकीय द्विपरमाणुक अणुओं का आणविक कक्षक इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, आबंध कोटि की अवधारणा, आबंध लंबाई और आबंध ऊर्जा, धातु आबंधन की प्रारंभिक अवधारणा, हाइड्रोजन आबंधन और इसके अनुप्रयोग

इकाई 5: रासायनिक ऊष्मागतिकी

ऊष्मागतिकी के मूल तत्व: निकाय और परिवेश, विस्तीर्ण और गहन गुण, अवस्था फलन, प्रक्रमों के प्रकार, ऊष्मागतिकी का प्रथम नियम - कार्य की संकल्पना, ऊष्मा आंतरिक ऊर्जा और एन्थैल्पी, ऊष्मा धारिता, मोलर ऊष्मा धारिता; सतत ऊष्मा संकलन का हेस का नियम; बंध वियोजन एन्थैल्पी, दहन, विरचन, कणन, ऊर्ध्वपातन, प्रावस्था संक्रमण, जलयोजन, आयनन और विलयन, ऊष्मागतिकी का द्वितीय नियम - प्रक्रियाओं की स्वतः प्रवर्तिता; स्वतः प्रवर्तिता के मापदंड के रूप में ब्रह्मांड की S और निकाय की G, G (मानक गिब्ज़ ऊर्जा परिवर्तन) और साम्य स्थिरांक

इकाई 6: विलयन 

विलयन की सांद्रता को व्यक्त करने की विभिन्न विधियाँ - मोललता, मोलरता, मोल अंश, प्रतिशत (आयतन और द्रव्यमान दोनों के द्वारा), विलयन का वाष्प दाब तथा राउल्ट का नियम- आदर्श और गैर - आदर्श विलयन, वाष्प दाब - संघटन, आदर्श और अनादर्श विलयन; वाष्प दाब - संघटन, आदर्श और अनादर्श विलयनों के लिए आलेख, तनु विलयनों के अणुसंख्यक गुण - वाष्प दाब का आपेक्षिक अवनमन, हिमांक का अवनमन, क्वथनांक और परासरण दाब का उन्नयन, अणुसंख्यक गुणों का उपयोग करके आणविक द्रव्यमान का निर्धारण, मोलर द्रव्यमान का असामान्य मान, वांट हॉफ गुणांक और इसका महत्व

इकाई 7: साम्यावस्था 

साम्यावस्था का अर्थ, गतिक साम्यावस्था की संकल्पना, भौतिक प्रक्रमों में साम्यावस्था: ठोस - द्रव, द्रव - गैस और ठोस - गैस साम्य, हेनरी का नियम। भौतिक प्रक्रमों को शामिल करने वाली साम्यावस्था की सामान्य विशेषताएं, रासायनिक प्रक्रियाओं में साम्यावस्था: रासायनिक साम्यावस्था का नियम, साम्यावस्था स्थिरांक (kp और kc) और उनका महत्व, रासायनिक साम्यावस्था में G और G का महत्व,साम्यावस्था सांद्रता, दाब, तापमान को प्रभावित करने वाले कारक, उत्प्रेरक का प्रभाव; ला शातेलिए का सिद्धांत, आयनिक साम्यावस्था: दुर्बल और प्रबल विद्युत् - अपघट्य, विद्युत् - अपघट्य का आयनन, अम्ल और क्षार की विभिन्न संकल्पना (आरेनियस, ब्रोंस्टेड - लोरी और लूइस) और उनके आयनन, अम्ल - क्षार साम्यावस्था (बहु -चरण आयनन सहित) और आयनन स्थिरांक, जल का आयनन। ph स्केल, सम आयन प्रभाव, लवण का जल - अपघटन और उनके विलयनों का ph, अल्प विलेय लवणों की विलेयता और विलेयता गुणनफल, बफ़र-विलयन 

इकाई 8: अपचयोपचय अभिक्रिया और विद्युत रसायन

उपचयन और अपचयन अभिक्रियाओं की इलेक्ट्रॉनिक अवधारणा, अपचयोपचय अभिक्रिया, ऑक्सीकरण संख्या, ऑक्सीकरण संख्या निर्धारित करने के लिए नियम, अपचयोपचय (रेडॉक्स) अभिक्रियाओं का संतुलन, विद्युत् - अपघटनी और धात्विक चालन, विद्युत् अपघटनी विलयनों में चालकता, मोलर चालकता और सांद्रता के साथ उनके परिवर्तन: कोलराउश का नियम और इसके अनुप्रयोग, विद्युत रासायनिक सेल - विद्युत अपघटनी और गैल्वेनिक सेल, विभिन्न प्रकार के इलेक्ट्रोड, मानक इलेक्ट्रोड विभव सहित इलेक्ट्रोड विभव, अर्ध - सेल और सेल अभिक्रिया, एक गैल्वेनिक सेल का विद्युत वाहक बल और इसका मापन: नेनर्स्ट समीकरण और इसके अनुप्रयोग; सेल विभव और गिब्स ऊर्जा परिवर्तन के बीच संबंध: शुष्क सेल और लेड संचायक; ईंधन सेल

इकाई 9: रासायनिक बलगतिकी

एक रासायनिक अभिक्रिया की दर, अभिक्रियाओं की दर को प्रभावित करने वाले कारक: सांद्रता, ताप, दाब और उत्प्रेरक; प्रारंभिक और जटिल अभिक्रियाएँ, अभिक्रियाओं की कोटि और आण्विकता, दर नियम, दर स्थिरांक और इसकी इकाई, शून्य और प्रथम कोटि अभिक्रियाओं के अवकलित और समाकलित रूप, उनकी विशेषताएं और अर्ध - आयु, अभिक्रियाओं की दर पर तापमान का प्रभाव, आरेनियस सिद्धांत, सक्रियण ऊर्जा और इसकी गणना, द्विअणुक गैसीय अभिक्रियाओं का संघट्ट सिद्धांत (कोई व्युत्पत्ति नहीं)।

इकाई 10: पृष्ठ रसायन

अधिशोषण - भौतिक अधिशोषण और रासायनिक अधिशोषण और उनके अभिलक्षण, ठोस पर गैसों के अधिशोषण को प्रभावित करने वाले कारक - फ्रॉयन्डलिक और लैंगम्यूर अधिशोषण समतापी, विलयनों से अधिशोषण, उत्प्रेरण - समांगी और विषमांगी, ठोस उत्प्रेरक की सक्रियता और चयनात्मकता, एंजाइम उत्प्रेरण और इसकी क्रियाविधि, कोलॉइडी अवस्था - वास्तविक विलयनों, कोलॉइड और निलंबन के बीच विभेद, कोलॉइडों का वर्गीकरण - द्रवरागी, द्रवविरागी, बहुअणुक, वृहदाणुक और सहचारी कोलॉइड (मिसेल), कोलॉइड का निर्माण और गुण - टिंडल प्रभाव, ब्राउनी गति, वैद्युत कण संचलन, अपोहन, स्कंदन और ऊर्णन: पायस और उनकी विशेषताएं

अकार्बनिक रसायन के लिए जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 (लगभग 32% वेटेज)

इकाई 11: तत्वों का वर्गीकरण और गुणधर्मों में आवर्तिता

आधुनिक आवर्त नियम और आवर्त सारणी का वर्तमान स्वरूप, s, p, d और f ब्लॉक तत्व, आवर्त सारणी में तत्त्वों की आवर्त प्रवृत्ति , परमाणु और आयनिक त्रिज्या, आयनन एन्थैल्पी, इलेक्ट्रॉन लब्धि एन्थैल्पी, संयोजकता, ऑक्सीकरण अवस्था और रासायनिक अभिक्रियाशीलता।

इकाई 12: धातुओं के पृथक्करण के सामान्य सिद्धांत और प्रक्रम

प्रकृति तत्वों- खनिज, अयस्क की प्राप्ति के तरीकें, धातुओं के निष्कर्षण में संबद्ध चरण - सांद्रता, अपचयन (रासायनिक और विद्युत अपघटनी विधि) और Al, Cu, Zn और Fe के निष्कर्षण के विशेष संदर्भ में शोधन, धातुओं के निष्कर्षण में ऊष्मागतिकी और विद्युत रासायनिक सिद्धांत 

इकाई 13: हाइड्रोजन

आवर्त सारणी में हाइड्रोजन का स्थान, समस्थानिक, विरचन, हाइड्रोजन केगुण और उपयोग; जल और भारी जल के भौतिक और रासायनिक गुण; संरचना, विरचन, अभिक्रिया और हाइड्रोजन परॉक्साइड का उपयोग; हाइड्राइड का वर्गीकरण - आयनिक, सहसंयोजक और अंतराकाशीय, हाइड्रोजन एक ईंधन के रूप में हाइड्रोजन।

इकाई 14: S - ब्लॉक के तत्व (क्षार और क्षारीय मृदा धातुएँ)

वर्ग - 1 और 2 के तत्व, सामान्य परिचय, इलेक्ट्रॉनिक विन्यास और तत्वों के भौतिक और रासायनिक गुणों में सामान्य प्रवृत्ति, प्रत्येक वर्ग के पहले तत्व का असंगत व्यवहार, विकर्ण संबंध, कुछ महत्वपूर्ण यौगिकों का विरचन एवं गुण - सोडियम कार्बोनेट, सोडियम हाइड्रॉक्साइड और सोडियम हाइड्रोजन कार्बोनेट, चूने के औद्योगिक उपयोग, चूना पत्थर, प्लास्टर ऑफ पैरिस और सीमेंट: Na, K. Mg और Ca की जैव महत्ता

इकाई 15: p - ब्लॉक के तत्व वर्ग - 13 से वर्ग 18 के तत्व

सामान्य परिचय: इलेक्ट्रॉनिक विन्यास और आवर्त और वर्गों में नीचे की ओर तत्वों के भौतिक और रासायनिक गुणों में सामान्य प्रवृत्तियाँ, प्रथम तत्व का प्रत्येक वर्ग में अद्वितीय व्यवहार, p-ब्लॉक तत्वों का समूहवार अध्ययन - वर्ग - 13, बोरॉन और ऐलुमिनियम का विरचन, गुण और उपयोग, बोरेक्स, बोरिक अम्ल, डाइबोरेन, बोरॉन ट्राइफ्लोराइड, ऐलुमिनियम क्लोराइड एवं एलम (फिटकरी) की संरचना, गुण और उपयोग, समूह - 14, शृंखलन की प्रवृत्ति, अपररूप की संरचना, गुण और उपयोग, कार्बन के ऑक्साइड, सिलिकॉन टेट्राक्लोराइड, सिलिकेट, जिओलाइट और सिलिकॉन, समूह - 15 नाइट्रोजन और फॉस्फोरस के गुण और उपयोग; फॉस्फोरस के अपररूप; अमोनिया, नाइट्रिक अम्ल, फ़ॉस्फीन और फॉस्फोरस हैलाइड का विरचन, गुण, संरचना और उपयोग, (PCl3. PCl5); नाइट्रोजन और फॉस्फोरस के ऑक्साइड और ऑक्सोअम्लों की संरचनाएं। समूह - 16 ओजोन का विरचन, गुण, संरचनाएं और उपयोग, सल्फर के अपररूप; सल्फ्यूरिक अम्ल का विरचन (इसके औद्योगिक विरचन सहित), गुण, संरचना और उपयोग; सल्फर के ऑक्सोअम्लों की संरचनाएं। समूह - 17 हाइड्रोक्लोरिक अम्ल का विरचन, गुण और उपयोग; हाइड्रोजन हैलाइड की अम्लीय प्रकृति में प्रवृत्ति; अंतराहैलोजन यौगिकों और ऑक्साइड की संरचना और हैलोजन के ऑक्सोअम्लों, वर्ग - 18 उत्कृष्ट गैसों की व्युतप्ति और उपयोग; फ्लोराइड की संरचनाएं और जीनॉन के ऑक्साइड।

इकाई 16: d - और f - ब्लॉक के तत्व

संक्रमण तत्व, सामान्य परिचय, इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, व्युतप्ति और विशेषताएं, प्रथम - पंक्ति संक्रमण तत्वों के गुणों में सामान्य रुझान - भौतिक गुण, आयनन एन्थैल्पी, ऑक्सीकरण अवस्था, परमाणु त्रिज्या, रंग, उत्प्रेरक व्यवहार, चुंबकीय गुण, संकुल निर्माण, अंतराकाशी यौगिक, मिश्रधातु का विरचन, K2Cr2O7 और KMnO4 का विरचन, गुण और उपयोग; आंतरिक संक्रमण तत्व लैन्थैनॉइड - इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, ऑक्सीकरण अवस्था और लैन्थैनॉइड संकुचन, एक्टिनॉइड - इलेक्ट्रॉनिक विन्यास और ऑक्सीकरण अवस्था

इकाई 17: उपसहसंयोजन यौगिक

उपसहसंयोजन यौगिकों का परिचय, वर्नर का सिद्धांत, लिगेन्ड , उपसहसंयोजन संख्या, दंतुरता कीलेटीकरण; एकल नाभिकीय उपसहसंयोजन यौगिकों का IUPAC नामपद्धति, समावयवता, आबंध- संयोजकता आबंध अधिगम और क्रिस्टल क्षेत्र सिद्धांत के मूल सिद्धांत, रंग और चुंबकीय गुण, उपसहसंयोजन यौगिकों का महत्व (गुणात्मक विश्लेषण में, धातुओं का निष्कर्षण और जैवीय क्रियाओं में)।

इकाई 18: पर्यावरणीय रसायन

पर्यावरणीय प्रदूषण - वायुमंडलीय, जल और मृदा, वायुमंडलीय प्रदूषण - क्षोभमंडलीय और समतापमंडलीय, क्षोभमंडलीय प्रदूषण - गैसीय प्रदूषक: कार्बन, नाइट्रोजन और सल्फर, हाइड्रोकार्बन के ऑक्साइड; उनके स्रोत, हानिकारक प्रभाव और रोकथाम; ग्रीनहाउस प्रभाव और वैश्विक ऊष्मीकरण: अम्ल वर्षा; कणिकीय प्रदूषक: धुआं, धूल, धूम, धूम्र, धुंध, कोहरा, इनके स्रोत, हानिकारक प्रभाव और रोकथाम, समतापमंडलीय प्रदूषण - ओजोन का निर्माण और विघटन, ओजोन परत का अवक्षय - इसकी क्रियाविधि और प्रभाव, जल प्रदूषण - मुख्य प्रदूषक जैसे रोगजनक, कार्बनिक अपशिष्ट और रासायनिक प्रदूषक; उनके हानिकारक प्रभाव और रोकथाम, मृदा प्रदूषण - मुख्य प्रदूषक जैसे, कीटनाशक (जीवाणुनाशक, शाकनाशी, और कवकनाशी), उनके हानिकारक प्रभाव और रोकथाम। पर्यावरण प्रदूषण को नियंत्रित करने की रणनीतियां

कार्बनिक रसायन के लिए जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 (लगभग 32% वेटेज)

इकाई 19: कार्बनिक यौगिकों का शोधन और अभिलक्षण

शोधन - क्रिस्टलीकरण, ऊर्ध्वपातन, आसवन, विभेदी निष्कर्षण और वर्णलेखिकी - सिद्धांत और उनके अनुप्रयोग। गुणात्मक विश्लेषण - नाइट्रोजन, सल्फर, फॉस्फोरस और हैलोजन की पहचान, मात्रात्मक विश्लेषण (केवल मूल सिद्धांत) - कार्बन, हाइड्रोजन, नाइट्रोजन, हैलोजन, सल्फर, फॉस्फोरस का आकलन, मूलानुपाती सूत्र और अणु सूत्रों की गणना: कार्बनिक मात्रात्मक विश्लेषण में संख्यात्मक समस्या

इकाई 20: कार्बनिक रसायन विज्ञान के कुछ मूल सिद्धांत

कार्बन की चतुःसंयोजकता: सरल अणुओं की आकृति - संकरण (s और p): क्रियात्मक समूहों के आधार पर कार्बनिक यौगिकों का वर्गीकरण: हैलोजन, ऑक्सीजन, नाइट्रोजन और सल्फर युक्त। सजातीय श्रेणी: समावयवता - संरचनात्मक और त्रिविम समावयवता। नामपद्धति (रूढ़ और IUPAC) सहसंयोजी आबंध विखंडन - समलायी और विषम अपघटनी: मुक्त मूलक, कार्बधनायन और कार्बऋणायन; कार्बधनायन और मुक्त मूलक का स्थायित्व, इलेक्ट्रॉनरागी और नाभिकरागी। एक सहसंयोजक आबंध में इलेक्ट्रॉनिक विस्थापन - प्रेरण प्रभाव, वैद्युतसमावयवी प्रभाव, अनुनाद और अतिसंयुग्मन। कार्बनिक अभिक्रियाओं के सामान्य प्रकार: प्रतिस्थापन, योगात्मक, विलोपन और पुन: व्यवस्था 

इकाई 21: हाइड्रोकार्बन

वर्गीकरण, समावयवता, IUPAC नामपद्धति, विरचन की सामान्य विधियाँ, गुण और अभिक्रियाएं, एल्केन - संरूपण: सॉहॉर्स और न्यूमैन प्रक्षेप (एथेन का): एल्केन के हैलोजनीकरण की क्रियाविधि, एल्कीन - ज्यामितीय समावयवता: इलेक्ट्रॉनरागी संयोजन की क्रियाविधि: हाइड्रोजन, हैलोजन, जल, हाइड्रोजन हैलाइड (मार्कोनीकॉफ और परॉक्साइड प्रभाव) का संयोजन: ओजोनी अपघटन और बहुलकीकरण, एल्काइन - अम्लीय गुण: हाइड्रोजन, हैलोजन, जल और हाइड्रोजन हैलाइड का संयोजन: बहुलकीकरण, ऐरोमैटिक हाइड्रोकार्बन -नामपद्धति, बेन्जीन - संरचना और ऐरोमैटिकता: इलेक्ट्रॉनरागी प्रतिस्थापन की क्रियाविधि: हैलोजेनीकरण, नाइट्रीकरण, फ्रीडेल - क्राफ्ट ऐल्किलन और ऐसिलन, मोनो - प्रतिस्थापित बेन्जीन में क्रियात्मक समूह का निर्देशात्मक प्रभाव

