उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 परीक्षा

अपने चयन के अवसरों को बढ़ाने के लिए अभी से Embibe के साथ अपनी
तैयारी शुरू करें
  • Embibe कक्षाओं तक असीमित पहुंच
  • मॉक टेस्ट के नवीनतम पैटर्न के साथ प्रयास करें
  • विषय विशेषज्ञों के साथ 24/7 चैट करें

6,000आपके आसपास ऑनलाइन विद्यार्थी

  • द्वारा लिखित Aishwarya Lakshmi
  • अंतिम संशोधित दिनांक 11-04-2022
  • द्वारा लिखित Aishwarya Lakshmi
  • अंतिम संशोधित दिनांक 11-04-2022

परीक्षा के बारे में

About Exam

परीक्षा का संक्षिप्त विवरण

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद् (UBSE), उत्तराखंड सरकार के तहत एक शैक्षिक संस्था है। इसमें मुख्य रूप से उत्तराखंड के विद्यालयों के लिए पाठ्यक्रम, पाठ्यपुस्तकें निर्धारित करना शामिल है। बोर्ड परीक्षा आयोजित करने और माध्यमिक विद्यालय परीक्षा के परिणाम प्रकाशित करने के लिए भी जिम्मेदार है।

बोर्ड का नाम उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद्
सामान्यतः ज्ञात नाम UBSE
स्थापना वर्ष 1999
मुख्यालय उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद्,
रामनगर, जिला - नैनीताल
फ़ोन नंबर 05947-254275
फैक्स नंबर 05947-255021
आधिकारिक वेबसाइट https://ubse.uk.gov.in/

परीक्षा सारांश

कक्षा 6 शिक्षा का एक बहुत ही महत्वपूर्ण चरण है क्योंकि यह निम्न माध्यमिक विद्यालय की शुरुआत है। विद्यार्थियों को विज्ञान और सामाजिक विज्ञान जैसे नए विषयों से अवगत कराया जाता है। यह विज्ञान, गणित और सामाजिक विज्ञान जैसे विषयों की नींव रखता है। कक्षा 6 में, विद्यार्थियों का मूल्यांकन उत्तराखंड बोर्ड के CCE (सतत व्यापक मूल्यांकन) दिशानिर्देशों के अनुसार किया जाता है। CCE बच्चे के समग्र व्यक्तित्व विकास के उद्देश्य से निम्नलिखित शैक्षिक और सह-शैक्षिक क्षेत्रों में प्रदर्शन का मूल्यांकन करता है। 

शैक्षिक क्षेत्र सह-शैक्षिक क्षेत्र
अंग्रेज़ी अभिवृत्ति और मूल्य
हिंदी/संस्कृत/उर्दू सौंदर्य कौशल
गणित स्वास्थ्य और शारीरिक शिक्षा
विज्ञान साहित्यिक और रचनात्मक कौशल में भागीदारी
सामाजिक विज्ञान साहित्यिक और रचनात्मक कौशल में उपलब्धियाँ
  स्काउट्स एंड गाइड्स
  NSS

शैक्षिक क्षेत्र

शैक्षिक क्षेत्रों का आकलन दो मूल्यांकन, अर्थात् रचनात्मक मूल्यांकन (FA) और योगात्मक मूल्यांकन (SA) के माध्यम से किया जाता है। 

रचनात्मक मूल्यांकन (FA): रचनात्मक मूल्यांकन निम्नलिखित के माध्यम से किया जाता है:

  • पेन-पेपर परीक्षण
  • प्रश्नोत्तरी
  • साक्षात्कार
  • दृश्य परीक्षण
  • असाइनमेंट (समनुदेशन)
  • प्रायोगिक परीक्षा 
  • मौखिक परीक्षा
  • परियोजना 
  • पहेली
  • समूह गतिविधियाँ
  • अध्ययन यात्रा
  • सेमिनार

योगात्मक मूल्यांकन (SA)योगात्मक मूल्यांकन, UBSE दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करते हुए विद्यालय प्राधिकरण द्वारा अर्ध-वार्षिक रूप से किया जाता है। UBSE पाठ्यक्रम के अनुसार विद्यार्थियों का मूल्यांकन किया जाता है।

मूल्यांकन तीन मुख्य विषयों अर्थात्, गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान और दो भाषाओं, एक अंग्रेजी है, और दूसरी हिंदी, संस्कृत या उर्दू है, पर आधारित है।

परीक्षा दो सत्रों में आयोजित की जाती है:

सत्र रचनात्मक मूल्यांकन के लिए अंक योगात्मक मूल्यांकन के लिए अंक कुल प्रतिशत
सत्र I 10% 40% 50%
सत्र II 10% 40% 50%
कुल 20% 80% 100%

आधिकारिक वेबसाइट लिंक

https://ubse.uk.gov.in/

परीक्षा पाठ्यक्रम

Exam Syllabus

परीक्षा पाठ्यक्रम

उत्तराखंड बोर्ड SCERT (राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद) उत्तराखंड द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम और पाठ्यपुस्तकों का अनुसरण करता है। वैश्विक शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करने के लिए, SCERT ने NCF 2005 के सानिध्य में अपना पाठ्यक्रम तैयार किया। पाठ्यक्रम को सरल, आसानी से समझने योग्य तरीके से बनाया गया है क्योंकि विद्यार्थी नए विषयों, तकनीकी शब्दों, सूत्रों आदि को उजागर कर रहा है।

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 के लिए पाठ्यपुस्तकें

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 के लिए पाठ्यपुस्तकें
विषय पाठ्यपुस्तक का नाम पाठ्यपुस्तक का लिंक
गणित कक्षा VI के लिए गणित की पाठ्यपुस्तक गणित कक्षा 6
विज्ञान कक्षा VI के लिए विज्ञान की पाठ्यपुस्तक विज्ञान कक्षा 6
सामाजिक विज्ञान कक्षा VI के लिए सामाजिक और राजनीतिक जीवन- I की पाठ्यपुस्तक राजनीति विज्ञान कक्षा 6
कक्षा VI के लिए इतिहास में हमारे अतीत-I की पाठ्यपुस्तक इतिहास कक्षा 6
कक्षा VI के लिए भूगोल में पृथ्वी - हमारा आवास की पाठ्यपुस्तक भूगोल कक्षा 6
अंग्रेज़ी कक्षा VI के लिए अंग्रेजी में HONEYSUCKLE की पाठ्यपुस्तक अंग्रेजी HONEYSUCKLE कक्षा 6
कक्षा VII के लिए अंग्रेजी में A PACT WITH THE SUN पूरक पाठ्यपुस्तक A PACT WITH THE SUN कक्षा 6
हिंदी वसंत भाग 1 हिंदी वसंत कक्षा 6
दूर्वा भाग 1 हिंदी दूर्वा कक्षा 6
बाल रामकथा हिंदी बाल रामकथा कक्षा 6


यहाँ पाँच विषयों का पाठ्यक्रम दिया गया है:

  • उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 गणित
  • उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 विज्ञान
  • उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 सामाजिक विज्ञान
  • उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 अंग्रेजी
  • उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 हिंदी

कक्षा 6 गणित के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम

SCERT (राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद) उत्तराखंड पाठ्यक्रम गतिविधि-आधारित शिक्षा के माध्यम से गणित की मजबूत मूल सिद्धांत विकसित करने पर केंद्रित है। पाठ्यक्रम बच्चे में गणितीय समझ और सोच के पोषण पर जोर देता है।