इकाई 22: हैलोजन युक्त कार्बनिक यौगिक 

विरचन, गुणों और अभिक्रियाओं के सामान्य विधियाँ; C - X आबंध की प्रकृति, प्रतिस्थापन अभिक्रियाओं की क्रियाविधि, उपयोग, क्लोरोफॉर्म, आयोडोफार्म, फ्रेऑन और DDT के पर्यावरणीय प्रभाव।

इकाई 23: ऑक्सीजन युक्त कार्बनिक यौगिक

विरचन, गुणों, अभिक्रियाओं और उपयोग की सामान्य विधियाँ। एल्कोहॉल, फीनॉल और ईथर, एल्कोहॉल: प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक एल्कोहॉल की पहचान: निर्जलीकरण की क्रियाविधि, फीनॉल: अम्लीय प्रकृति, इलेक्ट्रॉनरागी प्रतिस्थापन अभिक्रियाएं: हैलोजनन, नाइट्रीकरण और सल्फोनेशन, राइमर-टीमन अभिक्रिया, ईथर: संरचना

एल्डिहाइड और कीटोन: कार्बोनिल समूह की प्रकृति, >C=O समूह के साथ नाभिकरागी संयोजन , एल्डिहाइड और कीटोन की सापेक्ष अभिक्रियाशीलता; महत्वपूर्ण अभिक्रियाएँ जैसे - नाभिकरागी संकलन अभिक्रियाएँ ((HCN का संयोजन NH3 और उसके व्युत्पन्न)), ग्रीन्यार अभिकर्मक; ऑक्सीकरण: अपचयन (वोल्फ किशनर और क्लीमेन्सन); - हाइड्रोजन की अम्लता, एल्डोल संघनन, कैनिजारो अभिक्रिया, हैलोफॉर्म अभिक्रिया, एल्डिहाइड और कीटोन के बीच विभेद करने के लिए रासायनिक परीक्षण, कार्बोक्सिलिक अम्ल, अम्लीय सामर्थ्य और इसे प्रभावित करने वाले कारक

इकाई 24: नाइट्रोजन युक्त कार्बनिक यौगिक

विरचन करने की सामान्य विधियाँ, गुण, अभिक्रियाएं और उपयोग, एमीन: नामपद्धति, वर्गीकरण संरचना, क्षारीय गुण और प्राथमिक, द्वितीयक और तृतीयक एमीन और उनके क्षारीय गुण की पहचान, डाइऐजोनियम लवण: संश्लेषित कार्बनिक रसायन में महत्व 

इकाई 25: बहुलक

बहुलकों का सामान्य परिचय और वर्गीकरण, बहुलकीकरण की सामान्य विधि, - संयोजन और संघनन, सहबहुलकन, प्राकृतिक और संश्लेषित, रबर और वल्कनीकरण, अपने एकलक पर बल देने वाले कुछ महत्वपूर्ण बहुलक और उपयोग- पॉलिथीन, नाइलॉन, पॉलिएस्टर और बैकेलाइट

इकाई 26: जैव अणु

जैव अणुओं का सामान्य परिचय और महत्व, कार्बोहाइड्रेट - वर्गीकरण; ऐल्डोस और कीटोस: मोनोसेकैराइड (ग्लूकोज और फ्रुक्टोज ) और ओलिगोसैकेराइड (सुक्रोस, लैक्टोज और माल्टोस) के घटक मोनोसेकैराइड

प्रोटीन - अमीनो अम्ल के प्रारंभिक विचार, पेप्टाइड आबंध, पॉलीपेप्टाइड, प्रोटीन: प्राथमिक, द्वितीयक, तृतीयक और चतुष्क संरचना (केवल गुणात्मक विचार), प्रोटीन, एंजाइम के विकृतीकरण, विटामिन - वर्गीकरण और कार्य, न्यूक्लिक अम्ल - डीएनए (DNA) और आरएनए (RNA) का रासायनिक संघटन, न्यूक्लिक अम्ल के जैविक कार्य

इकाई 27: दैनिक जीवन में रसायन विज्ञान

दवाओं में रसायन - पीड़ाहारी, प्रशांतक, पूतिरोधी, कीटाणुनाशक, प्रतिसूक्ष्मजीवी, प्रति - प्रजनन करने वाली औषधि, प्रतिजैविक, प्रति - अम्ल, प्रतिहिस्टामिन- उनका अर्थ और सामान्य उदाहरण, खाद्य में रसायन - परिरक्षक, कृत्रिम मधुरक कारक - सामान्य उदाहरण, निर्मलन कर्मक- साबुन और अपमार्जक, शोधन क्रिया

इकाई 28: प्रायोगिक रसायन विज्ञान से संबंधित सिद्धांत

कार्बनिक यौगिकों में अतिरिक्त तत्वों (नाइट्रोजन, सल्फर, हैलोजन)की पहचान, निम्नलिखित क्रियात्मक समूहों की पहचान: हाइड्रॉक्सिल (ऐल्कोहॉलिक और फ़ीनॉलिक), कार्बोनिल (एल्डिहाइड और कीटोन), और कार्बनिक यौगिकों में एमीनो समूह,निम्नलिखित के विरचन में शामिल रसायन विज्ञान: अकार्बनिक यौगिक; मोर लवण, पोटाश फिटकरी, कार्बनिक यौगिक: ऐसीटेनिलाइड, p - नाइट्रो ऐसीटेनिलाइड, ऐनिलीन, पीला, आयोडोफॉर्म, अनुमापनमितोय अभ्यास में शामिल रसायन - अम्ल, क्षार और सूचकों के उपयोग, ऑक्सैलिक - अम्ल बनाम KMnO4, मोर लवण बनाम KMnO4, रासायनिक सिद्धांत लवण विश्लेषण में निहित रासायन सिद्धांत: धनायन - Pb2+, Cu2+, Al3+, Fe3+, Zn2+, Ni2+, Ca2+, Ba2+, Mg2+, NH4, ऋणायन - - CO32−, S 2-, SO42−, NO3-, NO2-, Cl-, Br-, I- ( अपवर्जित अविलेय लवण)

निम्नलिखित प्रयोगों में शामिल रासायनिक सिद्धांत: 

  1. CuSO4 के विलयन की एन्थैल्पी।
  2. प्रबल अम्ल और प्रबल क्षार के उदासीनीकरण की एन्थैल्पी।
  3. द्रवरागी और द्रवविरागी सॉल का निर्माण
  4. कमरे के ताप पर हाइड्रोजन परॉक्साइड के साथ आयोडाइड आयनों की अभिक्रिया का गतिज अध्ययन।

गणित के लिए जेईई मेन पाठ्यक्रम 2023 

उम्मीदवार गणित विषय के लिए विस्तृत जेईई मेन 2023 पाठ्यक्रम यहाँ देख सकते हैं :

इकाई 1: समुच्चय, संबंध और फलन:

समुच्चय और उनका निरूपण: सम्मिलन, सर्वनिष्ठ एवं समुच्चयों का पूरक और उनके बीजीय गुणधर्म; घात समुच्चय; संबंध, संबंधों के प्रकार, समतुल्य संबंध, फलन, एकैकी, आंतरिक आच्छादक और आच्छादक फलन, फलनों का संयोजन

इकाई 2: सम्मिश्र संख्या और द्विघात समीकरण:

वास्तविक संख्याओं के क्रमित युग्म के रूप में सम्मिश्र संख्याएँ, a + ib के रूप में सम्मिश्र संख्याओं का निरूपण और एक समतल में उनका निरूपण, आर्गंड आरेख, सम्मिश्र संख्या का बीजगणित, एक सम्मिश्र संख्या का मापांक और कोणांक (या आयाम), सम्मिश्र संख्या का वर्गमूल, त्रिभुज असमिका, वास्तविक संख्या में द्विघात समीकरण और सम्मिश्र संख्या प्रणाली एवं उनके हल, मूल और गुणांक के बीच का संबंध और मूल की प्रकृति, दिए गए मूलों के साथ द्विघात समीकरण का निर्माण

इकाई 3: आव्यूह और सारणिक:

आव्यूह, आव्यूहों का बीजगणित, आव्यूहों के प्रकार, कोटि 2 और 3 वाले सारणिक और आव्यूह, सारणिक के गुणधर्म, सारणिक का मूल्यांकन, सारणिक का प्रयोग करते हुए त्रिभुजों का क्षेत्रफल, सहखंडज और सारणिक और प्रारंभिक रूपांतरण का प्रयोग करके एक वर्ग आव्यूह के व्युत्क्रम का मूल्यांकन, संगतता की जांच और सारणिक और आव्यूहों का प्रयोग करके दो या तीन चरों वाले युगपत् रैखिक समीकरणों के हल

इकाई 4: क्रमचय और संचय

गिनती का मूलभूत सिद्धांत, एक व्यवस्था के रूप में क्रमचय और खंड के रूप में संचय, P (n, r) और C (n, r) का अर्थ, सरल अनुप्रयोग

इकाई 5: गणितीय आगमन

गणितीय आगमन का सिद्धांत और इसके सरल अनुप्रयोग

इकाई 6: द्विपद प्रमेय और इसके सरल अनुप्रयोग:

धनात्मक समाकलन सूचकांक के लिए द्विपद प्रमेय, व्यापक पद और मध्य पद, द्विपद गुणांकों के गुणधर्म और सरल अनुप्रयोग

इकाई 7: अनुक्रम और श्रेणी

समांतर और गुणोत्तर श्रेढ़ी, अंकगणित का निवेशन, दो दी गई संख्याओं के बीच गुणोत्तर माध्य, समांतर माध्य और गुणोत्तर माध्यों के बीच संबंध, विशिष्ट श्रेणी Sn, Sn2, Sn3 के n पदों तक का योग, समांतर - गुणोत्तर श्रेढ़ी।

इकाई 8: सीमा, सांतत्य तथा अवकलनीयता:

वास्तविक - मान फलन, फलनों का बीजगणित, बहुपदों, परिमेय, त्रिकोणमितीय, लघुगणकीय तथा चरघातांकी फलन, प्रतिलोम फलन, सरल फलनों का आलेख, सीमाएँ, सांतत्य तथा अवकलनीयता, दो फलनों के योग, व्यवकलन, गुणनफल और भागफल का अवकलन, त्रिकोणमितीय, प्रतिलोम त्रिकोणमितीय, लघुगणकीय, चरघातांकी, संयुक्त और अस्पष्ट फलनों का अवकलन, दो तक कोटि तक अवकलज, रोले और लैग्रेंज के माध्य मान प्रमेय, अवकलज के अनुप्रयोग, राशियों के परिवर्तन की दर, एकदिष्ट वर्धमान और ह्रासमान फलन, एक चर वाले फलन का उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ, स्पर्श रेखा और अभिलंब 

इकाई 9: समाकलन कलन:

प्रतिअवकलज के रूप में समाकलन, बीजगणित, त्रिकोणमितीय, चरघातांकी और लघुगणकीय फलनों को सम्मिलित करने वाले मूलभूत समाकलन, प्रतिस्थापन विधि, खंडश: विधि और आंशिक भिन्नों में वियोजन विधि द्वारा फलनों का समाकलन, त्रिकोणमितीय सर्वसमिकाओं का प्रयोग करते हुए समाकलन, सरल समाकलनों का मूल्यांकन, निश्चित समाकलन का मूल्यांकन, मानक रूप में सरल वक्रों द्वारा परिबद्ध क्षेत्रों के क्षेत्रफलों का निर्धारण 

इकाई 10: अवकल समीकरण

साधारण अवकल समीकरण, उनकी कोटि और घात, अवकल समीकरण का निर्माण, चरों के पृथक्करण की विधि द्वारा अवकल समीकरण के हल, ?? ?? + ?(?)? = ?(?) प्रकार के समघातीय और रैखिक अवकल समीकरण के हल

इकाई 11: निर्देशांक - ज्यामिति

एक समतल में आयताकार निर्देशांक की कार्तीय पद्धति, दूरी सूत्र, विभाजन सूत्र, बिंदुपथ और इसका समीकरण, अक्षों का स्थानांतरण, एक रेखा की ढाल, समांतर और लंबवत रेखाएँ, निर्देशांक अक्ष पर एक रेखा का अंत: खंड, सरल रेखा, एक रेखा के समीकरणों के विभिन्न रूप, रेखाओं का प्रतिच्छेदन, दो रेखाओं के बीच कोण, तीन रेखाओं के संगामी होने के लिए प्रतिबंध, एक रेखा से एक बिंदु की दूरी, दो रेखाओं के बीच के कोणों के त्रिज्यखंडों द्वारा आंतरिक और बाह्य के समीकरण, केंद्रक के निर्देशांक, त्रिभुज का लंबकेंद्र और परिकेंद्र, दो रेखाओं के प्रतिच्छेदन बिंदु से गुजरने वाली रेखाओं के निकाय का समीकरण, वृत्त, शंकु परिच्छेद एक वृत्त के समीकरण का मानक रूप, वृत्त की त्रिज्या और उसका केंद्र, एक वृत्त का समीकरण जहाँ व्यास के अंत बिंदु दिए गए हैं, एक रेखा का प्रतिच्छेदन बिंदु और एक वृत्त जिसका केंद्र मूल बिंदु पर है, वृत्त की स्पर्श रेखा होने के लिए प्रतिबंध, स्पर्श रेखा का समीकरण, शंकु का परिच्छेदन, मानक रूप में (परवलय, दीर्घवृत्त और अतिपरवलय) शंकु परिच्छेदन के समीकरण, Y = mx + c का स्पर्श रेखा होने के लिए प्रतिबन्ध की स्पर्श रेखा, स्पर्शता के बिंदु

इकाई 12: त्रि-विमीय ज्यामिति

समष्टि में एक बिंदु के निर्देशांक, दो बिंदुओं के बीच की दूरी, विभाजन सूत्र, दिक् अनुपात और दिक् कोसाइन, दो प्रतिच्छेदी रेखाओं के बीच का कोण, विषमतलीय रेखाएँ, दो रेखाओं के बीच की न्यूनतम दूरी और इसका समीकरण, रेखा के विभिन्न रूप और समतल का समीकरण, एक रेखा और एक समतल का प्रतिच्छेदन, सहतलीय रेखाएँ

इकाई 13: सदिशों के बीजगणित

सदिश और अदिश, सदिशों का योग, द्वि-आयामी और त्रि-आयामी समष्टि में एक सदिश के घटक, अदिश और सदिश गुणनफल, अदिश और सदिश त्रि-गुणनफल

इकाई 14: सांख्यिकी और प्रायिकता 

केंद्रीय प्रवृति की माप, माध्य की गणना, माध्यक, वर्गीकृत और अवर्गीकृत आंकड़ों का बहुलक, मानक विचलन की गणना, वर्गीकृत और अवर्गीकृत आँकड़े के लिए प्रसरण और माध्य विचलन की गणना, प्रायिकता : किसी घटना की प्रायिकता, प्रायिकता का योग और गुणन प्रमेय, बेज प्रमेय, यादृच्छिक चर का प्रायिकता वितरण, बर्नोली-अभिप्रयोग और द्विपद बंटन

इकाई 15: त्रिकोणमिति

त्रिकोणमितीय सर्वसमिका और समीकरण, त्रिकोणमितीय फलन, व्युत्क्रम त्रिकोणमितीय फलन और उनके गुण, ऊंचाई और दूरी

इकाई 16: गणितीय विवेचन 

कथन तार्किक संक्रियाएँ ‘और’, ‘या’, ‘⇒’, ‘⇐’, ‘⇔’ , पुनरूक्ति, विरोधोक्ति और विलोम और प्रतिधनात्मक की समझ।

जेईई मेन पेपर 2 पाठ्यक्रम 2023 - बी.आर्क और बी.प्लानिंग

बी.आर्क (पेपर 2A) और बी.प्लानिंग (पेपर 2B) के लिए जेईई मेन पेपर 2 पाठ्यक्रम नीचे दिया गया है:

जेईई मेन पेपर 2 गणित पाठ्यक्रम 2023

इकाई 1: समुच्चय, संबंध और फलन:

समुच्चय और उनका निरूपण: सम्मिलन, सर्वनिष्ठ एवं समुच्चयों का पूरक और उनके बीजीय गुणधर्म; घात समुच्चय; संबंध, संबंधों के प्रकार, समतुल्य संबंध, फलन, एकैकी, आंतरिक आच्छादक और आच्छादक फलन, फलनों का संयोजन

इकाई 2: सम्मिश्र संख्या और द्विघात समीकरण:

वास्तविक संख्याओं के क्रमित युग्म के रूप में सम्मिश्र संख्याएँ, a + ib के रूप में सम्मिश्र संख्याओं का निरूपण और एक समतल में उनका निरूपण, आर्गंड आरेख, सम्मिश्र संख्या का बीजगणित, एक सम्मिश्र संख्या का मापांक और कोणांक (या आयाम), सम्मिश्र संख्या का वर्गमूल, त्रिभुज असमिका, वास्तविक संख्या में द्विघात समीकरण और सम्मिश्र संख्या प्रणाली एवं उनके हल, मूल और गुणांक के बीच का संबंध और मूल की प्रकृति, दिए गए मूलों के साथ द्विघात समीकरण का निर्माण

इकाई 3: आव्यूह और सारणिक:

आव्यूह, आव्यूहों का बीजगणित, आव्यूहों के प्रकार, कोटि 2 और 3 वाले सारणिक और आव्यूह, सारणिक के गुणधर्म, सारणिक का मूल्यांकन, सारणिक का प्रयोग करते हुए त्रिभुजों का क्षेत्रफल, सहखंडज और सारणिक और प्रारंभिक रूपांतरण का प्रयोग करके एक वर्ग आव्यूह के व्युत्क्रम का मूल्यांकन, संगतता की जांच और सारणिक और आव्यूहों का प्रयोग करके दो या तीन चरों वाले युगपत् रैखिक समीकरणों के हल

इकाई 4: क्रमचय और संचय

गिनती का मूलभूत सिद्धांत, एक व्यवस्था के रूप में क्रमचय और खंड के रूप में संचय, P (n, r) और C (n, r) का अर्थ, सरल अनुप्रयोग

इकाई 5: गणितीय आगमन

गणितीय आगमन का सिद्धांत और इसके सरल अनुप्रयोग

इकाई 6: द्विपद प्रमेय और इसके सरल अनुप्रयोग:

धनात्मक समाकलन सूचकांक के लिए द्विपद प्रमेय, व्यापक पद और मध्य पद, द्विपद गुणांकों के गुणधर्म और सरल अनुप्रयोग

इकाई 7: अनुक्रम और श्रेणी

समांतर और गुणोत्तर श्रेढ़ी, अंकगणित का निवेशन, दो दी गई संख्याओं के बीच गुणोत्तर माध्य, समांतर माध्य और गुणोत्तर माध्यों के बीच संबंध, विशिष्ट श्रेणी Sn, Sn2, Sn3 के n पदों तक का योग, समांतर - गुणोत्तर श्रेढ़ी।

इकाई 8: सीमा, सांतत्य तथा अवकलनीयता:

वास्तविक - मान फलन, फलनों का बीजगणित, बहुपदों, परिमेय, त्रिकोणमितीय, लघुगणकीय तथा चरघातांकी फलन, प्रतिलोम फलन, सरल फलनों का आलेख, सीमाएँ, सांतत्य तथा अवकलनीयता, दो फलनों के योग, व्यवकलन, गुणनफल और भागफल का अवकलन, त्रिकोणमितीय, प्रतिलोम त्रिकोणमितीय, लघुगणकीय, चरघातांकी, संयुक्त और अस्पष्ट फलनों का अवकलन, दो तक कोटि तक अवकलज, रोले और लैग्रेंज के माध्य मान प्रमेय, अवकलज के अनुप्रयोग, राशियों के परिवर्तन की दर, एकदिष्ट वर्धमान और ह्रासमान फलन, एक चर वाले फलन का उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ, स्पर्श रेखा और अभिलंब 

इकाई 9: समाकलन कलन:

प्रतिअवकलज के रूप में समाकलन, बीजगणित, त्रिकोणमितीय, चरघातांकी और लघुगणकीय फलनों को सम्मिलित करने वाले मूलभूत समाकलन, प्रतिस्थापन विधि, खंडश: विधि और आंशिक भिन्नों में वियोजन विधि द्वारा फलनों का समाकलन, त्रिकोणमितीय सर्वसमिकाओं का प्रयोग करते हुए समाकलन, निम्न प्रकार के सरल समाकलनों का मूल्यांकन:

व्यवकलन की सीमा के रूप में समाकलन, कलन का मूल प्रमेय, निश्चित समाकलन के गुणधर्म, निश्चित समाकलन का मूल्यांकन, मानक रूप में सरल वक्रों द्वारा परिबद्ध क्षेत्रों के क्षेत्रफलों का निर्धारण 

इकाई 10: अवकल समीकरण

साधारण अवकल समीकरण, उनकी कोटि और घात, अवकल समीकरण का निर्माण, चरों के पृथक्करण की विधि द्वारा अवकल समीकरण के हल, ?? ?? + ?(?)? = ?(?) प्रकार के समघातीय और रैखिक अवकल समीकरण के हल

इकाई 11: निर्देशांक - ज्यामिति

एक समतल में आयताकार निर्देशांक की कार्तीय पद्धति, दूरी सूत्र, विभाजन सूत्र, बिंदुपथ और इसका समीकरण, अक्षों का स्थानांतरण, एक रेखा की ढाल, समांतर और लंबवत रेखाएँ, निर्देशांक अक्ष पर एक रेखा का अंत: खंड, सरल रेखा, एक रेखा के समीकरणों के विभिन्न रूप, रेखाओं का प्रतिच्छेदन, दो रेखाओं के बीच कोण, तीन रेखाओं के संगामी होने के लिए प्रतिबंध, एक रेखा से एक बिंदु की दूरी, दो रेखाओं के बीच के कोणों के त्रिज्यखंडों द्वारा आंतरिक और बाह्य के समीकरण, केंद्रक के निर्देशांक, त्रिभुज का लंबकेंद्र और परिकेंद्र, दो रेखाओं के प्रतिच्छेदन बिंदु से गुजरने वाली रेखाओं के निकाय का समीकरण

वृत्त, शंकु परिच्छेद एक वृत्त के समीकरण का मानक रूप, वृत्त की त्रिज्या और उसका केंद्र, एक वृत्त का समीकरण जहाँ व्यास के अंत बिंदु दिए गए हैं, एक रेखा का प्रतिच्छेदन बिंदु और एक वृत्त जिसका केंद्र मूल बिंदु पर है, वृत्त की स्पर्श रेखा होने के लिए प्रतिबंध, स्पर्श रेखा का समीकरण, शंकु का परिच्छेदन, मानक रूप में (परवलय, दीर्घवृत्त और अतिपरवलय) शंकु परिच्छेदन के समीकरण, Y = mx + c का स्पर्श रेखा होने के लिए प्रतिबन्ध की स्पर्श रेखा, स्पर्शता के बिंदु

इकाई 12: त्रि - विमीय ज्यामिति

समष्टि में एक बिंदु के निर्देशांक, दो बिंदुओं के बीच की दूरी, विभाजन सूत्र, दिक् अनुपात और दिक् कोसाइन, दो प्रतिच्छेदी रेखाओं के बीच का कोण, विषमतलीय रेखाएँ, दो रेखाओं के बीच की न्यूनतम दूरी और इसका समीकरण, रेखा के विभिन्न रूप और समतल का समीकरण, एक रेखा और एक समतल का प्रतिच्छेदन, सहतलीय रेखाएँ

इकाई 13: सदिशों के बीजगणित

सदिश और अदिश, सदिशों का योग, द्वि-आयामी और त्रि-आयामी समष्टि में एक सदिश के घटक, अदिश और सदिश गुणनफल, अदिश और सदिश त्रि-गुणनफल

इकाई 14: सांख्यिकी और प्रायिकता 

केंद्रीय प्रवृति की माप, माध्य की गणना, माध्यक, वर्गीकृत और अवर्गीकृत आंकड़ों का बहुलक, मानक विचलन की गणना, वर्गीकृत और अवर्गीकृत आँकड़े के लिए प्रसरण और माध्य विचलन की गणना, प्रायिकता : किसी घटना की प्रायिकता, प्रायिकता का योग और गुणन प्रमेय, बेज प्रमेय, यादृच्छिक चर का प्रायिकता वितरण, बर्नोली-अभिप्रयोग और द्विपद बंटन

इकाई 15: त्रिकोणमिति

त्रिकोणमितीय सर्वसमिका और समीकरण, त्रिकोणमितीय फलन, व्युत्क्रम त्रिकोणमितीय फलन और उनके गुण, ऊंचाई और दूरी

इकाई 16: गणितीय विवेचन 

कथन तार्किक संक्रियाएँ ‘और’, ‘या’, ‘⇒’, ‘⇐’, ‘⇔’ , पुनरूक्ति, विरोधोक्ति और विलोम और प्रतिधनात्मक की समझ।

जेईई मेन पेपर 2 ऐप्टिट्यूड टेस्ट पाठ्यक्रम 2023 

इकाई -1 व्यक्तियों, भवन, सामग्री, वस्तु, वास्तुकला से संबंधित बनावट की जागरूकता और द्वि-विमीय ड्रॉइंग से त्रि-विमीय वस्तुओं को विज़ुअलाइज़ करके एनवायरनमेंट निर्माण करना, विज़ुअलाइज़िंग, त्रि-विमीय वस्तुओं के विभिन्न पक्ष, विश्लेषणात्मक तर्क मानसिक क्षमता (विज़ुअल, संख्यात्मक और मौखिक) ।

इकाई- 2 त्रि-विमीय-बोध: वस्तुओं के स्केल और अनुपात को समझना और उनकी सराहना करना, भवन रूपों और अवयवों, रंग के बनावट का सामंजस्य और पेंसिल से ज्यामितीय या अमूर्त आकृतियों और पैटर्न का कॉन्ट्रास्ट डिजाइन बनाना और ड्राइंग बनाना, 2D और 3D यूनियन दोनों में रूपों का परिवर्तन, सब्स्ट्रेक्शन रोटेशन, पृष्ठों और आयतनों का विकास, योजनाओं का निर्माण, उन्नयन और वस्तुओं के 3D दृश्य, दिए गए आकृतियों और रूपों का उपयोग करके द्वि-विमीय और त्रि-विमीय आकृति बनाना।

जेईई मेन पेपर 2 ड्राइंग पाठ्यक्रम 2023

अर्बनस्केप (सार्वजनिक स्थान, बाजार, त्यौहार, सड़क के दृश्य, स्मारक, मनोरंजक स्थान आदि) की स्मृति से दृश्यों और गतिविधियों का स्केचिंग। लैंडस्केप (नदी के किनारे, जंगल, बगीचे, पेड़, पौधे आदि) और ग्रामीण जीवन। एक ड्राइंग शीट में बनाया जाना है।

नोट: उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि परीक्षा केंद्र में अपनी पेंसिल लेकर आएं: ड्राइंग टेस्ट के लिए उनका अपना ज्योमेट्री बॉक्स सेट, क्रेस्ट और कलर पेंसिल और क्रेयॉन लेकर आएं।

जेईई मेन पेपर 2 पाठ्यक्रम 2023 - बी.प्लानिंग

जेईई मेन पेपर 2 पाठ्यक्रम 2023 - बी.प्लानिंग का पाठ्यक्रम नीचे दिया गया है:

जेईई मेन पेपर 2 गणित पाठ्यक्रम 2023

इकाई 1: समुच्चय, संबंध और फलन: समुच्चय और उनका निरूपण: सम्मिलन, सर्वनिष्ठ एवं समुच्चयों का पूरक और उनके बीजीय गुणधर्म; घात समुच्चय; संबंध, संबंधों के प्रकार, समतुल्य संबंध, फलन, एकैकी, आंतरिक आच्छादक और आच्छादक फलन, फलनों का संयोजन

इकाई 2: सम्मिश्र संख्या और द्विघात समीकरण: वास्तविक संख्याओं के क्रमित युग्म के रूप में सम्मिश्र संख्याएँ, a + ib के रूप में सम्मिश्र संख्याओं का निरूपण और एक समतल में उनका निरूपण, आर्गंड आरेख, सम्मिश्र संख्या का बीजगणित, एक सम्मिश्र संख्या का मापांक और कोणांक (या आयाम), सम्मिश्र संख्या का वर्गमूल, त्रिभुज असमिका, वास्तविक संख्या में द्विघात समीकरण और सम्मिश्र संख्या प्रणाली एवं उनके हल, मूल और गुणांक के बीच का संबंध और मूल की प्रकृति, दिए गए मूलों के साथ द्विघात समीकरण का निर्माण

इकाई 3: आव्यूह और सारणिक: आव्यूह, आव्यूहों का बीजगणित, आव्यूहों के प्रकार, कोटि 2 और 3 वाले सारणिक और आव्यूह, सारणिक के गुणधर्म, सारणिक का मूल्यांकन, सारणिक का प्रयोग करते हुए त्रिभुजों का क्षेत्रफल, सहखंडज और सारणिक और प्रारंभिक रूपांतरण का प्रयोग करके एक वर्ग आव्यूह के व्युत्क्रम का मूल्यांकन, संगतता की जांच और सारणिक और आव्यूहों का प्रयोग करके दो या तीन चरों वाले युगपत् रैखिक समीकरणों के हल

इकाई 4: क्रमचय और संचय: गिनती का मूलभूत सिद्धांत, एक व्यवस्था के रूप में क्रमचय और खंड के रूप में संचय, P (n, r) और C (n, r) का अर्थ, सरल अनुप्रयोग

इकाई 5: गणितीय आगमन: गणितीय आगमन का सिद्धांत और इसके सरल अनुप्रयोग

इकाई 6: द्विपद प्रमेय और इसके सरल अनुप्रयोग: धनात्मक समाकलन सूचकांक के लिए द्विपद प्रमेय, व्यापक पद और मध्य पद, द्विपद गुणांकों के गुणधर्म और सरल अनुप्रयोग

इकाई 7: अनुक्रम और श्रेणी: समांतर और गुणोत्तर श्रेढ़ी, अंकगणित का निवेशन, दो दी गई संख्याओं के बीच गुणोत्तर माध्य, समांतर माध्य और गुणोत्तर माध्यों के बीच संबंध, विशिष्ट श्रेणी Sn, Sn2, Sn3 के n पदों तक का योग, समांतर - गुणोत्तर श्रेढ़ी।

इकाई 8: सीमा, सांतत्य तथा अवकलनीयता: वास्तविक - मान फलन, फलनों का बीजगणित, बहुपदों, परिमेय, त्रिकोणमितीय, लघुगणकीय तथा चरघातांकी फलन, प्रतिलोम फलन, सरल फलनों का आलेख, सीमाएँ, सांतत्य तथा अवकलनीयता, दो फलनों के योग, व्यवकलन, गुणनफल और भागफल का अवकलन, त्रिकोणमितीय, प्रतिलोम त्रिकोणमितीय, लघुगणकीय, चरघातांकी, संयुक्त और अस्पष्ट फलनों का अवकलन, दो तक कोटि तक अवकलज, रोले और लैग्रेंज के माध्य मान प्रमेय, अवकलज के अनुप्रयोग, राशियों के परिवर्तन की दर, एकदिष्ट वर्धमान और ह्रासमान फलन, एक चर वाले फलन का उच्चिष्ठ और निम्निष्ठ, स्पर्श रेखा और अभिलंब 

इकाई 9: समाकलन कलन: प्रतिअवकलज के रूप में समाकलन, बीजगणित, त्रिकोणमितीय, चरघातांकी और लघुगणकीय फलनों को सम्मिलित करने वाले मूलभूत समाकलन, प्रतिस्थापन विधि, खंडश: विधि और आंशिक भिन्नों में वियोजन विधि द्वारा फलनों का समाकलन, त्रिकोणमितीय सर्वसमिकाओं का प्रयोग करते हुए समाकलन, निम्न प्रकार के सरल समाकलनों का मूल्यांकन:

व्यवकलन की सीमा के रूप में समाकलन, कलन का मूल प्रमेय, निश्चित समाकलन के गुणधर्म, निश्चित समाकलन का मूल्यांकन, मानक रूप में सरल वक्रों द्वारा परिबद्ध क्षेत्रों के क्षेत्रफलों का निर्धारण 

इकाई 10: अवकल समीकरण: साधारण अवकल समीकरण, उनकी कोटि और घात, अवकल समीकरण का निर्माण, चरों के पृथक्करण की विधि द्वारा अवकल समीकरण के हल, ?? ?? + ?(?)? = ?(?) प्रकार के समघातीय और रैखिक अवकल समीकरण के हल

इकाई 11: निर्देशांक - ज्यामिति: एक समतल में आयताकार निर्देशांक की कार्तीय पद्धति, दूरी सूत्र, विभाजन सूत्र, बिंदुपथ और इसका समीकरण, अक्षों का स्थानांतरण, एक रेखा की ढाल, समांतर और लंबवत रेखाएँ, निर्देशांक अक्ष पर एक रेखा का अंत: खंड, सरल रेखा, एक रेखा के समीकरणों के विभिन्न रूप, रेखाओं का प्रतिच्छेदन, दो रेखाओं के बीच कोण, तीन रेखाओं के संगामी होने के लिए प्रतिबंध, एक रेखा से एक बिंदु की दूरी, दो रेखाओं के बीच के कोणों के त्रिज्यखंडों द्वारा आंतरिक और बाह्य के समीकरण, केंद्रक के निर्देशांक, त्रिभुज का लंबकेंद्र और परिकेंद्र, दो रेखाओं के प्रतिच्छेदन बिंदु से गुजरने वाली रेखाओं के निकाय का समीकरण, वृत्त, शंकु परिच्छेद एक वृत्त के समीकरण का मानक रूप, वृत्त की त्रिज्या और उसका केंद्र, एक वृत्त का समीकरण जहाँ व्यास के अंत बिंदु दिए गए हैं, एक रेखा का प्रतिच्छेदन बिंदु और एक वृत्त जिसका केंद्र मूल बिंदु पर है, वृत्त की स्पर्श रेखा होने के लिए प्रतिबंध, स्पर्श रेखा का समीकरण, शंकु का परिच्छेदन, मानक रूप में (परवलय, दीर्घवृत्त और अतिपरवलय) शंकु परिच्छेदन के समीकरण, Y = mx + c का स्पर्श रेखा होने के लिए प्रतिबन्ध की स्पर्श रेखा, स्पर्शता के बिंदु

इकाई 12: त्रि - विमीय ज्यामिति: समष्टि में एक बिंदु के निर्देशांक, दो बिंदुओं के बीच की दूरी, विभाजन सूत्र, दिक् अनुपात और दिक् कोसाइन, दो प्रतिच्छेदी रेखाओं के बीच का कोण, विषमतलीय रेखाएँ, दो रेखाओं के बीच की न्यूनतम दूरी और इसका समीकरण, रेखा के विभिन्न रूप और समतल का समीकरण, एक रेखा और एक समतल का प्रतिच्छेदन, सहतलीय रेखाएँ

इकाई 13: सदिशों के बीजगणित: सदिश और अदिश, सदिशों का योग, द्वि-आयामी और त्रि-आयामी समष्टि में एक सदिश के घटक, अदिश और सदिश गुणनफल, अदिश और सदिश त्रि-गुणनफल

इकाई 14: सांख्यिकी और प्रायिकता: केंद्रीय प्रवृति की माप, माध्य की गणना, माध्यक, वर्गीकृत और अवर्गीकृत आंकड़ों का बहुलक, मानक विचलन की गणना, वर्गीकृत और अवर्गीकृत आँकड़े के लिए प्रसरण और माध्य विचलन की गणना, प्रायिकता : किसी घटना की प्रायिकता, प्रायिकता का योग और गुणन प्रमेय, बेज प्रमेय, यादृच्छिक चर का प्रायिकता वितरण, बर्नोली-अभिप्रयोग और द्विपद बंटन

इकाई 15: त्रिकोणमिति: त्रिकोणमितीय सर्वसमिका और समीकरण, त्रिकोणमितीय फलन, व्युत्क्रम त्रिकोणमितीय फलन और उनके गुण, ऊंचाई और दूरी