कक्षा 6 गणित के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम
अध्याय 1 अपनी संख्याओं की जानकारी
अध्याय 2 पूर्ण संख्याएँ
अध्याय 3 संख्याओं के साथ खेलना
अध्याय 4 आधारभूत ज्यामितीय अवधारणाएँ
अध्याय 5 प्रारंभिक आकारों को समझना
अध्याय 6 पूर्णांक
अध्याय 7 भिन्न
अध्याय 8 दशमलव
अध्याय 9 आँकड़ों का प्रबंधन
अध्याय 10 क्षेत्रमिति
अध्याय 11 बीजगणित
अध्याय 12 अनुपात और समानुपात
अध्याय 13 सममिति
अध्याय 14 प्रायोगिक ज्यामिति

कक्षा 6 विज्ञान के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम

विज्ञान को सरल और समझने में आसान बनाने के लिए SCERT उत्तराखंड विज्ञान पाठ्यक्रम में कई दिलचस्प गतिविधियाँ, प्रयोग, परियोजनाएँ आदि शामिल हैं। यह विद्यार्थियों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण, प्रयोग कौशल आदि विकसित करने पर केंद्रित है।

कक्षा 6 विज्ञान के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम
अध्याय 1 भोजन: यह कहाँ से आता है
जीव विज्ञान
अध्याय 2 भोजन के घटक
अध्याय 3 तंतु से वस्त्र तक


रसायन विज्ञान
अध्याय 4 वस्तुओं के समूह बनाना
अध्याय 5 पदार्थों का पृथक्करण
अध्याय 6 हमारे चारों ओर के परिवर्तन
अध्याय 7 पौधों को जानिए
जीव विज्ञान
अध्याय 8 शरीर में गति
अध्याय 9 सजीव - विशेषताएँ एवं आवास
अध्याय 10 गति एवं दूरियों का मापन


भौतिक विज्ञान
अध्याय 11 प्रकाश - छायाएँ एवं परावर्तन
अध्याय 12 विद्युत तथा परिपथ
अध्याय 13 चुंबकों द्वारा मनोरंजन
अध्याय 14 जल
रसायन विज्ञान
अध्याय 15 हमारे चारों ओर वायु
अध्याय 16 कचरा - संग्रहण एवं निपटान जीव विज्ञान

कक्षा 6 सामाजिक विज्ञान के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम

सामाजिक विज्ञान पाठ्यक्रम हमें, विद्यार्थियों को, हमारी सामाजिक दुनिया की कार्य प्रणाली को समझने में मदद करता है। पाठ्यक्रम को तीन भागों, अर्थात् भूगोल, इतिहास और नागरिक शास्त्र में विभाजित किया गया है। भूगोल भारत के भूगोल, ग्रह, पृथ्वी आदि के बारे में बताता है। नागरिक शास्त्र सामाजिक और राजनीतिक जीवन को व्यवस्थित करने के तरीके के बारे में सिखाता है। इतिहास अतीत और समय की अवधि में हुए परिवर्तनों आदि को जानने में मदद करता है।

कक्षा 6 सामाजिक विज्ञान के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम
अध्याय अध्याय का नाम  
अध्याय 1 सौरमंडल में पृथ्वी भूगोल
अध्याय 2 ग्लोब: अक्षांश और देशांतर
अध्याय 3 पृथ्वी की गतियाँ
अध्याय 4 मानचित्र
अध्याय 5 पृथ्वी के प्रमुख परिमंडल
अध्याय 6 पृथ्वी के प्रमुख स्थलरूप
अध्याय 7 हमारा देश: भारत
अध्याय 8 भारत: जलवायु, वनस्पति तथा वन्य प्राणी
अध्याय 1 क्या, कब, कहाँ और कैसे ? इतिहास
अध्याय 2 शुरुआती लोगों की राह पर
अध्याय 3 खाद संग्रह से भोजन उत्पादन तक
अध्याय 4 आरम्भिक नगर
अध्याय 5 क्या बताती हैं हमें किताबें और कब्रें?
अध्याय 6 राज्य, राजा और एक प्राचीन गणराज्य
अध्याय 7 नए प्रश्न नए विचार
अध्याय 8 सम्राट अशोक
अध्याय 9 खुशहाल गाँव और समृद्ध शहर
अध्याय 10 व्यापारी, राजा और तीर्थयात्री
अध्याय 11 नए साम्राज्य और राज्य
अध्याय 12 इमारतें, चित्र तथा किताबें
अध्याय 1 विविधता की समझ
राजनीति विज्ञान
अध्याय 2 विविधता एवं भेदभाव
अध्याय 3 सरकार क्या है?
अध्याय 4 लोकतांत्रिक सरकार के मुख्य तत्व
अध्याय 5 पंचायती राज
अध्याय 6 गाँव का प्रशासन
अध्याय 7 नगर प्रशासन
अध्याय 8 ग्रामीण क्षेत्र में आजीविका
अध्याय 9 शहरी क्षेत्र में आजीविका

कक्षा 6 अंग्रेजी के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम

SCERT उत्तराखंड अंग्रेजी पाठ्यक्रम ने कक्षा 6 के लिए दो पाठ्यपुस्तकें अर्थात Honeysuckle और A Pact with the Sun पूरक पाठ्यपुस्तक निर्धारित की हैं। यह व्यापक पठन और लेखन कौशल के माध्यम से भाषा विकास, शब्दावली विकास पर केंद्रित है।

कक्षा 6 अंग्रेजी के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम
Chapters and Poetry in Textbook Honeysuckle
Chapter No. Chapter Names
1 Who Did Patrick’s Homework?
2 How the Dog Found Himself a New Master!
3 Taro's Reward
4 An Indian-American Woman in Space
5 A Different Kind of School
6 Who I Am
7 Fair Play
8 A Game of Chance
9 Desert Animals
10 The Banyan Tree
Poetry No. Poetry Name
1 A House, A Home
2 The Kite
3 The Quarrel
4 Beauty
5 Where Do All the Teachers Go
6 The Wonderful Words
7 Vocation
8 What if
9 Chapters
Chapters in Textbook A Pact with the Sun
Chapter No. Chapter Names
1 A Tale of Two Birds
2 The Friendly Mongoose
3 The Shepherd’s Treasure
4 The Old-Clock Shop
5 Tansen
6 The Monkey and the Crocodile
7 The Wonder Called Sleep
8 A Pact with the Sun
9 What Happened to the Reptiles
10 A Strange Wrestling Match

अंग्रेजी व्याकरण

Honeysuckle और A pact with the Sun के अलावा व्याकरण भी अंग्रेजी पाठ्यक्रम का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। अंग्रेजी व्याकरण में शामिल टॉपिक निम्न हैं:

  • Determiners
  • Linking Words
  • Adverbs (place and type)
  • Tense forms
  • Clauses
  • Passivisation
  • Adjectives (Comparative and Superlative)
  • Word order in sentence types 
  • Reported speech.