इकाई 16: गणितीय विवेचन: कथन तार्किक संक्रियाएँ ‘और’, ‘या’, ‘⇒’, ‘⇐’, ‘⇔’ , पुनरूक्ति, विरोधोक्ति और विलोम और प्रतिधनात्मक की समझ।

जेईई मेन पेपर 2 ऐप्टिट्यूड टेस्ट पाठ्यक्रम 2023 

इकाई -1 व्यक्तियों, भवन, सामग्री, वस्तु, वास्तुकला से संबंधित बनावट की जागरूकता और द्वि-विमीय ड्रॉइंग से त्रि-विमीय वस्तुओं को विज़ुअलाइज़ करके एनवायरनमेंट निर्माण करना, विज़ुअलाइज़िंग, त्रि-विमीय वस्तुओं के विभिन्न पक्ष, विश्लेषणात्मक तर्क मानसिक क्षमता (विज़ुअल, संख्यात्मक और मौखिक) ।

इकाई- 2 त्रि-विमीय-बोध: वस्तुओं के स्केल और अनुपात को समझना और उनकी सराहना करना, भवन रूपों और अवयवों, रंग के बनावट का सामंजस्य और पेंसिल से ज्यामितीय या अमूर्त आकृतियों और पैटर्न का कॉन्ट्रास्ट डिजाइन बनाना और ड्राइंग बनाना, 2D और 3D यूनियन दोनों में रूपों का परिवर्तन, सब्स्ट्रेक्शन रोटेशन, पृष्ठों और आयतनों का विकास, योजनाओं का निर्माण, उन्नयन और वस्तुओं के 3D दृश्य, दिए गए आकृतियों और रूपों का उपयोग करके द्वि-विमीय और त्रि-विमीय आकृति बनाना।

जेईई मेन पेपर 2 प्लानिंग पाठ्यक्रम 2023

इकाई-1 सामान्य जागरूकता

प्रमुख शहरों के बारे में सामान्य ज्ञान के प्रश्न और ज्ञान, विकास के मुद्दे, सरकारी कार्यक्रम आदि।

इकाई-2 सामजिक विज्ञान

राष्ट्रवाद का विचार, भारत में राष्ट्रवाद, पूर्व-आधुनिक दुनिया, 19वीं सदी की वैश्विक अर्थव्यवस्था, उपनिवेशवाद और औपनिवेशिक शहर, औद्योगीकरण, संसाधन और विकास, संसाधनों के प्रकार, कृषि, जल, खनिज संसाधन, उद्योग, राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था, मानव बस्तियों की शक्ति -साझाकरण, संघवाद, राजनीतिक दल, लोकतंत्र, भारत का संविधान आर्थिक विकास- आर्थिक क्षेत्र, वैश्वीकरण, विकास की अवधारणा, गरीबी, जनसंख्या संरचना, सामाजिक बहिष्कार और असमानता, शहरीकरण, ग्रामीण विकास, औपनिवेशिक शहर

इकाई-3 चिंतन कौशल 

गद्यांश (अपठित गद्यांश), नक्शा पढ़ने का कौशल, पैमाना, दूरी, दिशा, क्षेत्र आदि, महत्वपूर्ण तर्क, चार्ट, ग्राफ और तालिकाओं की समझ, सांख्यिकी की बुनियादी अवधारणाएं और मात्रात्मक तर्कशक्ति 

जेईई मेन 2023 परीक्षा ब्लूप्रिंट

किसी भी परीक्षा के पैटर्न को समझने के लिए ब्लूप्रिंट सहायक हो सकता है। दरअसल, ब्लूप्रिंट के जरिये जेईई परीक्षा में पूछे जाने वाले सवालों व अंकों के विभाजन के बारे में जानकारी मिल सकती है। इसके साथ ही साथ कैंडिडेट्स को आईआईटी जेईई मेंस परीक्षा के महत्वपूर्ण टॉपिक्स के बारे में भी जानकारी मिल सकती है, जिसके आधार पर उम्मीदवार अपनी तैयारी को और बेहतर कर सकते हैं। ऐसे में यहाँ हम जेईई मेन परीक्षा 2023 के लिए विषयवार ब्लूप्रिंट शेयर कर रहे हैं, जो कुछ इस प्रकार है:  

भौतिकी के लिए जेईई मेन 2023 का वेटेज

जेईई मेन के लिए भौतिकी के लिए महत्वपूर्ण के टॉपिक (पिछले वर्ष के आंकड़ों के अनुसार अंक-वार वेटेज)

टॉपिक वेटेज
स्थिरवैद्युत 9
ऊष्मागतिकी 8
तरंगों की गति 7
घूर्णन गति 7
गति के नियम 6
किरण प्रकाशिकी 6
धारा और चुंबकत्व का चुंबकीय प्रभाव 6
सरल आवर्त गति 5
तरंग प्रकाशिकी 5
एक विमीय त्रुटियाँ 4
कार्य, ऊर्जा, शक्ति 4
आधुनिक भौतिकी 4
विद्युत धारा 4
वैद्युतचुंबकीय प्रेरण 3
नाभिक की भौतिकी 3
तरल 2
गुरुत्वाकर्षण 2
प्रत्यास्थता 2
ठोस और अर्धचालक उपकरण 2
द्रव्यमान, आवेग और संवेग का केंद्र 2
गैसों का गतिज सिद्धांत 2
रेडियोधर्मिता 2
प्रत्यावर्ती धारा 1
वैद्युतचुंबकीय तरंगें 1

रसायन विज्ञान के लिए जेईई मेन 2023 वेटेज 

जेईई मेन के लिए रसायन विज्ञान के महत्वपूर्ण टॉपिक (पिछले वर्ष के आंकड़ों के अनुसार अंक-वार वेटेज)

टॉपिक वेटेज
सामन्य कार्बनिक रसायन 9
ऐल्कोहॉल, फीनॉल और ईथर 7
अपचयोपचय अभिक्रिया 6
रासायनिक आबंधन 5
उपसहसंयोजन यौगिक 5
P-ब्लॉक तत्व 5
S-ब्लॉक तत्व 5
ऐल्डिहाइड और कीटोन 5
विलयन 5
ठोस अवस्था 5
रासायनिक ऊष्मागतिकी 5
आयनिक साम्यावस्था 3
रासायनिक साम्यावस्था 3
पृष्ठ रसायन 3
परमाणु संरचना 2
गैसीय अवस्था 2
संक्रमण तत्त्व 2
बहुलक 2
नाभिकीय रसायन 2
रासायनिक बलगतिकी 2
मोल संकल्पनाएँ 2
ऐमीन और डाइएजोनियम लवण 2
जैव अणु 2
एल्केन, एल्कीन और एल्काइन 2
वैद्युतरसायन 2

जेईई मेन 2023 गणित सिलेबस टॉपिक वार वेटेज के साथ

जेईई मेन के लिए गणित के महत्वपूर्ण टॉपिक (पिछले वर्ष के आंकड़ों के अनुसार अंक-वार वेटेज)

टॉपिक वेटेज
निर्देशांक ज्यामिति 5
सम्मिश्र संख्याएँ और द्विघात समीकरण 3
समाकलन कलन 3
त्रिविमीय ज्यामिति 3
आव्यूह और सारणिक 2
अनुक्रम और श्रेणी 2
सांख्यिकी और प्रायिकता 2
त्रिकोणमिति 2
समुच्चय, संबंध और फलन 1
क्रमचय और संचय 1
गणितीय आगमन 1
द्विपद प्रमेय और इसके सरल अनुप्रयोग 1
सीमा, सांतत्य तथा अवकलनीयता 1
अवकल समीकरण 1
सदिशों के बीजगणित 1
गणितीय विवेचन 1

जेईई मेन के लिए, छात्रों को निम्नलिखित प्रयोगों और गतिविधियों के आधार पर मूल दृष्टिकोण और प्रेक्षणों से परिचित होना चाहिए:

  1. वर्नियर कैलिपर्स- इसका उपयोग किसी पात्र के आंतरिक और बाहरी व्यास और गहराई को मापने के लिए किया जाता है।
  2. स्क्रू गेज - पतली चादर/तार की मोटाई/व्यास निर्धारित करने के लिए इसका उपयोग।
  3. सरल लोलक- आयाम और समय के वर्ग के बीच एक ग्राफ के आरेखन में ऊर्जा का क्षय।
  4. मीटर स्केल - आघूर्ण के सिद्धांत द्वारा दी गई वस्तु का द्रव्यमान।
  5. धातु के तार के पदार्थ की प्रत्यास्थता का यंग मापांक।
  6. केशिका वृद्धि और अपमार्जकों के प्रभाव से जल का पृष्ठीय तनाव।
  7. किसी दिए गए गोलीय पिंड के अंतिम वेग को मापकर किसी दिए गए श्यान तरल की श्यानता का गुणांक।
  8. एक गर्म पिंड के तापमान और समय के बीच संबंध के लिए एक शीतलन वक्र का आरेखन।
  9. किसी अनुनाद नली का उपयोग करके कमरे के तापमान पर वायु में ध्वनि की चाल।
  10. मिश्रण की विधि द्वारा दिए गए (i) ठोस और (ii) तरल की विशिष्ट ऊष्मा धारिता।
  11. मीटर सेतु का प्रयोग करके किसी दिए गए तार के पदार्थ की प्रतिरोधकता।
  12. ओम के नियम का प्रयोग करके किसी दिए गए तार का प्रतिरोध।
  13. पोटेंशियोमीटर (i) दो प्राथमिक सेलों के विद्युत् वाहक बल की तुलना और (ii) एक सेल के आंतरिक प्रतिरोध का निर्धारण।
  14. अर्ध विक्षेपण विधि द्वारा गैल्वेनोमीटर का प्रतिरोध और योग्यता का दक्षताँक।
  15. लम्बन विधि का उपयोग करके (i) उत्तल दर्पण, (ii) अवतल दर्पण, और (ii) उत्तल लेंस की फोकस दूरी।
  16. एक त्रिकोणीय प्रिज्म के लिए विचलन कोण बनाम आपतन कोण का आरेख।
  17. चल सूक्ष्मदर्शी का उपयोग करते हुए काँच के स्लैब का अपवर्तनांक।
  18. एक p-n संधि डायोड के अग्रदिशिक और पश्चदिशिक बायस में अभिलक्षणिक वक्र।
  19. जेनर डायोड के अभिलक्षणिक वक्र और व्युत्क्रम भंजन वोल्टता की पहचान।
  20. एक ट्रांजिस्टर की अभिलक्षणिक वक्र और धारा लब्धि और वोल्टता लब्धि का पता लगाना।
  21. डायोड, LED, ट्रांजिस्टर, IC, प्रतिरोधक की पहचान करना। ऐसी वस्तुओं के मिश्रित संग्रह से संधारित्र।
  22. निम्न के लिए मल्टीमीटर का उपयोग:
    (i) ट्रांजिस्टर के आधार की पहचान करें (ii) NPN और PNP प्रकार ट्रांजिस्टर के बीच अंतर (iii) डायोड और LED की स्थिति में एकीदिशीय धारा देखें। (iv) किसी दिए गए इलेक्ट्रॉनिक घटक (डायोड, ट्रांजिस्टर या IC) की यथार्थता या अन्यथा की जाँच करें।

स्रोत :https://jeemain.nta.nic.in/

जेईई मेन 2023 स्कोर बढ़ाने के लिए अध्ययन योजना

Study Plan to Maximise Score

जेईई मेन भारत में इंजीनियरिंग के लिए सबसे कठिन प्रतियोगी परीक्षाओं में से एक है। इस प्रकार, उम्मीदवारों को परीक्षा को पास करने और आईआईटी, एनआईटी आदि के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए अपनी तैयारी को रणनीतिपूर्ण बनाने की आवश्यकता है। हम आपको जेईई मेन परीक्षा को क्रैक करने और व्यवहार आधारित अध्ययन योजना बनाने के लिए सबसे प्रभावी टिप्स, ट्रिक्स और रणनीति देकर आपकी मदद करेंगे।

जेईई मेन के सभी विषयों की तैयारी के लिए टिप्स

यहां सबसे प्रभावी जेईई मेन 2023 तैयारी टिप्स और रणनीतियां दी गई हैं जिन्हें एग्जाम में हिस्सा लेने वाले उम्मीदवार अपना सकते हैं:

  1. महत्वपूर्ण कॉन्सेप्ट क्रैक करने के लिए: विभिन्न टॉपिक के महत्व का पता लगाएं और उस जानकारी को शामिल करते हुए एक स्टडी प्लान बनाएं।
  2. जेईई मेन की सर्वश्रेष्ठ पुस्तकों का संदर्भ लें: स्कूल में सीखने के अलावा, उपलब्ध सर्वोत्तम पुस्तकों को देखें और विभिन्न स्रोतों से कॉन्सेप्ट को समझने का प्रयास करें। इससे आप कॉन्सेप्ट आधारित प्रश्नों को आसानी से हल कर पाएंगे। हमेशा याद रखें कि समझकर पढ़ने से ज्यादा फायदा हो सकता है। दरअसल, समझकर पढ़ने से पढ़ा गया टॉपिक ज्यादा दिनों तक याद रह सकता है। इसलिए याद करने से ज्यादा समझने या समझकर याद करने को प्राथमिकता दें।
  3. पेपर पैटर्न को जानें: किसी भी बदलाव के बारे में खुद को सूचित रखें, यह नवीनतम परीक्षा पेपर के पैटर्न में भी हो सकता है, यह सुनिश्चित करें कि आपको परीक्षा के दिन पेपर में आने वाले सभी प्रश्नों की पूर्णतः जानकारी हो। नवीनतम पैटर्न के अनुसार समय का ट्रैक रखने का अभ्यास करें, ताकि आप परीक्षा के दौरान प्रश्नों को दिए गए समय में आसानी से हल कर सकें। हमेशा ध्यान रखें कि परीक्षा पैटर्न को समझना व जानना जरुरी है, तभी आप कोई भी एग्जाम क्रैक कर सकते हैं।
  4. समय प्रबंधन: एक कठिन प्रश्न पर समय बिताने बनाम कई आसान प्रश्नों का उत्तर देने संबंधी मूल्यों की पहचान करना जो आपके उच्च और निम्न स्कोर के बीच का अंतर हो सकता है। यदि कोई प्रश्न बहुत कठिन है, तो अगले प्रश्न पर जाएं तथा उसे हल करने का प्रयास करें और यदि आपके पास अंत में समय बचे तो उस प्रश्न पर दोबारा वापस आएँ। याद रखें कि समय काफी कीमती होता है इसलिए इसका पूरा उपयोग करें। स्टडी प्लान बनाते वक़्त भी हर विषय के बीच सही तरीके से समय का विभाजन करें। वहीं, जब घर में रिवीजन या प्रैक्टिस के दौरान प्रश्नों को हल करे तो टाइमर सेट कर लें और यह सोचकर सवालों को हल करें कि आप एग्जाम हॉल में परीक्षा दे रहे हैं। इससे परीक्षा देने की प्रैक्टिस होगी और स्पीड भी बेहतर हो सकती है। 
  5. परीक्षा देने की रणनीति: सबसे पहले उस विषय के प्रश्नों को हल करें जिसमें आप सबसे अधिक सहज महसूस करते हैं और उन प्रश्नों को करते हुए अपनी एक गति बनाएं, फिर अगले विषय पर जाएं और उसी ऊर्जा के साथ अन्य प्रश्नों को हल करें। इससे आपका कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और आप जटिल प्रश्नों को भी आसानी से हल कर सकेंगे। 
  6. पर्सनलाइजेशन: याद रखें कि सभी रणनीतियाँ हर किसी के लिए काम नहीं करती हैं। आप अपने अनुसार अपनी रणनीतियां बनाएँ और काम करें तथा उन नीतियों को अपनी जीवनचर्या में शामिल करें और किसी ऐसी रणनीति को न अपनाएँ जो आपके लिए काम नहीं करती हो।

जेईई मेन की परीक्षा में आने वाले प्रत्येक विषय के लिए यहाँ पर स्टेप बाई स्टेप मार्गदर्शन उपलब्ध है:

जेईई मेन भौतिकी विषय की तैयारी के लिए टिप्स 

भौतिकी तर्क और कॉन्सेप्ट पर आधारित है। विषय कई बार कठिन हो सकता है, खासकर जब प्रश्न संख्यात्मक के बजाय कॉन्सेप्ट आधारित हों। जेईई मेन के कई उम्मीदवार भौतिकी से घृणा करते हैं और जल्दी से विषय को छोड़ देते हैं। हालाँकि, आप भौतिकी में बहुत अच्छा कर सकते हैं यदि आप विशेष टॉपिक के कठिनाई स्तर और वेटेज को ध्यान में रखते हैं और उसी के अनुसार तैयारी करते हैं। (प्रत्येक टॉपिक के विस्तृत वेटेज को जानने के लिए, नीचे स्क्रॉल करें)

जेईई मेन रसायन विज्ञान विषय की तैयारी के लिए टिप्स 

रसायन विज्ञान एक ऐसा विषय है जिससे कई जेईई उम्मीदवार बचते हैं क्योंकि इस विषय के लिए बहुत अधिक स्मरण शक्ति की आवश्यकता होती है। हालाँकि, जब ठीक से अध्ययन किया जाता है, तो रसायन विज्ञान के अधिकांश कॉन्सेप्ट काफी सहज और तार्किक होते हैं। रसायन विज्ञान के प्रश्नों में विश्लेषणात्मक और स्मरण शक्ति के क्षमताओं के संयोजन की आवश्यकता होती है। जैसा कि आप जानते हैं, भौतिक रसायन विज्ञान, कार्बनिक रसायन विज्ञान और अकार्बनिक रसायन विज्ञान- रसायन विज्ञान के तीन विभाग हैं। भौतिक रसायन विज्ञान के प्रश्न लगभग पूरी तरह से विश्लेषणात्मक होते हैं, अकार्बनिक रसायन विज्ञान के प्रश्नों में स्मरण शक्ति की आवश्यकता होती है और कार्बनिक रसायन विज्ञान के प्रश्न कभी-कभी दोनों का मिश्रण होते हैं।

जेईई मेन गणित विषय की तैयारी के लिए टिप्स 

बड़ी संख्या में टॉपिक और तथ्य यह है कि जेईई मेन, एडवांस और बोर्ड परीक्षाओं के लिए गणित का पाठ्यक्रम बदलता रहता है, जो इस विषय को पूरी तरह से उम्मीदवारों के लिए अविश्वसनीय रूप से कठिन बना देता है। इस अवरोध को दूर करने के लिए, आवेदकों को रणनीतिक रूप से सोचना चाहिए और उच्चतम स्कोर वाले टॉपिक पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

जेईई मेन 2023 परीक्षा देने की रणनीति

परीक्षा के लिए एक सुनियोजित रणनीति वास्तविक परीक्षा से बहुत पहले शुरू हो जाती है। ऊपर बताए गए सभी टिप्स को याद रखें और सुनिश्चित करें कि आप नियमित रूप से जेईई मेन मॉक टेस्ट (JEE Main Mock Test) देते रहें जिससे कि परीक्षा देने की आपकी क्षमता में आपका आत्मविश्वास बढ़ सके। परीक्षा के दिन, सुनिश्चित करें कि आपके पास घड़ी हो, खुद को हाइड्रेटेड रखें और शांत रहने की कोशिश करें। सबसे आसान प्रश्नों से शुरुआत करें और चूंकि जेईई मेन में नेगेटिव मार्किंग है, ऐसे प्रश्नों का उत्तर न दें, जिन पर आपको भरोसा नहीं है।

जेईई मेन 2023 विस्तृत अध्ययन योजना

विद्यार्थियों को 3 महीने की जेईई मेन स्टडी प्लान निर्धारित करने से पहले एक डेली रूटीन बनाना महत्वपूर्ण है। अगर आप यह नहीं जानते कि आप हर दिन किस तरीके से और क्या पढ़ना है तो आपके लिए जेईई मेन पास करना बहुत कठिन हो जाएगा। ऐसे में आप यहाँ दिए गए विस्तृत स्टडी प्लान को पढ़ें और इसी अनुसार अपना जेईई मेन 2023 स्टडी प्लान फ़ॉलो करें। ये विस्तृत स्टडी प्लान कुछ इस प्रकार है:

यहाँ पहले महीने के लिए जेईई मेन स्टडी प्लान सैंपल 

सप्ताह विषय टॉपिक
पहला सप्ताह भौतिकी मात्रक और आयाम
रसायन विज्ञान ठोस अवस्था और परमाणु संरचना
गणित द्विपद प्रमेय
दूसरा सप्ताह भौतिकी विद्युत धारा
रसायन विज्ञान विलयन और अणुसंख्यक गुण
गणित अवकलज कलन
तीसरा सप्ताह भौतिकी विद्युत्-चुंबकत्व
रसायन विज्ञान वैद्युतरसायन और रासायनिक बलगतिकी
गणित निर्देशांक ज्यामिति
चौथा सप्ताह भौतिकी कार्य, ऊर्जा, शक्ति और गुरुत्वाकर्षण
रसायन विज्ञान S और P ब्लॉक तत्व
गणित आव्यूह और सारणिक

दूसरे महीने के लिए जेईई मेन स्टडी प्लान सैंपल

सप्ताह विषय टॉपिक
पहला सप्ताह भौतिकी ज्यामितीय प्रकाशिकी और तरंग प्रकाशिकी
रसायन विज्ञान रासायनिक आबंधन और कार्बनिक रसायन विज्ञान के मूल सिद्धांत
गणित समाकलन कलन
दूसरा सप्ताह भौतिकी ऊष्मा स्थानांतरण
रसायन विज्ञान D और F ब्लॉक
गणित समाकलन कलन
तीसरा सप्ताह भौतिकी परमाणु और नाभिक
रसायन विज्ञान ऐल्कोहॉल, फीनॉल और ईथर
गणित द्विघातीय समीकरण
चौथा सप्ताह भौतिकी द्रव्य और तरल यांत्रिकी के गुणधर्म
रसायन विज्ञान त्रिविम समावयवता और जैव अणु
गणित क्रमचय और संचय

तीसरे महीने के लिए जेईई मेन स्टडी प्लान सैंपल

सप्ताह विषय टॉपिक
पहला सप्ताह भौतिकी गतिकी
रसायन विज्ञान दैनिक जीवन में प्रयोग किए जाने वाले रसायन और बहुलक
गणित त्रिकोणमिति
दूसरा सप्ताह भौतिकी तरंग प्रकाशिकी
रसायन विज्ञान नाइट्रोजन युक्त हाइड्रोकार्बन और कार्बनिक यौगिक
गणित अनुक्रम और श्रेणी
तीसरा सप्ताह भौतिकी सरल आवर्त गति और ध्वनि तरंगें
रसायन विज्ञान हाइड्रोजन और कार्बनिक रसायन का शोधन
गणित सदिश और 3D

जेईई मेन 2023 महत्वपूर्ण अध्याय

यहां सेशन 1 और 2 जेईई मेन की तैयारी के लिए प्रत्येक विषय के महत्वपूर्ण टॉपिक सुझाव दिए गए है और पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों के विश्लेषण के आधार पर इन टॉपिक से प्रश्न के आने की शत-प्रतिशत संभवना बताई गई है।

विषय जेईई मेन 2023 के महत्वपूर्ण अध्याय
भौतिकी
  • द्रव्य और तरल यांत्रिकी के गुणधर्म
  • स्थिरवैद्युत
  • अर्धचालक और संचार प्रणाली
  • विद्युतचुंबकीय प्रेरण और प्रत्यावर्ती धारा
  • किरण प्रकाशिकी
  • धारा के चुंबकीय प्रभाव
  • ऊष्मागतिकी के नियम
  • विद्युत धारा
  • आधुनिक भौतिकी में परमाणु संरचना
  • यांत्रिक ऊर्जा
  • प्रकाशिकी
  • आधुनिक भौतिकी
गणित
  • त्रिकोणमितीय अनुपात, फलन और सर्वसमिकाएँ
  • अनुक्रम और श्रेणी (श्रेढ़ी)
  • सदिश
  • क्रमचय और संचय
  • सांख्यिकी
  • परवलय
  • निश्चित समाकलन
  • वृत्त
  • अनिश्चित समाकलन
  • द्विपद प्रमेय
  • द्विघातीय समीकरण
रसायन विज्ञान
  • p ब्लॉक तत्व
  • उपसहसंयोजन यौगिक
  • जैव अणु और बहुलक
  • d और f ब्लॉक तत्व
  • रासायनिक संबंध और आणविक संरचना
  • s ब्लॉक तत्व (क्षार और क्षारीय मृदा धातु) और हाइड्रोजन
  • वैद्युतरसायन
  • रासायनिक बलगतिकी
  • परमाणु संरचना
  • ऐल्केन, ऐल्कीन और एल्काइन (हाइड्रोकार्बन)

जेईई मेन 2023 पेपर एनालिसिस

Previous Year Analysis

यदि आप परीक्षा पास करना चाहते हैं तो पिछले वर्ष के जेईई मेन पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों (JEE Main Previous Year Paper) को हल करना आपकी जेईई मेन तैयारी का एक हिस्सा होना चाहिए। वे वास्तविक परीक्षा पत्र की समझ प्राप्त करने में आपकी सहायता करेंगे। यह आपकी जेईई मेन की तैयारी को एक नए मुकाम पर ले जाएगा। आप जब जेईई मेन प्रीवियस ईयर पेपर सॉल्व करेंगे तो उस वक़्त टाइमर ऑन कर लें।

इससे आपको यह समझने में आसानी होगी कि आपने कितनी देर में पूरा पेपर हल किया। इसके साथ ही साथ आप यह भी विश्लेषण कर पाएंगे कि आपको कौन से प्रश्न में अधिक वक़्त लगा और कौन से प्रश्न में कम। इतना ही नहीं अगर आप बार-बार टाइमर ऑन कर के पुराने प्रश्न पत्रों (Previous Year JEE Main Question Paper) को हल करेंगे तो आपके एग्जाम देने की स्पीड भी बेहतर हो सकती है। इसके साथ ही जेईई मेन सैंपल पेपर्स (JEE Sample Paper) को हल करना भी छात्रों के लिए फायदेमंद रहेगा।

जेईई मेन 2022 पेपर एनालिसिस

जेईई मेन 2022 सत्र 2 मेमोरी आधारित पेपर्स

जेईई मेन 2022 सत्र 2 के हल सहित मेमोरी आधारित पेपर्स के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

पेपर (शिफ्ट) पेपर एंड सॉल्यूशन PDF
25 जुलाई शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
25 जुलाई शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
26 जुलाई शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
26 जुलाई शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
27 जुलाई शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
27 जुलाई शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र

जेईई मेन 2022 सत्र 1 मेमोरी आधारित पेपर्स

जेईई मेन 2022 सत्र 1 के हल सहित मेमोरी आधारित पेपर्स के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:

पेपर (शिफ्ट) पेपर एंड सॉल्यूशन PDF
24 जून शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
24 जून शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
25 जून शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
25 जून शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
26 जून शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
26 जून शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
27 जून शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
27 जून शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
28 जून शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
28 जून शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
29 जून शिफ्ट 1 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र
29 जून शिफ्ट 2 जेईई मेन – सॉल्यूशन के साथ मेमोरी बेस्ड प्रश्नपत्र

जेईई मेन वर्ष-वार प्रश्न वेटेज

नीचे दी गई तालिका में, हमने पिछले तीन वर्षों के दौरान जेईई मेन प्रश्न पत्र में पूछे गए अध्याय और टॉपिक द्वारा प्रश्नों की संख्या का विश्लेषण दिया है। हालांकि यह किसी विशेष शिफ्ट के लिए विशिष्ट नहीं है, बल्कि पूरे वर्ष की सभी शिफ्ट के प्रश्नपत्रों का औसत है, यह अभी भी उपयोगी है क्योंकि यह छात्रों को जेईई मेन पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों के माध्यम से सबसे महत्वपूर्ण अध्यायों को समझने में मदद कर सकता है।

जेईई मेन भौतिकी के लिए टॉपिक-वार विश्लेषण 

टॉपिक प्रश्नों की संख्या
2018 2019 2020
मात्रक, आयाम, त्रुटि, प्रयोग 1 2 1
गतिकी 1 0 1
न्यूटन का नियम और घर्षण 1 0 2
कार्य, ऊर्जा और शक्ति 0 2 1
कणों के निकाय 2 1 1
गुरुत्वाकर्षण, घूर्णन यंत्र 2 2 3
पदार्थ के गुणधर्म 1 0 1
सरल आवर्त गति, दोलन 1 2 1
यांत्रिक तरंगें और ध्वनि 1 1 2
किरण प्रकाशिकी, तरंग प्रकाशिकी 3 2 3
ऊष्मा और उष्मागतिकी 3 3 2
स्थिरवैद्युत 3 2 3
विद्युत् धारा 2 3 3
चुंबकत्व, धारा के चुंबकीय प्रभाव 3 2 2
EMI, AC और EM तरंगें और संचार 4 3 1
आधुनिक भौतिकी 2 5 3

जेईई मेन रसायन विज्ञान के लिए टॉपिक-वार विश्लेषण 

टॉपिक प्रश्नों की संख्या
2018 2019 2020
परमाणु संरचना और वर्गीकरण 2 1 2
रासायनिक आबंधन 1 1 3
स्टॉइकियोमीट्री 2 1 2
द्रव्य की अवस्थाएं 1 2 1
रासायनिक और आयनिक साम्यावस्था 2 1 1
रासायनिक गतिज और नाभिकीय रसायन 1 2 1
रासायनिक उष्मागतिकी 1 1 2
विलयन 1 2 1
वैद्युतरसायन 1 2 1
सामान्य कार्बनिक रसायन + कार्यात्मक समूह-I 3 4 3
कार्बनिक रसायन+ कार्यात्मक समूह-II 2 0 3
कार्बनिक रसायन+ कार्यात्मक समूह-III 1 1 2
निरूपक तत्वों का रसायन विज्ञान 4 4 3
संक्रमण तत्व 3 2 1
उपसह्संयोजन यौगिक और कार्बधात्विक 1 2 1
पृष्ठ रसायन 0 1 1
जैव अणु 3 3 2

जेईई मेन गणित के लिए टॉपिक-वार विश्लेषण 

टॉपिक प्रश्नों की संख्या
2018 2019 2020
समुच्चय, संबंध और फलन 1 2 1
सीमा, सांतत्य और अवकलनीयता 3 2 3
अवकलज के अनुप्रयोग 1 2 2
अनिश्चित और निश्चित समाकलन और वक्र के अंतर्गत क्षेत्रफल 3 4 3
कार्तीय निर्देशांक और सीधी रेखा 2 1 1
वृत्त 1 1 2
शंकु 2 2 1
द्विघातीय समीकरण, असमिकाएँ, श्रेढ़ी 3 3 1
सम्मिश्र संख्याएँ 1 0 1
द्विपद प्रमेय, घातांकीय और लघुगणकीय श्रेणी 1 2 2
क्रमचय और संचय 0 1 1
प्रायिकता 1 1 2
सदिश 2 1 1
3-D निर्देशांक ज्यामिति 2 1 2
अवकल समीकरण और त्रिभुजों के गुण 1 2 1
त्रिकोणमिति 2 3 2
आव्यूह और सारणिक 2 1 2
गणितीय विवेचन 1 0 1
सांख्यिकी 1 2 1

पिछले वर्ष की जेईई मेन कट-ऑफ

जेईई मेन 2021 कटऑफ दो प्रकार का था- एडमिशन और क्वालिफाइंग कट-ऑफ; आइये क्रमबद्ध रूप से जेईई मेन कटऑफ़ का विश्लेषण करें:

सामान्य वर्ग के लिए जेईई मेन क्वालिफाइंग कट-ऑफ 90.3 थी, जबकि आरक्षित श्रेणियों के लिए कट-ऑफ 39 से 72 तक थी। क्वालीफाइंग कट-ऑफ को पूरा करने वाले उम्मीदवारों को जेईई एडवांस में प्रतिस्पर्धा करने के पात्र होने के लिए कम से कम आवश्यक अंक प्राप्त करने चाहिए। जो न्यूनतम एडमिशन कट-ऑफ अंक प्राप्त करते हैं, वे आईआईटी में प्रवेश के लिए अपनी दावेदारी रख सकते हैं। एनटीए नियमित आधार पर प्रत्येक कॉलेज के लिए सीट-इनटेक विंडो के रूप में JoSAA जारी करेगा। जेईई मेन के लिए, उम्मीदवारों के पास पसंदीदा भाग लेने वाले संस्थान के समापन रैंक के बराबर न्यूनतम स्कोर होना चाहिए।

पिछले वर्ष की जेईई मेन टॉपर सूची

जेईई मेन 2021 टॉपर सूची

उम्मीदवारों का नाम एनटीए स्कोर
बी राजेश 94.893888
दुग्गनेनी वेंकट पनीश 100
कर्णम लोकेश 100
पसाला वीरा सिवा 100
कंचनपल्ली राहुल नायडू 100
इजोम रोमिन 96.857992
सत्यम राज 96.857992
दीपित पटोवरी 99.933315
वैभव विशाल 100
प्रवर कटारिया 100

जेईई मेन टॉपर सूची: वर्ष वार

Topper List Success Stories

विवरण के साथ टॉपर्स की सूची

वर्ष टॉपर का नाम शहर
2015 संकल्प गौर पुणे
2016 दीपांशु जिंदल दिल्ली
2017 कल्पित वीरवाल उदयपुर
2018 भोगी सूरज कृष्ण आंध्रप्रदेश
2019 ध्रुव अरोड़ा मध्यप्रदेश
2020 एल गोकुलनाथी नोएडा

जेईई मेन परीक्षा परामर्श

Exam counselling

छात्र परामर्श

किसी भी विद्यार्थी के लिए, 12वीं कक्षा के बाद एक उपयुक्त पेशेवर मार्ग का निर्णय लेना सबसे कठिन कार्य होता है। एक पेशेवर मार्ग चुनते समय, स्टूडेंट कभी-कभी एक बड़े समूह की मानसिकता और सबसे लोकप्रिय पाठ्यक्रमों में दाखिला लेने, उनके माता-पिता के पसंद के आधार पर पाठ्यक्रम का चयन करने, या सिर्फ अपने दोस्तों का अनुसरण करने और उस विशिष्ट नौकरी पथ को चुनने के बीच बंट जाता है। अधिकांश अभ्यर्थी अपने स्वयं के कौशल, कमियों और रुचियों का ठीक से आकलन किए बिना पाठ्यक्रमों का चयन करते हैं।

माता-पिता/अभिभावक परामर्श

माता-पिता को यह पहचानने की जरूरत होती है कि हर छात्र डॉक्टर, इंजीनियर या एकाउंटेंट बनने के लिए तैयार एवं उपयुक्त नहीं है। उन्हें छात्र को एक ऐसे कैरियर मार्ग पर आंख मूंदकर धकेलने से बचना चाहिए जो चलन में है। माता-पिता एक कैरियर सलाहकार की मदद ले सकते हैं जो छात्रों को उनके सामर्थ्य का आकलन करने में सहायता कर सकता है और कैरियर की संभावनाएं प्रदान कर सकता है जो उनके लिए उपयुक्त हैं। जेईई एडवांस के लिए क्वालीफाई करने के लिए जेईई मेन परीक्षा भारत में उच्चतम स्तर की परीक्षा है। यह सबसे प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग पदों के लिए तैयार किया गया है। प्रतिष्ठा कारकों के कारण छात्र तर्कहीन कार्य कर सकते हैं। यह उन्हें मानसिक और शारीरिक तनाव में डालता है क्योंकि वे बुनियादी 11-12 बोर्ड परीक्षा और कई प्रतियोगी परीक्षाओं दोनों के लिए अपनी पढ़ाई को संभालते हैं और प्रबंधित करते हैं। यह समय बहुत मुश्किल होता है और उन्हें दबाव और तनाव दोनों का सामना करना होता है। 