कक्षा 6 हिंदी के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 हिंदी के पाठ्यक्रम में व्याकरण, रचना और साहित्य (गद्य और कविता) शामिल हैं। उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 हिंदी पाठ्यक्रम को निम्नलिखित वर्गों में विभाजित किया गया है -

  1. वसंत के लिए हिंदी पाठ्यक्रम
  2. दूर्वा के लिए हिंदी पाठ्यक्रम
  3. बाल रामकथा के लिए हिंदी पाठ्यक्रम
  4. हिंदी व्याकरण पाठ्यक्रम

कक्षा 6 हिंदी के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम (वसंत पुस्तक)

अध्याय संख्या अध्याय का नाम
1 वह चिड़िया जो (कविता)
2 बचपन (संस्मरण)
3 नादान दोस्त (कहानी)
4 चाँद से थोड़ी-सी गप्पें (कविता)
5 अक्षरों का महत्त्व (निबंध)
6 पार नज़र के (कहानी)
7 साथी हाथ बढ़ाना (गीत) – एक दौड़ ऐसी भी (केवल पढ़ने के लिए)
8 ऐसे - ऐसे (एकांकी)
9 टिकट–अलबम (कहानी)
10 झाँसी की रानी (कविता)
11 जो देखकर भी नहीं देखते (निबंध) – छूना और देखना (केवल पढ़ने के लिए)
12 संसार पुस्तक है (पत्र)
13 मैं सबसे छोटी होऊँ (कविता)
14 लोकगीत (निबंध) – दो हरियाणवी लोकगीत (केवल पढ़ने के लिए)
15 नौकर (निबंध)
16 वन के मार्ग में (कविता)
17 साँस – साँस मे बाँस (निबंध) – पेपरमेशी (केवल पढ़ने के लिए)

कक्षा 6 हिंदी के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम (दूर्वा पुस्तक)

अध्याय संख्या अध्याय का नाम
1 कलम
2 किताब
3 घर
4 पतंग
5 भालू
6 झरना
7 धनुष
8 रूमाल
9 कक्षा
10 गुब्बारा
11 पर्वत
12 हमारा घर
13 कपडे की दूकान में
14 फूल
15 बातचीत
16 शिलांग से फ़ोन
17 तितली
18 ईश्वरचन्द्र विद्यासागर
19 प्रदर्शनी
20 चिट्ठी
21 अंगुलिमाल
22 यात्रा की तैयारी
23 हाथी
24 डॉक्टर
25 जयपुर से पत्र
26 बढ़े चलो
27 व्यर्थ की शंका
28 गधा और सियार

कक्षा 6 हिंदी के लिए उत्तराखंड बोर्ड पाठ्यक्रम (बाल राम कथा पुस्तक)

अध्याय संख्या अध्याय का नाम
1 अवधपुरी में राम
2 जंगल और जनकपुर
3 दो वरदान
4 राम का वन-गमन
5 चित्रकूट में भरत
6 दंडक वन में दस वर्ष
7 सोने का हिरण
8 सीता की खोज
9 राम और सुग्रीव
10 लंका में हनुमान
11 लंका विजय
12 राम का राज्याभिषेक

परीक्षा ब्लूप्रिंट

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 गणित के लिए ब्लूप्रिंट: 

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 गणित के लिए अध्याय स्तरीय अंक भार
अध्याय अध्याय का नाम अंक भार
सत्र I सत्र II
अध्याय 1 अपनी संख्याओं की जानकारी 7  
अध्याय 2 पूर्ण संख्याएँ 6  
अध्याय 3 संख्याओं के साथ खेलना 7  
अध्याय 4 आधारभूत ज्यामितीय अवधारणाएँ 6  
अध्याय 5 प्रारंभिक आकारों को समझना 6  
अध्याय 6 पूर्णांक   6
अध्याय 7 भिन्न   4
अध्याय 8 दशमलव   4
अध्याय 9 आँकड़ों का प्रबंधन 8  
अध्याय 10 क्षेत्रमिति   7
अध्याय 11 बीजगणित   5
अध्याय 12 अनुपात और समानुपात   5
अध्याय 13 सममिति   3
अध्याय 14 प्रायोगिक ज्यामिति   6
  योगात्मक मूल्यांकन (SA) 40 40
  रचनात्मक मूल्यांकन (FA) 10 10
  कुल 50 50

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 विज्ञान के लिए ब्लूप्रिंट:

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 विज्ञान के लिए अध्याय स्तरीय अंक भार
अध्याय अध्याय का नाम अंक भार
सत्र I सत्र II
अध्याय 1 भोजन: यह कहाँ से आता है 4  
अध्याय 2 भोजन के घटक 4  
अध्याय 3 तंतु से वस्त्र तक 4  
अध्याय 4 वस्तुओं के समूह बनाना 6  
अध्याय 5 पदार्थों का पृथक्करण 6  
अध्याय 6 हमारे चारों ओर के परिवर्तन 4  
अध्याय 7 पौधों को जानिए 5  
अध्याय 8 शरीर में गति 7  
अध्याय 9 सजीव - विशेषताएँ एवं आवास   5
अध्याय 10 गति एवं दूरियों का मापन   6
अध्याय 11 प्रकाश - छायाएँ एवं परावर्तन   6
अध्याय 12 विद्युत तथा परिपथ   6
अध्याय 13 चुंबकों द्वारा मनोरंजन   5
अध्याय 14 जल   4
अध्याय 15 हमारे चारों ओर वायु   4
अध्याय 16 कचरा - संग्रहण एवं निपटान   4
  योगात्मक मूल्यांकन (SA) 40 40
  रचनात्मक मूल्यांकन (FA) 10 10
  कुल 50 50

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 सामाजिक विज्ञान के लिए ब्लूप्रिंट:

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 सामाजिक विज्ञान के लिए अध्याय स्तरीय अंक भार
अध्याय अध्याय का नाम अंक भार विषय
सत्र I सत्र II
अध्याय 1 सौरमंडल में पृथ्वी 2   भूगोल
अध्याय 2 ग्लोब: अक्षांश और देशांतर 3  
अध्याय 3 पृथ्वी की गतियाँ 4  
अध्याय 4 मानचित्र 4  
अध्याय 5 पृथ्वी के प्रमुख परिमंडल   2
अध्याय 6 पृथ्वी के प्रमुख स्थलरूप   2
अध्याय 7 हमारा देश: भारत   2
अध्याय 8 भारत: जलवायु, वनस्पति तथा वन्य प्राणी   4
अध्याय 1 क्या, कब, कहाँ और कैसे ? 1   इतिहास
अध्याय 2 शुरुआती लोगों की राह पर 2  
अध्याय 3 खाद संग्रह से भोजन उत्पादन तक 1  
अध्याय 4 आरम्भिक नगर 2  
अध्याय 5 क्या बताती हैं हमें किताबें और कब्रें? 2  
अध्याय 6 राज्य, राजा और एक प्राचीन गणराज्य 3  
अध्याय 7 नए प्रश्न नए विचार 3  
अध्याय 8 सम्राट अशोक   4
अध्याय 9 खुशहाल गाँव और समृद्ध शहर   3
अध्याय 10 व्यापारी, राजा और तीर्थयात्री   4
अध्याय 11 नए साम्राज्य और राज्य   3
अध्याय 12 इमारतें, चित्र तथा किताबें   4
अध्याय 1 विविधता की समझ 2  
राजनीति विज्ञान
अध्याय 2 विविधता एवं भेदभाव 2  
अध्याय 3 सरकार क्या है? 3  
अध्याय 4 लोकतांत्रिक सरकार के मुख्य तत्व 2  
अध्याय 5 पंचायती राज 4  
अध्याय 6 गाँव का प्रशासन   4
अध्याय 7 नगर प्रशासन   3
अध्याय 8 ग्रामीण क्षेत्र में आजीविका   3
अध्याय 9 शहरी क्षेत्र में आजीविका   2
  योगात्मक मूल्यांकन (SA) 40 40  
  रचनात्मक मूल्यांकन (FA) 10 10  
  कुल 50 50  

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 अंग्रेजी के लिए ब्लूप्रिंट

अंग्रेजी में अंकों को चार वर्गों, अर्थात पढ़ने की समझ, लेखन कौशल, व्याकरण और साहित्य में बांटा गया है।

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 अंग्रेजी के लिए अध्याय स्तरीय अंक भार
खंड अंक भार
सत्र I सत्र II
पढ़ने की समझ 10 10
लेखन कौशल 10 10
व्याकरण 7 7
साहित्य 13 13
योगात्मक मूल्यांकन (SA) 40 40
रचनात्मक मूल्यांकन (FA) 10 10
कुल 50 50

प्रैक्टिकल/प्रयोग सूची और मॉडल लेखन

उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 विज्ञान के लिए प्रायोगिक/ प्रयोग सूची:

अध्याय प्रयोग
भोजन: यह कहाँ से आता है
  • एक विद्यार्थी मूंग, चना आदि जैसे बीजों के अंकुरण से संबंधित प्रयोग कर सकता है।
  • भारत के विभिन्न क्षेत्रों के पशुओं के भोजन की आदतों और खाद्य संस्कृति पर एक चार्ट तैयार करना।
भोजन के घटक
  • भारत के विभिन्न क्षेत्रों में भोजन की विविधता का अध्ययन करना।
  • देश के विभिन्न भागों में खाए जाने वाले खाद्य पदार्थों की विविधता के संदर्भ में संतुलित आहार का मेनू तैयार करना।
  • खाद्य घटकों के अनुसार खाद्य पदार्थों का वर्गीकरण।
  • स्टार्च, शर्करा, प्रोटीन और वसा के लिए परीक्षण।
तंतु से वस्त्र तक
  • विभिन्न प्रकार के कपड़ों में अंतर करने के लिए सरल गतिविधियाँ की जा सकती हैं।
  • स्थानीय रूप से उपलब्ध पादप रेशों (नारियल, रेशमी कपास, आदि) पर सूचना एकत्र करने के लिए क्षेत्र सर्वेक्षण।
वस्तुओं के समूह बनाना
  • वस्तुओं को स्थूल गुणों, जैसे खुरदरापन, चमक, पारदर्शिता, घुलनशीलता, पूर्व ज्ञान का उपयोग करते हुए डूबना/तैरना, के आधार पर समूहित करने के लिए एक प्रयोग किया जा सकता है।
  • जलने, प्रसार या संपीड़न, अवस्था परिवर्तन जैसे प्रभावों को उजागर करने के लिए हवा, मोम, कागज, धातु, पानी को गर्म करने वाले प्रयोग।
  • सामान्यतः उपलब्ध पदार्थों की विलेयता के परीक्षण के लिए प्रयोग।
  • विलेयता पर ताप और शीतलन के प्रभाव पर प्रयोग।
  • अ-मानक इकाइयों (जैसे चम्मच, पेपर कोन) का उपयोग करके विभिन्न पदार्थों की विलेयता की तुलना।
पदार्थों का पृथक्करण
  • अवसादन, निस्पंदन पर प्रयोग किए जा सकते हैं।
  • नमक और रेत के मिश्रण को अलग करना।
हमारे चारों ओर के परिवर्तन
  • अन्य परिवर्तनों पर चर्चा जिन्हें उलटा नहीं किया जा सकता है - बड़ा होना, फल की कली का खुलना, दूध का फटना।
पौधों को जानिए
  • तने द्वारा संवाहन दिखाने के लिए प्रयोग, जड़ों द्वारा जकड़ दिखाने की गतिविधि, जड़ों द्वारा अवशोषण।
  • किसी भी फूल का अध्ययन, भागों की संख्या गिनना, भागों के नाम, अंडाशय के निरीक्षण के लिए अंडाशय के भागों को काटना।
शरीर में गति
  • X-किरण का अध्ययन करने के लिए गतिविधियाँ, जोड़ों के झुकने की दिशा का पता लगाना, पसलियों, रीढ़ की हड्डी आदि को महसूस करना
  • अन्य जानवरों में गति और कंकाल प्रणाली पर अवलोकन/चर्चा।
सजीव - विशेषताएँ एवं आवास
  • विभिन्न पत्तियों, पौधों के लिए वनस्पति संग्रहालय के नमूने तैयार करना; पौधों और जानवरों में संशोधनों का अध्ययन करना; यह देखना कि विभिन्न पर्यावरणीय कारक (जल उपलब्धता, तापमान) जीवित जीवों को कैसे प्रभावित करते हैं।
गति एवं दूरियों का मापन
  • लंबाई और दूरियों को मापना।
  • विभिन्न प्रकार की गति की पहचान और भेदभाव।
  • एक से अधिक प्रकार की गति वाली वस्तुओं का प्रदर्शन (स्क्रू की गति, साइकिल का पहिया, पंखा, टॉप आदि)
प्रकाश - छायाएँ एवं परावर्तन
  • यह दिखाने के लिए प्रयोग करें कि कुछ वस्तुएँ (चालक) धारा प्रवाहित होने देती हैं और अन्य (विद्युतरोधी) नहीं।
  • धूप में, मोमबत्ती की रोशनी में, और दिन के समय अच्छी रोशनी वाले क्षेत्र में हाथों से छाया बनाना और खेलना।
  • एक पिनहोल कैमरा बनाने और स्थिर तथा गतिमान वस्तुओं का निरीक्षण करने का एक प्रयोग।
विद्युत तथा परिपथ
  • धारा प्रवाह को दिखाने और बंद तथा खुले परिपथ की पहचान करने के लिए बल्ब, सेल तथा कुंजी और जोड़ने वाले तार का उपयोग करने वाली गतिविधि। एक स्विच बनाना। एक सूखा सेल खोलना।
चुंबकों द्वारा मनोरंजन
  • यह प्रदर्शित करना कि चुंबक द्वारा चीजें कैसे आकर्षित होती हैं।
  • चुंबक के ध्रुवों का पता लगाने की गतिविधि; लोहे के बुरादे और कागज के साथ गतिविधि।
  • एक निलंबित छड़ चुंबक और कम्पास सुई के साथ गतिविधियाँ।
  • यह दिखाने के लिए गतिविधियाँ कि जैसे समान ध्रुव एक दूसरे को प्रतिकर्षित होते हैं और विपरीत ध्रुव आकर्षित होते हैं।
जल
  • ठंडे पानी वाले गिलास के बाहर संघनन; उबलते पानी की गतिविधि और एक चम्मच पर भाप का संघनन।
  • जल चक्र का एक सरल मॉडल तैयार करना।
  • एक परिवार द्वारा एक दिन, एक माह, एक वर्ष में उपयोग किए जाने वाले जल का अनुमान।
हमारे चारों ओर वायु
  • वायु के विभिन्न घटकों के बारे में चर्चा कर सकते हैं।
कचरा - संग्रहण एवं निपटान
  • यह दिखाने की गतिविधि कि पदार्थ मिट्टी में गलते हैं; यह प्लास्टिक में लपेटने से प्रभावित होता है।
  • परिवारों द्वारा ठोस अपशिष्ट उत्पादन का सर्वेक्षण।
  • एक वर्ष में, एक दिन में (एक घर/गाँव/कॉलोनी आदि द्वारा) संचित अपशिष्ट का अनुमान।

स्कोर बढ़ाने के लिए अध्ययन योजना

Study Plan to Maximise Score

तैयारी के लिए सुझाव

  1. पाठ्यक्रम: सत्र I और सत्र II के सही पाठ्यक्रम को जानिए। साथ ही, महत्वपूर्ण टॉपिक्स की योजना,  प्रत्येक विषय के ब्लूप्रिंट का विचार रखें।
  2. समय सारिणी: एक सुनियोजित अध्ययन समय सारिणी तैयार करें और उसका सख्ती से पालन करें। परीक्षा के 10 दिन पहले, एक परीक्षा पुनरीक्षण समय सारिणी भी तैयार करें।
  3. सकारात्मक दृष्टिकोण: सभी विषयों के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण रखें। हमेशा सोचें कि आप इसे बेहतर कर सकते हैं। प्रत्येक विषय में अपने सामर्थ्य और कमजोरियों से अवगत रहें।
  4. सीखने की विधि: अध्ययन बिंदु बनाएं, महत्वपूर्ण तिथियों, वैज्ञानिकों के नाम, समीकरण आदि की सूची बनाएं। कागज पर अभ्यास करके अध्ययन करें, और केवल पढ़ने से बचें। टॉपिक्स को बार-बार रिवाइज करें।
  5. Embibe ऐप: अगर आपको कोई कठिनाई हो रही है, तो Embibe में हम यहाँ आपकी पढ़ाई में मदद करने के लिए हैं। हमने कक्षा 6 के पाठ्यक्रम के लिए कई अध्ययन साधन और अभ्यास सत्र तैयार किए हैं।
  6. मॉक टेस्ट: लगातार मॉक टेस्ट लें और पिछले प्रश्न पत्रों को हल करें।