जैसे-जैसे अभिभावक की उनके बच्चों से उनकी खुद की उम्मीदें बढ़ती जाती हैं, तो छात्रों के साथ-साथ, कुछ माता-पिता चिंतित हो जाते हैं और छात्र पर दबाव डालते हैं । यह छात्र को अतिरिक्त मानसिक तनाव में डालता है। यह कुछ ऐसी अवस्था होती है जिसमें अभिभावक खुद भी चिंतित होते होते और अपने बच्चों को भी चिंतित करते हैं। अभिभावकों को ऐसा करने से बचना चाहिए। 

अभिभावकों के लिए जेईई मेन टिप्स

  • जेईई मेन की तैयारी करने वाले छात्रों के माता-पिता अपने बच्चों की तैयारी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
  • माता-पिता को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके बच्चों का स्वास्थ्य अच्छा हो और पौष्टिक भोजन करें और तैयारी के लिए अनुकूल वातावरण बनाएं।
  • माता-पिता को अपने बच्चों को करियर के अन्य अवसरों के बारे में परामर्श देना चाहिए और घर पर एक सहायक वातावरण बनाना चाहिए।

जेईई मेन 2023 महत्वपूर्ण तिथियाँ

About Exam

जेईई मेन 2023 आवेदन करने की प्रारंभिक और अंतिम तिथि

जेईई मेन (JEE Main) के जनवरी सत्र के लिए आवेदन प्रक्रिया नवंबर, 2022 से शुरू होने की उम्मीद है। जो उम्मीदवार इंजीनियरिंग एडमिशन के लिए जनवरी सत्र के ज्वॉइंट एंट्रेंस एग्जाम में शामिल होना चाहते हैं वे नवंबर 2022 तक जेईई मेन एप्लीकेशन फॉर्म भर सकते है। 

जेईई मेन 2023 प्रवेश पत्र तिथि

संयुक्त प्रवेश परीक्षा (मुख्य) - 2023 सत्र 1 (जनवरी 2023) के लिए एडमिट कार्ड जनवरी 2023 को जारी होने की उम्मीद है। जेईई मेन 2023 सत्र 2 की परीक्षा जनवरी 2023 में शुरू होगी।

जेईई मेन 2023 परीक्षा तिथि

जेईई मेन 2023 के जनवरी सत्र परीक्षा जनवरी, 2023 में होने की उम्मीद है। दूसरे सत्र के लिए जेईई मेन एग्जाम डेट 2023, जुलाई, 2023 में होने की आशंका है।

जेईई मेन 2023 आवेदन प्रक्रिया

About Exam

जेईई मेन 2023 फॉर्म भरते समय क्या करें, क्या ना करें

आवेदकों को केवल वेबसाइट: www.nta.ac.in और jeemain.nta.nic.in पर जाकर जेईई (मेन) 2023 "ऑनलाइन" के लिए आवेदन करना होगा। ऑनलाइन मोड के अलावा कोई एप्लीकेशन फॉर्म स्वीकार नहीं किया जाएगा। एक आवेदक के द्वारा केवल एक ही एप्लीकेशन फॉर्म जमा किया जाना चाहिए। एक से अधिक आवेदन, यानी एक उम्मीदवार द्वारा जमा किए गए कई एप्लीकेशन फॉर्म, अस्वीकार कर दिए जाएंगे। इस नियम का उल्लंघन करने के किसी भी प्रयास से उम्मीदवारी रद्द की जा सकती है, और कानूनी कार्रवाई की जाएगी, जिसमें एनटीए द्वारा आयोजित भविष्य की सभी परीक्षाओं में शामिल होना शामिल है।

ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरना शुरू करने से पहले उम्मीदवारों के पास निम्नलिखित चीजें तैयार होनी चाहिए:

  1. अच्छी इंटरनेट कनेक्टिविटी और एक कंप्यूटर
  2. अहर्ता विवरण
  3. JPG/JPEG फॉर्मेट में स्पष्ट पासपोर्ट फोटो स्कैन की गई कॉपी (साइज 10 kb–200 kb)
  4. JPG/JPEG फॉर्मेट में हस्ताक्षर सहित स्कैन की गई प्रति (साइज 4 kb–30 kb के बीच )
  5. कक्षा 12 या समकक्ष एडमिट कार्ड/मार्क शीट/स्कोर कार्ड (साइज 50kb-500kb के बीच) स्पष्ट स्कैन की गयी कॉपी
  6. एक वैध e-mail Id
  7. एक वैध मोबाइल नंबर 
  8. नेट बैंकिंग खाता या UPI या वैध डेबिट/क्रेडिट कार्ड 
  9. कन्फर्मेशन पेज को प्रिंट करने के लिए आपके सिस्टम से जुड़ा एक प्रिंटर

नोट:

  1. अगर सभी चरणों को पूरा नहीं भरा गया, तो ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म का अंतिम सबमिशन अधूरा रहता है। सावधान रहें क्योंकि ऐसे फॉर्म खारिज कर दिए जाएंगे।
  2. एक बार भुगतान करने के बाद शुल्क की कोई वापसी नहीं की जाएगी।
  3. जेईई (मेन) 2023 के लिए आवेदन की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन है और उम्मीदवारों को डाक/फैक्स/ईमेल/हाथ से डॉक्यूमेंट की कोई भी प्रति एनटीए को भेजने/जमा करने की आवश्यकता नहीं है।
  4. एनटीए विश्लेषण और अनुसंधान के लिए जनरेट किए गए डेटा का उपयोग कर सकता है।

महत्वपूर्ण नोट: एनटीए द्वारा रिजल्ट की घोषणा के बाद कोई सुधार नहीं किया जाएगा।

ऑनलाइन आवेदन जमा करने और शुल्क का भुगतान करने वाले सभी आवेदकों को जेईई (मेन) में उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी। उनके एडमिट कार्ड शेड्यूल के अनुसार आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे। एनटीए एप्लीकेशन फॉर्म में छात्रों द्वारा भरी गई जानकारी को सत्यापित नहीं करता है। यह छात्रों की पात्रता तय करने के लिए श्रेणी/शैक्षिक योग्यता के किसी प्रमाण पत्र को भी सत्यापित नहीं करता है। शैक्षिक योग्यता और श्रेणी के प्रमाण पत्र (यदि आरक्षित श्रेणी के तहत आवेदन किया गया है) संबंधित संस्थान द्वारा सत्यापित किया जाएगा। इसलिए, छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे उन संस्थानों की आवश्यकताओं के अनुसार अपनी पात्रता और श्रेणी (यदि आरक्षित श्रेणी के तहत आवेदन कर रहे हैं) सुनिश्चित करें जहां उम्मीदवार प्रवेश लेना चाहता है। एनटीए छात्र/छात्रों द्वारा उनके ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म में दी गई किसी भी गलत/त्रुटिपूर्ण जानकारी के लिए जिम्मेदार नहीं होगा। इस संबंध में पत्र/ई-मेल पर एनटीए द्वारा विचार नहीं किया जाएगा।

जेईई मेन 2023 पात्रता मापदंड

Eligibility Criteria

जेईई मेन 2023 आयु मापदंड

जेईई (मुख्य) 2023 में उपस्थित होने के लिए, उम्मीदवारों के लिए किसी प्रकार की कोई ऊपरी आयु सीमा नहीं है। जिन उम्मीदवारों ने 2021, 2022 में कक्षा 12वीं / समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण की है, या 2023 में ये परीक्षा देने जा रहे हैं, वे जेईई मेन 2023 परीक्षा में उपस्थित हो सकते हैं। हालांकि, उम्मीदवारों को उन संस्थानों की आयु सीमाओं को पूरा करने की आवश्यकता हो सकती है जिनमें वे आवेदन करना चाहते हैं। समस्त अभ्यर्थियों को यह सलाह दी जाती है कि जेईई मेन पात्रता मानदंड (JEE Main Eligibility Criteria 2023 in Hindi) के बारे में ठीक से जानकारी प्राप्त कर लें। जेईई पात्रता शर्तों को पूरा न करने वाले उम्मीदवार परीक्षा में शामिल नहीं हो सकेंगे।

जेईई मेन 2023 शैक्षणिक योग्यता

  • उम्मीदवारों को 2022 या 2021 में अपनी 12 वीं की परीक्षा या समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण होना आवश्यक है।
  • 2023 में 12वीं बोर्ड (या समकक्ष) में बैठने वाले उम्मीदवार भी परीक्षा के लिए आवेदन करने के पात्र हैं।

जेईई मेन 2023 प्रयासों की संख्या

जेईई मेन के उम्मीदवार लगातार 3 वर्षों तक प्रवेश परीक्षा में प्रयास कर सकते हैं। हालांकि, इस बार से जेईई मेन में बड़ा बदलाव किया गया है। अब से जेईई मेन साल में दो बार आयोजित किया जाएगा। अतः कुल मिलाकर, उम्मीदवार के पास जेईई मेन में दाखिला के लिए 6 प्रयास होंगे।

जेईई मेन 2023 भाषा प्रवीणता

जेईई मेन परीक्षा अंग्रेजी, हिंदी, बंगाली, गुजराती, असमिया, कन्नड़, मराठी, पंजाबी, तमिल, तेलुगु, उर्दू, ओड़िया और मलयालम सहित कई क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित की जाएगी। 

यह सुनिश्चित करने के लिए है कि छात्र उस भाषा में परीक्षा लिख सकते हैं जिसमें वे सबसे अधिक सहज हैं। यह स्टेट बोर्ड के छात्रों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है जो स्थानीय भाषाओं में अध्ययन करते हैं।

जेईई मेन 2023 प्रवेश पत्र

Admit Card

जेईई मेन 2023 प्रवेश पत्र जारी होने की तारीख

एनटीए, जनवरी सत्र के लिए जेईई मेन एडमिट कार्ड जनवरी 2023 के पहले सप्ताह में जारी किए जाने की उम्मीद है। वहीं, जेईई मेन के जुलाई सत्र का एडमिट कार्ड (JEE Main एडमिट कार्ड) जुलाई के दूसरे सप्ताह में जारी किए जाने की संभावना है।

जेईई मेन 2023 परीक्षा केंद्रों की सूची

जेईई मेन 2023 एग्जाम के लिए भारत के अंदर परीक्षा शहरों की कुल संख्या बढ़कर 501 हो गई है और जबकि भारत के बाहर 22 शहरों में परीक्षा आयोजित होगी। छात्रों की सुरक्षा को देखते हुए परीक्षा शहरों और केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है। जेईई मेन परीक्षा केंद्र से संबंधित कुछ विवरण निम्नलिखित हैं। 

  • जेईई मेन 2023 के लिए आवेदन करते समय उम्मीदवारों को परीक्षा केंद्रों के रूप में अपनी पसंद के चार शहरों का चयन करना होगा। एनटीए देश और विदेश में सूचीबद्ध शहरों में परीक्षा आयोजित करेगा।
  • एनटीए उन छात्रों के लिए जेईई मेन 2023 परीक्षा शहरों (JEE Main Exam City) का अंतिम आवंटन जारी करता है जिन्होंने परीक्षा के लिए पंजीकरण किया है। उन्हें आवंटित परीक्षा शहर की जांच करने के लिए, उम्मीदवारों को उनके लॉगिन विवरण और जेईई मेन 2023 की आवेदन संख्या और जन्म तिथि की आवश्यकता होगी।
  • कृपया ध्यान दें कि केंद्र, तिथि और शिफ्ट के आवंटन के संबंध में एनटीए का निर्णय अंतिम होगा। ऐसे मामले में किसी पत्राचार या अनुरोध पर विचार नहीं किया जाएगा।

जेईई मेन 2023 परीक्षा उत्तर कुंजी / हल - लाइव

Exam Answer key

जेईई मेन केंद्र से शिफ्ट-वाइज परीक्षा विश्लेषण

जेईई मेन 2023 आंसर की ऑफिशियल वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर उपलब्ध होगी। जेईई मेन उत्तर कुंजी 2023 डाउनलोड करने के लिए उम्मीदवारों को आवेदन संख्या और पासवर्ड का उपयोग करना होगा। आधिकारिक जेईई मेन 2023 उत्तर कुंजी (JEE Main Answer Key) एक्सेस करने के लिए डायरेक्ट लिंक जारी होने के बाद इस पेज पर भी अपलोड कर दिया गया है।

जेईई मेन परीक्षा की शिफ्ट और समय इस प्रकार है:

परीक्षा की तिथि अनुसूची
सत्र 1 - जनवरी, 2023
सत्र 2 - जुलाई, 2023
09:00 IST से 12:00 IST

नोट: परीक्षा आयोजित होने के बाद विस्तृत परीक्षा विश्लेषण यहां अपडेट किया जाएगा।

स्मृति आधारित जेईई मेन मॉक टेस्ट

मॉक टेस्ट नवीनतम परीक्षा पैटर्न और संबंधित परीक्षा के पाठ्यक्रम के आधार पर तैयार किए गए प्रैक्टिस पेपर हैं। ये वास्तविक परीक्षाओं के समान हैं जिनकी प्रैक्टिस करके उम्मीदवार अपनी वास्तविक क्षमता का आकलन कर सकते हैं। Embibe ने कुछ मॉक टेस्ट तैयार किए हैं जो छात्रों को जेईई मेन परीक्षा की तैयारी में मदद करते हैं। छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे दिए गए लिंक में Embibe मॉक टेस्ट देखें।

 

जेईई मेन शिफ्ट-वाइज उत्तर कुंजी

परीक्षा समाप्त होने के कुछ दिनों के बाद, प्राधिकरण दोनों पेपरों की उत्तर पुस्तिका प्रकाशित करता है। छात्र उत्तर पुस्तिका देख सकते हैं और किसी गलत उत्तर से संबंधित कोई आपत्ति भी उठा सकते हैं।

उत्तर पुस्तिका से संबंधित लिंक जेईई मेन वेबसाइट पर उपलब्ध होगा।

जेईई मेन 2023 कटऑफ

Cut off

अपेक्षित जेईई मेन कटऑफ

2023 के लिए अपेक्षित क्वालीफाइंग जेईई मेन कट-ऑफ नीचे दिया गया है-

श्रेणी NTA कट-ऑफ स्कोर (पेपर 1)
समान्य रैंक सूची (CRL) – ओपन 90.3765335
GEN-EWS 70.2435518
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC-NCL) 72.8887969
अनुसूचित जाति (SC) 50.1760245
अनुसूचित जनजाति (ST) 39.0696101
PwD 0.0618524


जेईई मेन कट-ऑफ 2023 के प्रकार 

जेईई मेन कट-ऑफ 2023 दो श्रेणियों में विभाजित किया जाएगा: क्वालिफाइंग कट-ऑफ और एडमिशन कट-ऑफ। जेईई मेन कट-ऑफ परीक्षा से संबंधित मानदंडों के आधार पर बदलता है। यह श्रेणी, पाठ्यक्रम और संस्थान के आधार पर भी भिन्न होता है। 

जेईई मेन 2023 क्वालिफाइंग कट-ऑफ मार्क्स - जेईई मेन 2023 क्वालिफाइंग कट-ऑफ अंक JEE एडवांस 2023 के लिए क्वालीफाई करने के लिए आवश्यक न्यूनतम अंक होते हैं।

  • जेईई मेन 2023 के रिजल्ट के बाद जेईई मेन 2023 सत्र के लिए यह कट-ऑफ जारी किया जाएगा।
  • क्वालीफाइंग कट-ऑफ निर्धारित करने के लिए  जेईई मेन 2023 रिजल्ट या अपने स्कोरकार्ड का उपयोग करेंगे।
  • क्वालीफाइंग कट-ऑफ के आधार पर  उम्मीदवार जेईई एडवांस 2023 के लिए पात्र होंगे।

जेईई मेन एडमिशन कट-ऑफ 2023 

जेईई मेन के लिए एडमिशन कट-ऑफ , भागीदार संस्थानों में प्रवेश के लिए आवश्यक न्यूनतम स्कोर या रैंक को संदर्भित करता है।

सीट आवंटन के प्रत्येक दौर के बाद JoSAA इन कट-ऑफ स्कोर की घोषणा करेगा, इसलिए एडमिशन कट-ऑफ कॉलेज से कॉलेज में भिन्न होता है और विभिन्न कॉलेज पाठ्यक्रमों के लिए बदलता है।

जेईई मेन क्वालिफाइंग कट-ऑफ Vs एडमिशन कट-ऑफ के बीच अंतर 

नीचे दो प्रकार के जेईई मेन कट-ऑफ, उनके उपयोग और उनके बदलाव की तुलना है।

तुलना के आधार क्वालीफाइंग कट-ऑफ एडमिशन कट-ऑफ
जारी किया गया NTA JoSAA
जारी करने वाला पोर्टल jeemain.nta.nic.in josaa.nic.in
संस्थान विशिष्ट नहीं हाँ
श्रेणी विशिष्ट हाँ हाँ
शाखा विशिष्ट नहीं हाँ
उद्देश्य जेईई एडवांस पात्रता के लिए उपयोग किया जाता है। एनआईटी, आईआईआईटी और जीएफटीआई में प्रवेश के लिए प्रयुक्त।

जेईई मेन कट-ऑफ 2023 को प्रभावित करने वाले कारक

कई कारक जेईई मेन कट-ऑफ 2023 को प्रभावित कर सकते हैं। ये नीचे सूचीबद्ध हैं:

  • परीक्षा के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों की कुल संख्या
  • परीक्षा का कठिनाई स्तर
  • सीट की उपलब्धता
  • उम्मीदवार का समग्र प्रदर्शन

पिछले वर्ष की जेईई मेन कट-ऑफ

जेईई मेन कट-ऑफ संस्थान/वर्ग के अनुसार उम्मीदवार से उम्मीदवार में भिन्न होता है। हमने कुछ पिछले वर्षों के आंकड़े शेयर किए हैं।

  • सामान्य वर्ग का जेईई मेन कट-ऑफ 2020 पर्सेंटाइल 89 से बढ़कर 90.37 हो गया है।
  • OBC वर्ग के लिए, 2020 के लिए जेईई मेन कट-ऑफ 74 से घटकर 72 हो गया है।
  • इसके अलावा, SC वर्ग के लिए जेईई मेन 2020 के लिए कट-ऑफ 54 से घटकर 50 हो गया है।
  • इसी तरह, ST वर्ग के लिए जेईई मेन 2019 के लिए कट-ऑफ 44 से घटकर 39 हो गया है।

जेईई मेन कट-ऑफ 2020

जेईई मेन सामान्यीकरण प्रक्रिया के आधार पर, 2020 का कट-ऑफ NTA का पर्सेंटाइल स्कोर था, न कि सटीक अंक जो एक उम्मीदवार ने हासिल किया है।

श्रेणी पेपर 1 के लिए जेईई मेन कट-ऑफ
समान्य रैंक सूची 90.3765335
सामान्य – EWS 70.2435518
OBC-NCL 72.8887969
अनुसूचित जाति (SC) 50.1760245
अनुसूचित जनजाति (ST) 39.0696101
PwD 0.0618524

उम्मीदवार पिछले वर्ष के जेईई मेन कट-ऑफ पर एक नज़र डाल सकते हैं। साथ ही, 2018 के लिए जेईई मेन कट-ऑफ पिछले सात वर्षों में सबसे कम रहा।

श्रेणी 2020 2019 2018 2017 2016 2015 2014
सामान्य 90 89 74 81 100 105 115
OBC-NCL 72 74 45 49 70 70 74
SC 54 54 29 32 52 50 53
ST 39 44 24 27 48 44 47

जेईई मेन परीक्षा परिणाम

Exam Result

एनटीए जेईई मेन्स 2023 परिणाम (JEE Main result) आधिकारिक वेबसाइट- jeemain.nta.nic.in और ntaresults.nic.in पर ऑनलाइन मोड में जारी करता है। जेईई मेन रिजल्ट की जांच करने के लिए, उम्मीदवारों को अपने लॉगिन क्रेडेंशियल यानी आवेदन संख्या और डीओबी और सुरक्षा पिन का उपयोग करना होगा। परिणाम में कुल एनटीए स्कोर, पर्सेंटाइल, विषयवार स्कोर आदि शामिल हैं। एनटीए परिणाम के साथ जेईई मेन टॉपर्स सूची (100 पर्सेंटाइल) और कट-ऑफ भी घोषित करेगा।

जेईई मेन रिजल्ट घोषणा

  • एनटीए जेईई मेन परिणाम ऑनलाइन मोड में जारी करती है। जेईई मेन रिजल्ट (JEE Main result) वेबसाइट jeemain.nta.nic.in पर देखे जा सकते हैं। उम्मीदवार इस वेबसाइट पर परीक्षा के लिए परिणाम लिंक तक पहुंच सकते हैं और अपने स्कोरकार्ड की जांच कर सकते हैं।
  • एक उम्मीदवार को आवेदन पत्र संख्या और जन्म तिथि का उपयोग करके लॉग इन करना होगा।
  • जेईई मेन के परिणाम की तारीख की घोषणा अभी नहीं की गई है। परिणाम घोषित करने से पहले, एनटीए जेईई मेन उत्तर कुंजी, उम्मीदवार की प्रतिक्रिया पत्रक और प्रश्न पत्र जारी करेगा। उम्मीदवारों को उत्तर कुंजी को बदलने की भी अनुमति होगी, जिसके बाद अंतिम उत्तर कुंजी और परिणाम घोषित किया जाएगा।
  • परिणाम भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित में उम्मीदवार के प्रतिशत अंकों के विवरण के साथ स्कोरकार्ड के रूप में उपलब्ध होगा, और जेईई एडवांस के लिए अखिल भारतीय रैंक और जेईई मेन कट-ऑफ तीनों विषयों में औसत प्रतिशत स्कोर होगा । कट-ऑफ से ऊपर स्कोर करने वाले उम्मीदवार जेईई एडवांस परीक्षा में शामिल होंगे।
  • परिणाम के साथ, एनटीए परिणाम के अनुसार जेईई मेन टॉपर्स सूची और 100 प्रतिशत अंक वाले उम्मीदवारों की सूची की भी घोषणा करेगा। उम्मीदवारों की अखिल भारतीय रैंक (AIR) और कट-ऑफ तदनुसार घोषित की जाएगी।

महत्वपूर्ण नोट: प्राधिकरण द्वारा परिणाम (JEE Main result) की घोषणा के बाद निकाय कोई सुधार नहीं करेगा।

जेईई मेन कट-ऑफ स्कोर

जेईई मेन 2023 के लिए क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल (अपेक्षित)

उम्मीदवार जेईई मेन 2023 के लिए श्रेणी-वार अपेक्षित क्वालिफाइंग कटऑफ देख सकते हैं। NTA अंतिम रिजल्ट की घोषणा के बाद पेपर 1 (बीई/बीटेक) के आधार पर जेईई एडवांस के लिए जेईई मेन 2023 कटऑफ जारी करेगा:

श्रेणी NTA द्वारा जारी जेईई मेन कट-ऑफ स्कोर (पर्सेंटाइल )
समान्य रैंक सूची (CRL) 90 - 100
GEN-EWS 70 - 75
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC-NCL) 60 - 70
अनूसूचित जाति (SC) 45 - 50
अनूसूचित जनजाति (ST) 35 - 40
PwD 0.05 – 0.07

जेईई मेन 2021 अनुभागीय कट-ऑफ

श्रेणी न्यूनतम स्कोर न्यूनतम स्कोर
यूआर 87.8992241 100.0000000
GEN-EWS 66.2214845 87.8950071
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC-NCL) 68.0234447 87.8950071
अनूसूचित जाति (SC) 46.8825338 87.8950071
अनूसूचित जनजाति (ST) 34.6728999 87.8474721
यूआर-पीएच 0.0096375 87.8273359

जेईई मेन 2020 अनुभागीय कट-ऑफ 

श्रेणी NTA द्वारा जारी जेईई मेन कट-ऑफ स्कोर
समान्य रैंक सूची (CRL) 90.3765335
GEN-EWS 70.2435518
अन्य पिछड़ा वर्ग (OBC-NCL) 72.8887969
अनूसूचित जाति (SC) 50.1760245
अनूसूचित जनजाति (ST) 39.0696101
PwD 0.0618524

जेईई मेन कट-ऑफ ट्रेंड 

NTA ने अभी तक सभी दोनों सत्रों के लिए जेईई मेन 2022 कटऑफ जारी नहीं की है। जेईई कट-ऑफ विश्लेषण (JEE Main cutoff Analysis) के अनुसार, सामान्य श्रेणी की कट-ऑफ में पिछले वर्षों के काफी उतार-चढ़ाव आया है। अन्य सभी श्रेणियों की भी जेईई मेन क्वालीफाइंग पर्सेंटाइल में परिवर्तन देखने को मिला है। नीचे दी गई तालिका में, उम्मीदवार पिछले आठ वर्षों (2013-2020) के कट-ऑफ पैटर्न देख सकते हैं। 

वर्ष सामान्य OBC-NCL SC ST Gen-EWS PwD
2020 90.3765335 72.8887969 245 9 70.2435518 0.0618524
2019 89.7548849 74.3166557 54.0128155 44.3345172 78.2174869 0.11371730
2018 74 45 29 24 - -35
2017 81 49 32 27 - -
2016 100 70 52 48 - -
2015 105 70 50 44 - -
2014 115 74 53 47 - -
2013 113 70 50 45 - -

जेईई मेन 2023 अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Freaquently Asked Questions

जेईई मेन की तैयारी करते समय, उम्मीदवारों के मन में बहुत सारे प्रश्न हो सकते हैं। हो सकता है उम्मीदवारों को लगे ये प्रश्न सामान्य है, लेकिन ये साधारण सवाल भी कई बार महत्वपूर्ण होते हैं। ऐसे में जेईई मेन के उम्मीदवारों द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले कुछ प्रश्नों की सूची यहां दी गई है। जेईई मेन 2023 से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (जेईई मेन एफएक्यू 2023) कुछ इस प्रकार हैं:

प्र 1. क्या मैं B. Arch और B. Planning दोनों के लिए आवेदन कर सकता हूं?
उ: हां, आप B. Arch और B. Planning पेपर (केवल जून और जुलाई सत्र के लिए) दोनों के लिए आवेदन कर सकते हैं। प्रत्येक पेपर के लिए आपकी परीक्षा की अवधि 3:30 घंटे की होगी।

प्र 2. उन प्रश्नों के लिए मार्किंग स्कीम क्या है जिनका उत्तर संख्यात्मक मान से देना आवश्यक है?
उ: MCQs की तरह, संख्यात्मक मान पर-आधारित प्रश्न प्रत्येक सही उत्तर के लिए चार अंक प्राप्त करेंगे। हालांकि, ऐसी स्थिति में गलत उत्तर के लिए कोई नकारात्मक मार्किंग नहीं होगी।

प्र 3. जेईई मेन 2023 परीक्षा कब होगी?
उ: एनटीए ने जेईई मेन 2023 परीक्षा के लिए आधिकारिक परीक्षा तिथियों की घोषणा अभी नहीं की है।

प्र 4. मुझे जेईई मेन मॉक टेस्ट निशुल्क कहाँ मिल सकता है?
उ: आप Embibe पर निशुल्क जेईई मेन मॉक टेस्ट प्राप्त कर सकते हैं।

प्र 5. क्या जेईई मेन के महत्वपूर्ण टॉपिक को पढ़ने से मुझे परीक्षा में सफलता प्राप्त करने में मदद मिलेगी?
उ: नहीं, केवल जेईई मेन महत्वपूर्ण टॉपिक (JEE Main Important Topics) को पढ़ने से आपको परीक्षा में सफलता प्राप्त करने में मदद नहीं मिलेगी। आपको हर कॉन्सेप्ट की मूल बातें समझने और पिछले वर्ष के प्रश्नों को हल करने और मॉक टेस्ट देने की आवश्यकता है।

प्र 6. जेईई मेन की तैयारी के लिए क्या टिप्स हैं?
उ:

  • उन क्षेत्रों में अपना कौशल बढ़ाने में अधिक समय व्यतीत करें जहां आपमें कौशल की कमी है। नियमित रूप से प्रैक्टिस करें और आईडिया को समझने के लिए समायिक बने रहें।
  • ऐसे किसी भी टॉपिक को न छोड़ें जो आपको लगता है कि आपके काम के संबंध में अप्रासंगिक या असंबंधित है।
  • एक स्वस्थ, फिट मानसिक और शारीरिक स्थिति बनाए रखें। स्वस्थ भोजन करें, पर्याप्त आराम करें और कुछ मनोरंजक पसंदीदा चीजें करके तनाव को दूर रखें।

प्र 7. प्रैक्टिस करने के लिए मुझे निशुल्क जेईई मेन प्रश्न कहां मिल सकते हैं?
उ: आप प्रभावी ढंग से अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए Embibe पर उपलब्ध निशुल्क जेईई मेन प्रश्नों को हल कर सकते हैं।

प्र 8. जेईई मेन कट-ऑफ कितना है?
उ: जेईई मेन परीक्षा उत्तीर्ण करने के लिए आवश्यक न्यूनतम अंक जेईई मेन कट-ऑफ होता है। राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी इस कट-ऑफ को प्रकाशित करती है। वर्ष 2023 के लिए जेईई मेन कटऑफ अभी जारी नहीं की गई है।

प्र 9. क्या जेईई मेन की परीक्षा कठिन है?
उ: यह सच है कि जेईई मेन परीक्षा मुश्किल होती है, क्योंकि इसके लिए कई उम्मीदवार आवेदन करते हैं। इसलिए इसमें कम्पटीशन बढ़ जाता है। हालांकि, अगर इस एग्जाम की तैयारी ध्यान से और सही रणनीति के साथ की जाए तो इसे आसानी से क्रैक किया जा सकता है। हमने हमारे इस खास लेख में जेईई मेन परीक्षा के लिए स्टडी प्लान के साथ-साथ कई तरह के टिप्स भी दिए हैं, जिन्हें फ़ॉलो करके आप जेईई मेन एग्जाम 2023 की सही तरीके से तैयारी कर सकते हैं। इतना ही नहीं आप उन टिप्स को फ़ॉलो करके जेईई मेन परीक्षा 2023 को क्रैक भी कर सकते हैं।

प्र 10. जेईई मेन कट-ऑफ क्या है?
उ: जेईई मेन परीक्षा के लिए प्रवेश कट-ऑफ, भाग लेने वाले संस्थानों में प्रवेश के लिए आवश्यक न्यूनतम स्कोर या रैंक को संदर्भित करता है। जेईई रिजल्ट घोषित होने के बाद जोसा इस साल की कट-ऑफ की घोषणा करेगा।

प्र 11. जेईई मेन एडमिट कार्ड कब आएगा?
उ: जेईई मेन 2023 के जनवरी सत्र के लिए एडमिट कार्ड जनवरी 2023 के पहले सप्ताह में जारी होने की उम्मीद है।

जेईई मेन 2023 क्या करें, क्या ना करें

जेईई मेन 2023 परीक्षा दो सत्रों में आयोजित की जाएगी, इसलिए छात्र पूरी लगन और मेहनत के साथ इसकी तैयारी करें और अपने ध्यान को भटकने न दें।

शैक्षिक संस्थानों की सूची

About Exam

जेईई मेन स्कोर मान्यता प्राप्त कॉलेज: IIITs, NITs और अन्य केंद्रीय वित्त पोषित तकनीकी संस्थानों (CFTIs) में प्रस्तावित स्नातक पाठ्यक्रमों, अर्थात बैचलर ऑफ टेक्नोलॉजी (B.Tech) और बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग (B.E.) में प्रवेश और अर्हता प्राप्त करने के लिए जेईई मेन 2023 के लिए उपस्थित होने वाले उम्मीदवार।

यहां हमने भारत में जेईई मेन स्कोर मान्यता देने वाले इंजीनियरिंग कॉलेजों को सूचीबद्ध किया है:

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (IIITs):

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान जेईई मेन के अंकों के आधार पर छात्रों को प्रवेश देते हैं। IIITs का उद्देश्य सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) के क्षेत्र में पेशेवर विशेषज्ञता, कुशल कार्यबल को विकसित करना और बढ़ावा देना है। विभिन्न IIITs हैं:

क्रम संख्या जेईई मेन अंकों को मान्यता देने वाले IIITs
01 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, इलाहाबाद
02 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी अभिकल्पन एवं विनिर्माण संस्थान जबलपुर
03 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी और प्रबंधन संस्थान, ग्वालियर
04 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी डिजाइन और विनिर्माण संस्थान, कांचीपुरम
05 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, श्री सिटी
06 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, गुवाहाटी
07 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, कोटा
08 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, वडोदरा
09 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी और प्रबंधन संस्थान, केरल
10 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, तिरुचिरापल्ली
11 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, मणिपुर
12 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, धारवाड़
13 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, कुरनूल
14 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, कोट्टायम
15 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, पश्चिम बंगाल
16 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, सोनीपत
17 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, हिमाचल प्रदेश
18 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, रांची
19 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, नागपुर
20 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, पुणे
21 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, भागलपुर
22 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल
23 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, सूरत
24 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, ऊना
25 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, कल्याणी
26 भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, रायचूर


इन IIITs के अलावा, 31 एनआईटी हैं जो अपने विभिन्न इंजीनियरिंग कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए जेईई मेन के अंकों को मान्यता देते हैं।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NITs):

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NITs) सार्वजनिक कॉलेजों का एक समूह है जो कई विषयों में इंजीनियरिंग कार्यक्रम पेश करता है। इन संस्थानों में प्रवेश जेईई मेन के आधार पर दिया जाता है। विभिन्न NITs हैं:

क्रम संख्या: जेईई मेन अंकों को मान्यता देने वाले NITs की सूची
01 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, त्रिची
02 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, वारंगल
03 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, सुरथकाली
04 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, राउरकेला
05 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कुरुक्षेत्र
06 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जमशेदपुर
07 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दुर्गापुर
08 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रायपुर
09 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना
10 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, श्रीनगर
11 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अगरतला
12 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, दिल्ली
13 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गोवा
14 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, कालीकट
15 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पुडुचेरी
16 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मणिपुर
17 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मेघालय
18 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मिजोरम
19 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नागालैंड
20 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, सिक्किम
21 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, सिलचर
22 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, अरुणाचल प्रदेश
23 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, उत्तराखंड
24 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, हमीरपुर
25 सरदार वल्लभभाई राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, सूरत
26 विश्वेश्वरैया राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, नागपुर
27 मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपालl
28 मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इलाहाबाद
29 मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जयपुर
30 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, ताडेपल्लीगुडेम, आंध्र प्रदेश
31 डॉ. बी.आर. अम्बेडकर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जालंधर


केंद्र द्वारा वित्त पोषित तकनीकी संस्थान (CFTIs):

ये उच्च शिक्षा के लिए केंद्र सरकार/राज्य सरकार द्वारा वित्त पोषित अन्य कॉलेज और विश्वविद्यालय हैं। CFTIs जेईई मेन अंकों के आधार पर इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रदान करते हैं।

क्रम संख्या: जेईई मेन अंकों को मान्यता देने वाले CFTIs की सूची
01 असम विश्वविद्यालय, सिलचरी
02 बिरला प्रौद्योगिकी संस्थान, मेसरा, रांची
03 गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार
04 भारतीय कालीन प्रौद्योगिकी संस्थान, भदोही
05 बुनियादी ढांचा, प्रौद्योगिकी, अनुसंधान एवं प्रबंधन संस्थान, अहमदाबाद
06 प्रौद्योगिकी संस्थान, गुरु घासीदास विश्वविद्यालय, बिलासपुर
07 जे.के. अनुप्रयुक्त भौतिकी और प्रौद्योगिकी संस्थान, इलाहाबाद विश्वविद्यालय,
08 मिजोरम विश्वविद्यालय, आइजोल
09 नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाउंड्री एंड फोर्ज टेक्नोलॉजी, रांची
10 स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर, भोपाल
11 स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर, नई दिल्ली
12 स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर, विजयवाड़ा, आंध्र प्रदेश
13 श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय, कटरा, जम्मू एवं कश्मीर
14 तेजपुर विश्वविद्यालय, नपाम, तेजपुर
15 भारतीय इंजीनियरिंग विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान, शिबपुर
16 भारतीय फसल प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी संस्थान, तंजावुर
17 राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, औरंगाबाद
18 संत लोंगोवाल इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी लोंगोवाल
19 हरकोर्ट बटलर तकनीकी विश्वविद्यालय, कानपुर
20 भारतीय पेट्रोलियम और ऊर्जा संस्थान, विशाखापत्तनम
21 भारतीय हथकरघा प्रौद्योगिकी संस्थान, सेलम, तमिलनाडु
22 जामिया हमदर्द विश्वविद्यालय, दिल्ली
23 हैदराबाद विश्वविद्यालय, हैदराबाद