परीक्षा देने की रणनीति

आप जिस परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, उसके लिए सभी टॉपिक्स के साथ अच्छी तरह से तैयार रहें।

  1. स्मृति संग्रह करना बेहतर है।
  2. परीक्षाओं के लिए हमेशा जल्दी पहुंचने का प्रयास करें ताकि आपको आराम करने के लिए एक पल मिल सके और अंतिम समय की भागदौड़ से बच सकें।
  3. हमेशा योजना बनाएं कि आवंटित परीक्षा समय का सही तरीके से उपयोग कैसे करें।
  4. बहुत अधिक तनाव में न आएं, और जैसा कि कहा गया है, हमेशा सकारात्मक दृष्टिकोण रखें और पूरे आत्मविश्वास के साथ परीक्षा का प्रयास करें और सभी प्रश्नों के उत्तर देने का प्रयास करें।
  5. जिन प्रश्नों का उत्तर निश्चित नहीं है, उन्हें पढ़ने और उनके उत्तर देने में ज्यादा समय बर्बाद न करें।
  6. एक ही प्रश्न क्रम में प्रश्नों के उत्तर देने के बजाय, आप उन प्रश्नों के उत्तर लिख सकते हैं जिन्हें आप अच्छी तरह से जानते हैं।
  7. उत्तर पुस्तिकाओं में प्रश्न संख्या सही-सही देना न भूलें।
  8. कोई भी प्रश्न अनुत्तरित न छोड़ें। बस प्रश्न को हल करने का प्रयास करें और कम से कम प्रश्न संख्या उत्तर पुस्तिका में लिखें।
  9. परीक्षा के समय निरीक्षक द्वारा दिए गए सभी निर्देशों को सुनें।
  10. निरीक्षक को उत्तर पुस्तिका देने से पहले, सुनिश्चित करें कि आपने सभी प्रश्नों को हल किया है और प्रत्येक प्रश्न की संख्या सही क्रम में की गई है।

विस्तृत अध्ययन योजना

एक विस्तृत अध्ययन योजना एक सुसंरचित योजना है जो विद्यार्थियों द्वारा उनके सीखने के लक्ष्यों के साथ-साथ अध्ययन के समय को सूचीबद्ध करती है। प्रत्येक दिन अध्ययन के लिए एक समय सारिणी बनाना बेहतर है। प्रतिदिन चार से पांच घंटे अकेले सुनियोजित ढंग से पढ़ाई में बिताएं। अच्छे श्रेणी में अंक प्राप्त करने और प्रभावी तरीके से सीखने के लिए विषयवार अध्ययन रणनीति यहाँ दी गई है।

गणित के लिए अध्ययन रणनीति:

गणित में आपकी समझ को बेहतर बनाने के लिए निम्नलिखित कुछ रणनीतियाँ हैं:

  • मूलभूत अवधारणाओं को सही ढंग से समझें।
  • हल किए गए प्रश्नों का अभ्यास करें और प्रतिदिन प्रश्नों का अभ्यास करें।
  • सबसे पहले साधारण प्रश्नों को हल करें, उसके बाद कठिन प्रश्नों को हल करें।
  • संख्याओं के जोड़, गुणा, घटाव, विभाजन और चिन्ह, अर्थात धनात्मक या ऋणात्मक के दौरान अतिरिक्त सतर्क रहें।
  • संख्यात्मक के सरलीकरण के दौरान संख्या को स्थानांतरित करने में सावधानी रखें।
  • एक किताब में महत्वपूर्ण समीकरणों की एक सूची बनाएं और उनका नियमित रूप से दोहराव करें।
  • परीक्षा के दौरान अपना समय बचाने के लिए गणना में लघु विधियों का प्रयोग करें।
  • ब्लूप्रिंट और प्रश्न पैटर्न को अच्छी तरह से जानें।
  • पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करें।
  • बार-बार मॉक टेस्ट लें।

विज्ञान के लिए अध्ययन रणनीति:

असंख्य आरेखों, समीकरणों, अभिक्रियाओं, सूत्रों, नियमों, संख्यात्मक और प्रयोगों के कारण, कभी-कभी विज्ञान इतना आसान नहीं लग सकता है। विज्ञान में अंकों को सुधारने के लिए यहाँ कुछ सुझाव दिए गए हैं।

  • अधिक कठिन टॉपिक पर आगे बढ़ने से पहले मूलभूत सिद्धांत समझें।
  • महत्वपूर्ण सूत्र, नियम, आरेख, वैज्ञानिक नाम और उनके आविष्कार, समीकरण आदि को एक कागज के टुकड़े या एक चार्ट पर लिखा जाना चाहिए जिसे आप हर दिन देख सकते हैं। यह अवधारणाओं को आसानी से याद करने में मदद करता है।
  • कुछ टॉपिक्स के लिए करके सीखने के तरीके को अपनाएं।
  • नियमित रूप से प्रयोग और गतिविधियाँ करें। यह आपको व्यावहारिक ज्ञान और मूलभूत सिद्धांतों की बेहतर समझ हासिल करने में मदद करेगा।
  • स्वच्छ नामांकित चित्र बनाने का अभ्यास करें।
  • वर्तनी की गलतियों से बचें क्योंकि इसमें कई तकनीकी शब्द हैं।
  • चित्र पर ज्यादा समय न लगाएं।
  • ब्लूप्रिंट के साथ-साथ प्रश्न पैटर्न को भी समझें।
  • कम से कम पिछले 5 वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करें।
  • बार-बार मॉक टेस्ट लें।

सामाजिक विज्ञान के लिए अध्ययन रणनीति

सामाजिक विज्ञान एक स्कोरिंग और दिलचस्प विषय है। यहाँ सामाजिक विज्ञान में अच्छे अंकों के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं।

  • महत्वपूर्ण तिथियों, घटनाओं, नामों आदि की एक सूची बनाएं।
  • पाठ्यपुस्तक को अच्छी तरह से पढ़ें।
  • नक्शे को अच्छी तरह से जानें।
  • पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों और मॉक टेस्ट को महत्व दें।

अंग्रेजी के लिए अध्ययन रणनीति

अंग्रेजी भी एक स्कोरिंग विषय है और गणित तथा विज्ञान की तुलना में तैयारी के लिए तुलनात्मक रूप से कम समय की आवश्यकता होती है। अंग्रेजी में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए यहाँ कुछ उपयोगी टिप्स दिए गए हैं।

  • समाचार पत्र, कहानी की किताबें, उपन्यास, विज्ञान कथा आदि पढ़ें, जो आपके अंग्रेजी भाषा के ज्ञान को बेहतर बनाने में आपकी मदद करेंगे।
  • Unseen passages, note-making आदि जैसे भाग को ज्यादा महत्व दें, क्योंकि इसमें ज्यादा तैयारी की जरूरत नहीं होती है।
  • व्याकरण भाषा का एक महत्वपूर्ण अंग है। व्याकरण की मूलभूत सिद्धांतों पर पूरी तरह से ध्यान दें।
  • वर्तनी की गलतियों से बचें।

अनुशंसित अध्याय

गणित के लिए महत्वपूर्ण टॉपिक 

अध्याय टॉपिक
अपनी संख्याओं की जानकारी
  • संख्याओं की तुलना और क्रमित करना
  • संख्यान की भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रणाली
  • बड़ी संख्याओं पर गणितीय संक्रियाएँ
  • गणनाओं को सरल बनाने के लिए कोष्ठक का उपयोग करना
  • हिंदू-अरबी और रोमन संख्यांक के बीच रूपांतरण
पूर्ण संख्याएँ
  • संख्या रेखा पर गणितीय संक्रियाएँ
  • योग पर गुणा करने के लिए पूर्ण संख्याओं का वितरण गुणधर्म
  • पूर्ण संख्याओं के लिए योगात्मक और गुणनात्मक तत्समक
संख्याओं के साथ खेलना
  • संख्याओं के गुणनखंड और गुणज ज्ञात करना
  • अभाज्य और भाज्य संख्याएँ
  • उभयनिष्ठ गुणनखंड और उभयनिष्ठ गुणज
  • किसी संख्या की 5 और 10 से विभाज्यता
  • किसी संख्या की 2, 4 और 8 से विभाज्यता
  • किसी संख्या की 3 और 9 से विभाज्यता
  • संख्याओं के अभाज्य गुणनखंड
पूर्णांक
  • पूर्णांकों की तुलना और क्रमित करना
  • पूर्णांकों का योग
  • पूर्णांकों का घटाव
भिन्न
  • दिए गए आँकड़ों द्वारा दर्शाए गए भिन्नों को ज्ञात करना और इसका विपरीत
  • दी गई स्थितियों में भिन्न ज्ञात करना
  • समान और असमान भिन्नों की तुलना और क्रमित करना
  • समान और असमान भिन्नों का जोड़ और घटाव
दशमलव
  • भिन्नों को सांत दशमलव में बदलना और इसका विपरीत
  • दशमलवों की तुलना और क्रमित करना
  • दशमलवों का जोड़ और घटाव
अनुपात और समानुपात
  • प्रश्नों को हल करने में अनुपातों का अनुप्रयोग
  • इकाई विधि

विज्ञान के लिए महत्वपूर्ण टॉपिक 

अध्याय टॉपिक
भोजन: यह कहाँ से आता है
  • भोजन की विविधता
  • खाद्य पदार्थ और उनके घटक
  • भोजन के स्रोत
  • भोजन के रूप में पौधे और पशु उत्पाद
  • खाद्य उत्पादक और उपभोक्ता
  • शाकाहारी, मांसाहारी और सर्वाहारी
भोजन के घटक
  • भोजन के घटक
  • खाद्य पोषक तत्वों के लिए परीक्षण
  • संतुलित आहार
  • कमी से होने वाले रोग
तंतु से वस्त्र तक
  • धागा, तंतु से वस्त्र तक
  • प्राकृतिक तंतु और कृत्रिम तंतु
  • कपास बॉल और कपास ओटना
  • कताई, बुनाई और बनाई
वस्तुओं के समूह बनाना
  • पदार्थों के गुणधर्म जैसे कठोरता, चमक, घुलनशीलता, तैरना, डूबना, अपारदर्शी, पारदर्शी और पारभासी
  • एक ही पदार्थ से बनी वस्तुएँ
  • विभिन्न पदार्थों से बनी वस्तुएँ
पदार्थों का पृथक्करण
  • हस्त चयन
  • थ्रेशिंग
  • निष्पावन
  • चालन
  • अवसादन
  • निस्तारण
  • निस्यंदन
  • वाष्पन
  • संघनन
  • विलयन
  • संतृप्त विलयन
  • असंतृप्त विलयन
  • मंथन
हमारे चारों ओर के परिवर्तन
  • सजीवों के लक्षण
  • आवास और उसके विभिन्न प्रकार
  • विभिन्न आवासों के लिए अनुकूलन
गति एवं दूरियों का मापन
  • माप
  • माप की मानक इकाइयाँ
  • SI इकाइयाँ
  • परिवहन के साधन
  • दूरी
  • गति
  • सरल रेखीय गति
  • आवर्ती गति
  • घूर्णन गति
प्रकाश - छायाएँ एवं परावर्तन
  • चमकदार वस्तुएँ
  • अपारदर्शी वस्तुएँ
  • पारदर्शी वस्तुएँ
  • पारभासी वस्तुएँ
  • छाया
  • सूची छिद्र कैमरा
  • दर्पण
  • प्रतिबिंब

परीक्षा परामर्श

Exam counselling

छात्र परामर्श

निम्न माध्यमिक विद्यालय की शुरुआत में, विद्यार्थियों को सभी विषयों में मजबूत मूलभूल ज्ञान को बनाने में सक्रिय रूप से शामिल होना चाहिए। अपनी रुचि, प्रतिभा, ज्ञान प्राप्त करने आदि पर ध्यान केंद्रित करते हुए अपना गुणवत्तापूर्ण समय व्यतीत करें। अपने प्रदर्शन की तुलना अपने सहकर्मी समूह से न करें क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति अद्वितीय है और प्रतिभा और अच्छे गुणों से संपन्न है। अपने शरीर और दिमाग को स्वस्थ, सक्रिय, केंद्रित और सकारात्मक रखने के लिए कुछ समय योग, ध्यान या खेलकूद में बिताएं। असफलताओं से निराश न हों बल्कि अपनी गलतियों से सीखते हुए बढ़ते रहें। परीक्षा विद्यालयी शिक्षा का हिस्सा है जहाँ शैक्षिक क्षेत्रों का मूल्यांकन किया जाता हैं।

  • पहले दिन से चल रही कक्षाओं और पढ़ाई के दौरान ध्यान केंद्रित करना महत्वपूर्ण है।
  • एक सुव्यवस्थित अध्ययन समय सारिणी और समय सारिणी का सख्ती से पालन करना प्रत्येक विद्यार्थी के लिए आवश्यक है।
  • हर दिन सभी विषयों का अध्ययन और दोहराव करें। कठिन विषयों पर अतिरिक्त समय व्यतीत करें।
  • शिक्षकों, सहकर्मी समूहों, दोस्तों या माता-पिता से सहायता मांगकर सभी संदेहों को दूर करें।
  • एक केंद्रित अध्ययन के लिए, बिना किसी विकर्षण और अशांति के एक जगह पर बैठें।

माता-पिता/अभिभावक परामर्श

माता-पिता को अपने बच्चे को ज्ञान हासिल करने, कौशल सिखाने और अच्छे नीतिपरक, नैतिक तथा सांस्कृतिक मूल्यों के साथ समाज और जीवन में उच्चतम स्थान तक पहुंचने के लिए सही रास्ते पर मार्गदर्शन करना चाहिए। बच्चे माता-पिता के व्यवहार को दर्शाते हैं, इसलिए माता-पिता को उनके व्यवहार, आदत, भाषा आदि के बारे में सावधान रहना चाहिए। बच्चों की प्रश्नों को सुनें और उन्हें सलाह दें कि उनसे कैसे निपटें और समस्या को दूर करें।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

Freaquently Asked Questions

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्र1. क्या उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 के लिए कोई बोर्ड परीक्षा है?
उ.
नहीं, विद्यार्थियों का मूल्यांकन विद्यालय स्तर की परीक्षाओं और CCE (सतत व्यापक मूल्यांकन) में प्रदर्शन के आधार पर किया जाता है। 

प्र2. उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 के लिए कितने विषय हैं? 
उ. कक्षा 6 के लिए, पाँच विषय हैं। इसमें तीन मुख्य विषय अर्थात्, गणित, विज्ञान और सामाजिक विज्ञान और दो भाषाएँ, अर्थात, अंग्रेजी और हिंदी, संस्कृत या उर्दू शामिल हैं। 