सर्वश्रेष्ठ सरकार संचालित कॉलेज

कई निजी शीर्ष इंजीनियरिंग कॉलेजों सहित कई कॉलेज, विभिन्न BE/B-Tech पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए जेईई मेन के अंकों को स्वीकार करते हैं। हालांकि, इंजीनियरिंग में करियर बनाने के इच्छुक भारतीय छात्रों के लिए सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज हमेशा पहली पसंद रहे हैं। सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज उनकी पहली पसंद होने के पीछे कई कारण हैं। उनमें से कुछ हैं:

  • कम ट्यूशन और परीक्षा शुल्क
  • अच्छी तरह से स्थापित प्रयोगशाला
  • उच्च मान्यता
  • ऐतिहासिक विरासत
क्रम संख्या: संस्थान का नाम स्थान
1 रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान मुंबई
2 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान तिरुचिरापल्ली त्रिची
3 जादवपुर विश्वविद्यालय कोलकाता
4 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान राउरकेला राउरकेला
5 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान सुरथकाली मंगलौर
6 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान वारंगल वारंगल
7 भारतीय इंजीनियरिंग विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान शिबपुर
8 विश्वेश्वरैया राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान नागपुर
9 जामिया मिलिया इस्लामिया नई दिल्ली
10 सत्यभामा विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान चेन्नई
11 अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान हैदराबाद
12 दिल्ली प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय दिल्ली
13 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान कुरुक्षेत्र कुरुक्षेत्र
14 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान दुर्गापुर दुर्गापुर
15 मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान इलाहाबाद
16 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान कालीकट कोझिकोड
17 मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जयपुर
18 अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान, बैंगलोर बैंगलोर
19 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान सिलचर सिलचर
20 सरदार वल्लभभाई राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान गुजरात
21 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान हमीरपुर हिमाचल प्रदेश
22 इंद्रप्रस्थ सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली दिल्ली
23 दयालबाग शैक्षिक संस्थान आगरा
24 जेपी इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी नोएडा
25 पीईसी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय चंडीगढ़
26 डॉ. बी.आर. अम्बेडकर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान जालंधर
27 बन्नारी अम्मान प्रौद्योगिकी संस्थान कोयंबटूर
28 बी. एस. अब्दुर रहमान विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्थान चेन्नई
29 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान रायपुर रायपुर
30 भारती विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग पुणे
31 जेपी सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय नोएडा
32 सेना प्रौद्योगिकी संस्थान पुणे
33 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान इलाहाबाद इलाहाबाद
34 पंडित द्वारका प्रसाद मिश्रा भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी, डिजाइन और विनिर्माण संस्थान (IIITDM) जबलपुर
35 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान अगरतला अगरतला
36 गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी, कोयंबटूर कोयंबटूर
37 श्री माता वैष्णो देवी विश्वविद्यालय कटरा
38 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान मेघालय शिलांग
39 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जालंधर जालंधर
40 श्री जीएस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस इंदौर
41 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, हमीरपुर हमीरपुर
42 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, जमशेदपुर जमशेदपुर
43 उस्मानिया यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग हैदराबाद
44 जवाहरलाल नेहरू प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, काकीनाडा काकीनाडा
45 यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, बुर्ला बुर्ला
46 श्री वेंकटेश्वर यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग तिरुपति
47 इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी संस्थान लखनऊ
48 राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रायपुर रायपुर
49 गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज, त्रिशूर त्रिशूर

सर्वश्रेष्ठ निजी कॉलेज

प्लेसमेंट के आधार पर भारत के शीर्ष पांच इंजीनियरिंग कॉलेज हैं:

  • BITS पिलानी
  • KIIT, भुवनेश्वर 
  • VIT विश्वविद्यालय, वेल्लोर
  • SASTRA (विश्विद्यालय माना जाता है), तंजावुर
  • अमृता विश्व विद्यापीठम कोयंबटूर

समान परीक्षाएं

Similar Exam

समांतर परीक्षाओं की सूची

जेईई मेन के अलावा, भारत में अन्य लोकप्रिय प्रवेश परीक्षाओं में BITSAT, SRMJEEE, COMEDK, VITEEE, MHT CET और अन्य शामिल हैं। कुल मिलाकर, अधिकांश इच्छुक इंजीनियर एक अकादमिक सत्र में एक से अधिक परीक्षाओं में शामिल होते हैं। कई इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाएं हैं जो छात्र B. Tech में प्रवेश के लिए विचार से कक्षा 12 को पूरा करने के बाद दे सकते हैं। 

इसके अलावा, भारत में अन्य लोकप्रिय इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं पर एक नज़र डालें।

TS EAMCET KEAM
AP EAMCET UPSEE
KCET SITEEE

आगामी परीक्षा

Similar

आगामी परीक्षाओं की सूची

वर्ष 2023 के लिए IIT में स्नातक कार्यक्रमों में प्रवेश लेने के इच्छुक सभी उम्मीदवारों को B. E./B. Tech. जेईई (मेन)-2023 की परीक्षा में उपस्थित होना होगा। जेईई (मेन)-2023 के B. E./B. Tech. में प्रदर्शन के आधार पर जेईई (एडवांस) (सभी श्रेणियों सहित) की आवश्यकता के अनुसार टॉप उम्मीदवारों की संख्या जेईई (एडवांस) -2023 में बैठने की पात्र होगी।

जेईई मेन 2023 कट-ऑफ प्रिडिक्टर

Prediction

फाइनल परीक्षा से पहले जेईई मेन कट-ऑफ प्रिडिक्टर

यह जेईई मेन में उपस्थित होने वाले उम्मीदवारों के लिए एक सहायक उपकरण है। वे अपने जेईई मेन के अंकों के आधार पर अपने जेईई मेन 2023 रैंक की भविष्यवाणी कर सकते हैं। एक सटीक विश्लेषण प्राप्त करने के लिए, आपकी रैंक की भविष्यवाणी करते समय पिछले पांच वर्षों के रुझानों पर विचार किया जाता है। 

जैसे ही परीक्षाएं समाप्त होती हैं, उम्मीदवारों को अपने संभावित स्कोर का अनुमान लगाने के लिए विभिन्न संस्थानों और शिक्षण प्लेटफार्मों द्वारा प्रदान किए गए जेईई मेन उत्तर पुस्तिका और समाधानों का उपयोग करना चाहिए, जिसमें Embibe भी शामिल है। अब उम्मीदवार को अपना जेईई मेन 2023 की अनुमानित रैंक प्राप्त करने के लिए टूल में पर्सेंटाइल या स्कोर दर्ज करना चाहिए।

जेईई मेन रैंक प्रेडिक्टर टूल: अपने जेईई मेन 2023 रैंक का अनुमान कैसे लगाएं?

आपको अपनी रैंक का अनुमान लगाने और जेईई मेन रैंक प्रेडिक्टर का प्रभावी ढंग से उपयोग करने के लिए निम्नलिखित स्टेप का पालन करना होगा:

स्टेप-1: Embibe के जेईई मेन रैंक प्रेडिक्टर लिंक पर जाएं।
स्टेप-2: अब “अभी शुरू करें” बटन पर क्लिक करें।
स्टेप-3: यह आपको कॉलेज प्रेडिक्टर होमपेज पर ले जाएगा।
स्टेप-4: थोड़ा नीचे स्क्रॉल करें। अपना शैक्षिक विवरण दर्ज करके प्रारंभ करें - परीक्षा, ड्रीम कॉलेज, इच्छुक शाखा, लक्ष्य परीक्षा वर्ष और अपेक्षित परीक्षा अंक प्रतिशत में। फिर, "अगला" बटन पर क्लिक करें।
स्टेप-5: अब, अपना निजी विवरण दर्ज करें जैसे – नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर, वर्ग, शारीरिक रूप से विकलांग और राज्य आदि। फिर अंत में, "प्रेडिक्ट नाउ" पर क्लिक करें।
स्टेप-6: चयनित कॉलेजों और शाखाओं पर शिक्षा-योग्यता के साथ आपकी अनुमानित रैंक, आपकी स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी।

जेईई मेन रैंक प्रेडिक्टर 2023: स्कोर vs रैंक 

राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी (NTA) जेईई मेन परीक्षा आयोजित करती है। एनटीए, जेईई मेन रिजल्ट जारी होते ही जेईई मेन स्कोर बनाम रैंक की घोषणा करता है।

जेईई मेन स्कोर बनाम रैंक का निर्धारण करते समय निम्नलिखित कारकों को ध्यान में रखा जाता है:

  1. जेईई मेन परीक्षा में बैठने वाले उम्मीदवारों की कुल संख्या
  2. परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों की संख्या
  3. परीक्षा प्रश्न पत्रों का कठिनाई स्तर
  4. उम्मीदवारों का प्रदर्शन
  5. पिछले वर्षों के जेईई मेन स्कोर बनाम रैंक

जेईई मेन 2023 रैंक प्रेडिक्टर – पर्सेंटाइल Vs रैंक

हमारी टीम ने पिछले वर्ष के रुझान विश्लेषण के अनुसार अपेक्षित जेईई मेन पर्सेंटाइल बनाम रैंक रेंज तैयार की है। जेईई मेन के उम्मीदवार प्राप्त होने वाले प्रतिशत के आधार पर अपनी रैंक का अनुमान लगा सकते हैं।

जेईई मेन के पर्सेंटाइल अंक अपेक्षित जेईई मेन रैंक
100 1
99 8746+
98 17,490+
97 26,235+
96 34,980+
95 43,724+
94 52,469+
93 61,214+
92 69,959+
91 78,703+
90 87,448+
85 1,31,171+
80 1,74,895+
70 2,62,342+
60 3,49,789+
50 4,37,236+
40 5,24,682+
30 6,12,129+
20 6,99,576+
10 7,87,023+
5 8,30,747+
0 8,50,000+

प्रैक्टिकल नॉलेज /कैरियर लक्ष्य

Prediction

भविष्य के कौशल

प्रत्येक इंजीनियरिंग अनुशासन के लिए, विभिन्न प्रकार की नौकरियों के लिए अलग-अलग कौशल सेट की आवश्यकता होती है। जबकि कुछ विशिष्ट कौशल सेट उनके संस्थागत पाठ्यक्रम और प्रशिक्षण के माध्यम से प्रगति के रूप में बनाए जाएंगे, यह महत्वपूर्ण है कि छात्र इंजीनियरिंग अनुशासन के लिए सीटों की पसंद भरते समय अपने वर्तमान कौशल समूह के प्रति अपने अलाइनमेंट की जांच करें।

कैरियर कौशल

भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (IIITs)

दो चरणों में, भारतीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (IIIT) अपने विद्यार्थियों के लिए प्लेसमेंट ड्राइव का आयोजन करता है। पहला भाग दिसंबर के पहले सप्ताह से शैक्षणिक वर्ष के अंतिम सप्ताह तक चलता है और दूसरा चरण जनवरी के पहले सप्ताह से शैक्षणिक वर्ष के अंत तक चलता है।

कई IIITs में प्लेसमेंट सीजन के दौरान, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध कोऑपरेशन इंजीनियरिंग और अन्य स्नातकों को नियुक्त करने के लिए आते हैं।

IIITs में दिया जाने वाला उच्चतम वेतन पैकेज आमतौर पर प्रति वर्ष एक करोड़ रुपये से अधिक है, जबकि शीर्ष IIITs में स्टूडेंट्स के लिए औसत पैकेज प्रति वर्ष 10-15 लाख रुपये है, जबकि अन्य IIITs के लिए यह प्रति वर्ष 5-10 लाख रुपये के बीच है।

गूगल, माइक्रोसोफ्ट, अमेज़न, गोल्डमैन सैक्स, एबोड, क्वालकॉम, एनविडिया, वाधवानी एआई, WDC, टावर रीसर्च, HSBC मैथवर्क्स, हर्मन कार्डन, रिलायंस, सैमसंग और R&D सहित अन्य विभिन्न पदों के लिए इंजीनियरिंग स्नातकों की भर्ती के लिए IIIT कैम्पस का दौरा किया।

इंजीनियरिंग स्नातकों को विभिन्न क्षेत्रों और डोमेन में विभिन्न भूमिकाओं की पेशकश की जाती है। सॉफ्टवेयर विकास के क्षेत्र में प्रोफाइल की सबसे अधिक मांग है।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NITs)

भारत के अधिकांश राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (NITs) 1 दिसंबर से 31 मार्च तक विभिन्न अवधियों में अपने छात्रों के लिए प्लेसमेंट ड्राइव आयोजित करते हैं। दुनिया की लगभग हर प्रतिष्ठित कंपनी इंजीनियरिंग और अन्य स्नातकों की भर्ती के लिए NIT कैम्पस में आती है।

एलिट NITs के स्टूडेंट अक्सर प्रति वर्ष 5-10 लाख रुपये कमाते हैं, जबकि अन्य NITs के स्टूडेंट प्रति वर्ष 5-10 लाख रुपये कमाते हैं।

शीर्ष घरेलू और अंतरराष्ट्रीय कंपनियां महिंद्रा एंड महिंद्रा, अशोक लीलैंड, टाटा मोटर्स, मारुति सुजुकी, ट्रेंडेंस, क्वाडआई सिक्योरिटी, लोव्स, विसेन, नोकिया, इंक्चर, फार्मईजी, एटीसीएस, तोशिबा, कार्टेशियन कंसल्टिंग, एसएपी, क्वालकॉम, ओरेकल, आईबीएम, सिस्को, अमेज़न, आरसीजियम, एप्पडायनैमिक्स आदि ने विभिन्न नौकरी भूमिकाओं के लिए इंजीनियरिंग स्नातकों की भर्ती के लिए NIT कैम्पस का दौरा किया।

इंजीनियरिंग स्नातकों को विभिन्न क्षेत्रों और डोमेन में विभिन्न पदों की पेशकश की जाती है। बिजनेस एनालिटिक्स, कोडिंग और सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट में प्रोफाइल की बहुत मांग है। ऑटोमोबाइल और तेजी से आगे बढ़ने वाली कंज्यूमर गुड्स कंपनियों ने भी इंजीनियरिंग स्नातकों की भर्ती के लिए NIT कैम्पस का दौरा किया है। समारोह के संदर्भ में, अधिकांश प्रस्ताव इंजीनियरिंग सलाहकारों के लिए हैं।

कैरियर की संभावनाएं / कौन सा वर्ग चुनें?

उच्च-माध्यमिक शिक्षा पूरी करने के बाद, अभ्यर्थियों को प्रवेश की औपचारिकताओं के दौरान अपनी रुचि का एक ब्रांच चयन करने का विकल्प मिलता है। ब्रांच चुनने का यह निर्णय एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, प्रत्येक अभ्यर्थी को अपनी विशेषज्ञता की पहचान करने के लिए नीचे दिए गए व्यवहार कौशल का पालन करना चाहिए।

  1. रुचि-क्षेत्र: अनुसंधान करने में रुचि रखने वाले अभ्यर्थी को 'अनुसंधान और विकास' की पेशकश करने वाली शाखाओं की पहचान करनी चाहिए।
  2. समझने में आसानी: भौतिकी, रसायन विज्ञान या जीव विज्ञान जैसे किसी भी विशिष्ट विषय के साथ सहज छात्र को एक ऐसे स्ट्रीम का चयन करना चाहिए जो उनकी मूल शक्तियों पर केंद्रित हो।
  3. कैरियर लक्ष्य: ब्रांच का चयन उतना ही अच्छा होना चाहिए जितना कि सपने के सच होने की स्थिति हो और फिर आगे जाकर उमीदवार को अपने निर्णय पर पछतावा न हो।
  4. प्राथमिकता सूची: यदि कोई स्टूडेंट अपनी पसंद की स्ट्रीम चुनने में असमर्थ है, तो उसके पास हमेशा कुछ बैकअप विकल्प और स्ट्रीम की प्राथमिकता सूची तैयार होनी चाहिए।

अभ्यर्थियों के पास इंजीनियरिंग में दो पाठ्यक्रमों में से किसी एक को चुनने का विकल्प है।

  1. B. Tech (Bachelor of Technology)
  2. B. E. (Bachelor of Engineering) 

इंजीनियरिंग में उपलब्ध स्ट्रीम

  • एरोनॉटिकल इंजीनियरिंग
  • एयरक्राफ्ट मैंटीनैंस इंजीनियरिंग
  • एग्रीकल्चर एंड इरिगेशन इंजीनियरिंग
  • एरोस्पेस इंजीनियरिंग
  • मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  • सिविल इंजीनियरिंग
  • इंस्ट्रुमेंटेशन इंजीनियरिंग
  • कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग
  • केमिकल इंजीनियरिंग
  • एल्क्ट्रिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग
  • एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग
  • ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग
  • इंडस्ट्रियल इंजीनियरिंग
  • मैनुफैक्चरिंग इंजीनियरिंग
  • मरीन इंजीनियरिंग
  • मेटालर्जिकल इंजीनियरिंग
  • सिरेमिक इंजीनियरिंग
  • माइनिंग इंजीनियरिंग
  • बायोमेडिकल इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंस्ट्रुमेंटेशन इंजीनियरिंग
  • इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियरिंग
  • जेनेटिक इंजीनियरिंग
  • प्रोडक्शन इंजीनियरिंग
  • पेट्रोकेमिकल इंजीनियरिंग
  • पॉलीमर इंजीनियरिंग
  • टेक्सटाइल इंजीनियरिंग
  • इंस्ट्रुमेंटेशन एंड कंट्रोल इंजीनियरिंग
  • मैटेरिअल साइंस एंड इंजीनियरिंग

हिंट और सॉल्यूशन की मदद से जेईई मेन के जटिल से जटिल सवालों का पाएं चुटकियों में हल