प्र3. क्या उत्तराखंड बोर्ड कक्षा 6 के विद्यार्थियों के लिए कोई अन्य परीक्षा है?
उ.
हाँ, विद्यालय स्तर की परीक्षाओं के अलावा, कई प्रतियोगी परीक्षाएँ, जैसे ओलंपियाड, भारतीय विद्यालय प्रतिभा खोज परीक्षा (ISTSE) आदि हैं, जिनमें विद्यार्थी शामिल हो सकते हैं। 

प्र4. उत्तराखंड बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट कौन सी है?
उ.
UBSE उत्तराखंड बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट है। 

प्र5. उत्तराखंड कक्षा 6 हिंदी के लिए निर्धारित पुस्तकें कौन सी हैं? 
उ. उत्तराखंड कक्षा 6 हिंदी के लिए निर्धारित पुस्तकें वसंत, दूर्वा और बाल राम कथा हैं।

संबंधित पृष्ठ भी देखें

क्या करें, क्या ना करें

क्या करें: 

  1. परीक्षा तिथियों और उसी के संबंध में अधिसूचनाओं पर स्पष्टता रखें।
  2. सत्र I और सत्र II के पाठ्यक्रम को स्पष्ट रूप से जानें।
  3. सीखने की प्रक्रिया को आसान अध्याय पहले और उसके बाद कठिन का अध्ययन करके सरल बनाया जा सकता है।
  4. हर विषय की स्पष्ट समझ रखें और सीखी गई हर अवधारणा का दोहराव करें।
  5. परीक्षा शुरू करने से पहले प्रश्न पत्र में दिए गए निर्देशों को ध्यान से पढ़ें।
  6. परीक्षा शुरू होने से कम से कम 15 मिनट पहले परीक्षा स्थल पर पहुंचें।
  7. परीक्षा में शामिल होने के लिए सभी आवश्यक स्टेशनरी सामान अपने साथ ले जाएं।
  8. पर्यवेक्षकों द्वारा दिए गए निर्देशों को ध्यान से सुनें।
  9. सभी प्रश्नों का प्रयास करें।

क्या ना करें: 

  1. अवधारणाओं को उलझाने से बचना बेहतर है।
  2. परीक्षा हॉल में चीट, स्टडी पॉइंट, किताबें न ले जाएं।
  3. परीक्षा देते समय दूसरों के उत्तरों की नकल करने का प्रयास न करें।
  4. परीक्षा में बैठने से ठीक पहले कुछ नया अध्ययन करने का प्रयास न करें।
  5. मोबाइल फोन, कैलकुलेटर या कोई अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण न ले जाएं।

शैक्षिक संस्थानों की सूची

About Exam

स्कूलों / कॉलेजों की सूची

उत्तराखंड राज्य में, उत्तराखंड के 13 जिलों में 12816 प्राथमिक विद्यालय, 3908 जूनियर, 128 माध्यमिक विद्यालय विद्यमान हैं। प्रत्येक जिले में विद्यालयों की संख्या का विवरण नीचे तालिका में दिया गया है। 

क्र.सं. जिला प्राथमिक जूनियर माध्यमिक संस्था आवासीय विद्यालय
1 अल्मोड़ा 1450 322 264 3 3
2 बागेश्वर 609 165 94 1 1
3 चमोली 1049 336 206 2 3
4 चम्पावत 516 163 105 1 2
5 देहरादून 980 337 169 4 3
6 हरिद्वार 699 226 102 1 8
7 नैनीताल 1011 347 197 3 2
8 पौड़ी 1707 448 309 1 2
9 पिथोरागढ़ 1188 359 216 1 3
10 रुद्रप्रयाग 574 183 109 1 1
11 टिहरी 1462 442 307 8 7
12 उधम सिंह नगर 798 278 125 2 2
13 उत्तरकाशी 773 302 128 2 5
कुल 12816 3908 2331 30 42


प्रत्येक जिले में प्राथमिक विद्यालय, जूनियर विद्यालय, माध्यमिक विद्यालय, संस्था और आवासीय विद्यालय का विवरण प्राप्त करने के लिए, निम्नलिखित लिंक पर क्लिक करें:

विद्यालय लिंक
प्राथमिक विद्यालय उत्तराखंड में प्राथमिक विद्यालय
जूनियर विद्यालय उत्तराखंड में जूनियर विद्यालय
माध्यमिक विद्यालय उत्तराखंड में माध्यमिक विद्यालय
संस्था उत्तराखंड में संस्था
आवासीय विद्यालय उत्तराखंड में आवासीय विद्यालय

अभिभावक काउंसिलिंग

About Exam

अभिभावक काउंसिलिंग

माता-पिता परामर्श का मुख्य उद्देश्य सकारात्मक व्यवहार को प्रोत्साहित करना, अवांछनीय व्यवहार का प्रबंधन करना और अपने बच्चों की भावनात्मक जरूरतों को समझना है। यह एक या दोनों माता-पिता के साथ किया जा सकता है। माता-पिता परामर्श, माता-पिता को विभिन्न प्रकार की कठिनाइयों से निपटने में मदद करता है जो उनके बच्चों को प्रभावित करते हैं और उचित मार्गदर्शन, उपकरण और आवश्यक ज्ञान प्रदान करते हैं। माता-पिता को निकट भविष्य में अपने बच्चों के लिए उपलब्ध कैरियर के अवसरों के बारे में अधिक जागरूक होना चाहिए।

आगामी परीक्षा

Similar

आगामी परीक्षाओं की सूची

इस प्रतिस्पर्धी दुनिया में, परीक्षा विद्यार्थियों के ज्ञान, रुचियों, क्षमता और योग्यता को सामने लाने का एक तरीका है। अगली कक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए विद्यार्थियों को विद्यालय वार परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। सतत व्यापक मूल्यांकन (CCE) के आधार पर विद्यार्थियों को छठी से सातवीं कक्षा तक प्रोन्नत दी जाती है। इस विद्यालय स्तर की परीक्षा के अलावा, हर साल बहुत सारी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगी परीक्षाएँ आयोजित की जाती हैं। इन मूल्यांकनों से विद्यार्थियों का आत्मविश्वास और विषयों के प्रति उत्साह बढ़ता है।

कुछ प्रतियोगी ओलंपियाड परीक्षाएँ जिनमें कक्षा 6 के साथ-साथ कक्षा 7 के विद्यार्थी भी शामिल हो सकते हैं, वे हैं:

प्रतियोगी परीक्षा आधिकारिक लिंक
राष्ट्रीय विज्ञान ओलंपियाड (NSO) NSO
अंतर्राष्ट्रीय गणित ओलंपियाड (IMO) IMO
इंटरनेशनल इंग्लिश ओलंपियाड (IEO) IEO
सामान्य ज्ञान अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड (GKIO) GKIO
अंतर्राष्ट्रीय कंप्यूटर ओलंपियाड (ICO) ICO
इंटरनेशनल ड्रॉइंग ओलंपियाड (IDO) IDO
राष्ट्रीय निबंध ओलंपियाड (NESO) NESO
राष्ट्रीय सामाजिक अध्ययन ओलंपियाड (NSSO) NSSO


कुछ प्रतियोगी परीक्षाएं जिनमें कक्षा 6 के विद्यार्थी उपस्थित हो सकते हैं:

  • राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा (NTSE): विद्यार्थियों का मूल्यांकन विज्ञान, गणित, सामाजिक विज्ञान, मानसिक क्षमता और सामान्य ज्ञान के ज्ञान और समझ के आधार पर किया जाता है। योग्य विद्यार्थियों को अगले शैक्षणिक वर्ष के लिए नकद पुरस्कार और छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है।
  • राष्ट्रीय स्तरीय विज्ञान प्रतिभा खोज परीक्षा (NLSTSE): इसमें विषय गणित, भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और अन्य सामान्य जागरूकता प्रश्न शामिल हैं।
  • इंडियन नेशनल ओलंपियाड (INO): पाठ्यक्रम में भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, खगोल विज्ञान और जूनियर विज्ञान शामिल हैं। इस परीक्षा में पाँच चरण की प्रक्रिया होती है। प्रारंभिक चरण NSE (राष्ट्रीय मानक परीक्षा) द्वारा आयोजित लिखित परीक्षा है। 
  • जियोजीनियस: इस परीक्षा का उद्देश्य भूगोल में रुचि पैदा करना है। इस परीक्षा में, विद्यार्थियों को भारत के विभिन्न स्थानों को एक रिक्त मानचित्र पर चिह्नित करने के लिए कहा जाता है।
  • नेशनल इंटरएक्टिव मैथ्स ओलंपियाड (NIMO): यह परीक्षा विद्यार्थियों की मानसिक क्षमता और गणितीय कौशल का परीक्षण और विश्लेषण करती है। इसका उद्देश्य विद्यार्थियों में गणित के डर को कम करना भी है।

प्रैक्टिकल नॉलेज /कैरियर लक्ष्य

Prediction

वास्तविक दुनिया से सीखना

वास्तविक शिक्षा वह है जो विद्यार्थियों को कक्षा में सीखी गई बातों को वास्तविक जीवन की स्थितियों में लागू करने की अनुमति देती है। जब विद्यार्थियों को चीजों और विषय वस्तु के साथ व्यावहारिक अनुभव मिलता है, तो वे विषयों की व्यापक समझ विकसित करते हैं, और सीखना अधिक मनोरंजक और दिलचस्प हो जाता है। बच्चों को लेटेस्ट प्रामाणिक सीखने के अनुभवों जैसे गतिविधियों, प्रयोगों, क्षेत्र यात्राओं, समूह गतिविधियों आदि से अवगत कराना महत्वपूर्ण है।

भविष्य के कौशल

कोडिंग : कोडिंग एक रचनात्मक गतिविधि है जिसमें विद्यार्थी सक्रिय रूप से शामिल हो सकते हैं। यह विभिन्न क्षेत्रों में समस्याओं को हल करने के लिए कम्प्यूटेशनल सोच बनाने, समस्या सुलझाने के कौशल विकसित करने, महत्वपूर्ण सोच में सुधार और वास्तविक जीवन स्थितियों के संपर्क में आने में मदद करता है। कोडिंग विभिन्न क्षेत्रों में दक्षताओं का निर्माण करने के लिए कोडिंग के बारे में विद्यार्थियों को नींव रखने पर केंद्रित है:

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI)
  • डेटा विज्ञान
  • अनुसंधान

इन्हें प्राप्त करने के लिए, उत्तराखंड सरकार ने शिक्षा में कंप्यूटर प्रौद्योगिकी (ITC) के एकीकरण की शुरुआत की।

इसे स्वयं करें (DIY): यह गतिविधियों और परियोजनाओं के माध्यम से सीखने का एक रचनात्मक तरीका है। नाटक के माध्यम से अंग्रेजी, हिंदी जैसे विषयों को पढ़ाया जा सकता है; सामाजिक विज्ञान के कुछ टॉपिक को वाद-विवाद, सर्वेक्षण, फील्डवर्क आदि के माध्यम से पढ़ाया जाता है। विज्ञान को प्रयोगों, क्षेत्र अध्ययन आदि के माध्यम से अनुभव किया जा सकता है। गणित के कुछ टॉपिक जैसे लाभ, हानि, क्षेत्रफल को मापना आदि को विद्यार्थियों द्वारा गतिविधियों को करके विद्यार्थियों को पढ़ाया जाना चाहिए। Embibe ऐप आपके सीखने को आनंदमय और सार्थक बनाने के लिए प्रत्येक ग्रेड, प्रत्येक विषय और प्रत्येक अध्याय के लिए DIY प्रदान करता है।

कैरियर कौशल

विद्यालयी शिक्षा बच्चे के सर्वांगीण विकास को ढालती है। पाठ्यक्रम के साथ-साथ सह-पाठ्यक्रम संबंधी गतिविधियाँ विद्यार्थियों में विभिन्न कौशल विकसित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। यह प्रत्येक विद्यार्थी को अवसर देकर और उनके विकास के हर स्तर पर प्रोत्साहित करके प्राप्त किया जा सकता है। यह वास्तविक जीवन के अनुभव प्रदान करके और इसे स्वयं करें गतिविधियों द्वारा किया जा सकता है।

कुछ कौशल हैं:

  • सुनने के कौशल: इसे भाषाओं के माध्यम से प्राप्त किया जा सकता है।
  • कार्यस्थल में विविधता को समझना: सामूहिक गतिविधियाँ, नाटक, विविधता को उजागर करती प्रतियोगिताएँ।
  • संचार कौशल: यह उन प्रमुख कौशलों में से एक है जो सभी क्षेत्रों के साथ-साथ दैनिक जीवन में भी आवश्यक हैं। समूह चर्चा, वाद-विवाद, सेमिनार कुछ ऐसे तरीके हैं जो अप्रत्यक्ष रूप से संचार कौशल के विकास में मदद करते हैं।
  • अनुसंधान कौशल: विज्ञान परियोजनाएँ मुख्य रूप से विद्यार्थियों में अनुसंधान कौशल के विकास पर ध्यान केंद्रित करती हैं।
  • योजना बनाना: पाठ्यक्रम और सह-पाठ्यक्रम संबंधी गतिविधियाँ, परीक्षण, प्रतियोगिताएँ, आदि, विद्यार्थियों को नियोजन समय, तैयारी और निष्पादन पर ध्यान केंद्रित करते हैं।
  • नेतृत्व कौशलः विद्यालय पार्लियामेंट, सामूहिक गतिविधियाँ, विद्यालय असेंबली आदि बनाना, विद्यार्थियों में नेतृत्व के गुण पैदा करता है।
  • भावनात्मक रूप से संतुलित होना : विद्यालय में या घर में, सभी दिन समान नहीं होते हैं। सुखद क्षण भी और कड़वे अनुभव भी हो सकते हैं। विद्यार्थियों को मजबूत और भावनात्मक रूप से संतुलित होना सीखना चाहिए।
  • स्व-सर्वेक्षण: बच्चे की उपाख्यानात्मक रिपोर्ट स्व-सर्वेक्षण का सबसे अच्छा तरीका है।
  • ज्ञान की खोज: विद्यालय लाइब्रेरी, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इसे स्वयं करें (DIY) ज्ञान की खोज में मदद करता है।
  • भाषा कौशल: यह विद्यालयों में अंग्रेजी, हिंदी, संस्कृत, फ्रेंच, आदि जैसे भाषा विषयों के माध्यम से पढ़ाया जाता है।

कैरियर की संभावनाएं / कौन सा पेशा चुनें?

इस तथ्य के बावजूद कि कक्षा 6 में कोई वास्तविक व्यावसायिक चयन नहीं है, बच्चों के लिए अपनी रुचि के क्षेत्र का पता लगाने के लिए कैरियर के अवसरों के बारे में पहले से ही जागरूक होना महत्वपूर्ण है। कक्षा 10 के बाद, विद्यार्थी विज्ञान, वाणिज्य, कला, ललित कला और अन्य विषयों में अपनी रुचि के अनुसार लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। कक्षा 10 के बाद, परामर्श और मार्गदर्शन उपलब्ध कई पाठ्यक्रमों पर व्यापक जानकारी प्रदान करते हैं।

Embibe पर 3D लर्निंग, बुक प्रैक्टिस, टेस्ट और डाउट रिज़ॉल्यूशन के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ हासिल करें